मंगलवार, नवम्बर 12, 2019

सेनाध्यक्ष बिपिन रावत का अमेरिका दौरा: अमेरिकी सेना के वरिष्ठ अधिकारीयों से करेंगे मुलाकात

Must Read

अयोध्या फैसले के बाद विपक्ष को तलाशने होंगे नए सियासी उपकरण

लखनऊ , 12 नवंबर (आईएएनएस)। राममंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का असर उत्तर प्रदेश की राजनीति पर पड़ने...

अंधाधुन जापान में 15 नवंबर को रिलीज होगी

मुंबई, 12 नवंबर (आईएएनएस)। श्रीराम राघवन की थ्रिलर फिल्म अंधाधुन जापान में 15 नवंबर को रिलीज होगी। इस फिल्म...

अमेरिका के कई अधिकारियों की नीयत खराब : चीन

बीजिंग, 11 नवंबर (आईएएनएस)। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कंगश्वांग ने कहा कि चीन के अफ्रीकी संघ(एयू) मुख्यालय की...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

भारत के सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत अमेरिका के चार दिवसीय आधिकारिक दौरे पर जायेंगे। इसकी शुरुआत 2 अप्रैल से होगी। इस यात्रा के मकसद दोनों राष्ट्रों के मध्य सैन्य संबंधों को गति प्रदान करना और रणनीतिक प्रतिबद्धताओं का विस्तार करना है।

चार दिवसीय यात्रा के दौरान सेनाध्यक्ष अमेरिकी सेना के आला अधिकारीयों से मुलाकात करेंगे ताकि मिलिट्री टू मिलिट्री सहयोग को आगे लेकर जाया जा सके। जनरल बिपिन रावत पश्चिमी पॉइंट पर स्थित अमेरिकी सैन्य अकादमी और केंसास के फोर्ट लेवेन्वोर्थ में स्थित कमांड एंड जनरल स्टाफ कॉलेज का भी भ्रमण करेंगे।

इसके आलावा सेनाध्यक्ष जॉइंट चीफ ऑफ़ स्टाफ के चेयरमैन जनरल जोसफ एफ डनफोर्ड और अमेरिकी आर्मी के चीफ ऑफ़ स्टाफ जनरल मार्क ए मिली से मुलाकात करेंगे।

रक्षा मंत्रालय की तरफ से सोमवार को जारी बयान के मुताबिक इस यात्रा से अमेरिका और भारत के बीच संबंधों में विस्तार होगा।

रक्षा मंत्रालय का बयान

रक्षा मंत्रालय की ओर से लेफ्टिनेंट कर्नल मोहित वैष्णव नें बयान जारी किया, “थलसेना अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत 2 अप्रैल 2019 से 5 अप्रैल 2019 तक संयुक्त राज्य अमेरिका के दौरे पर रहेंगे। इस दौरे के दौरान जनरल रावत और उनका दल अमेरिकी सेना के वरिष्ठ अधिकारीयों से चर्चा करेंगे और दोनों देशों के सेना के बीच सहयोग को मजबूत करने की कोशिश करेंगे। सेनाध्यक्ष अमेरिकी मिलिट्री अकादमी और कैन्सस में स्थिति जनरल स्टाफ कॉलेज का भी दौरा करेंगे।

जनरल रावत वहां अमेरिकी आर्मी के अध्यक्ष जनरल जोसफ एफ डनफोर्ड से मुलाकात करेंगे और दोनों सेनाओं के पक्ष में होने वाले फैसले करेंगे। जनरल बिपिन रावत कमांड और स्टाफ कॉलेज, अमेरिका से शिक्षा ले चुके हैं। उनका अमेरिका जाने का दौरा सेना के लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा और अमेरिका से साझेदारी मजबूत करेगा। इस यात्रा के दौरान होने वाला अभुभाव आने वाले समय में दोनों देशों के लिए लाभदायक होगा।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

अयोध्या फैसले के बाद विपक्ष को तलाशने होंगे नए सियासी उपकरण

लखनऊ , 12 नवंबर (आईएएनएस)। राममंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का असर उत्तर प्रदेश की राजनीति पर पड़ने...

अंधाधुन जापान में 15 नवंबर को रिलीज होगी

मुंबई, 12 नवंबर (आईएएनएस)। श्रीराम राघवन की थ्रिलर फिल्म अंधाधुन जापान में 15 नवंबर को रिलीज होगी। इस फिल्म में उत्कृष्ट अभिनय के लिए...

अमेरिका के कई अधिकारियों की नीयत खराब : चीन

बीजिंग, 11 नवंबर (आईएएनएस)। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कंगश्वांग ने कहा कि चीन के अफ्रीकी संघ(एयू) मुख्यालय की निगरानी विशुद्ध रूप से पश्चिमी...

महाराष्ट्र के राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए राकांपा को आमंत्रित किया

मुंबई, 11 नवंबर (आईएएनएस)। महाराष्ट्र के राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी ने सोमवार देर शाम राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) को राज्य में अगली सरकार बनाने के...

शिवसेना का हाल कर्नाटक के कुमारस्वामी जैसा होगा : भाजपा नेता

नई दिल्ली, 11 नवंबर, (आईएएनएस)। महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी उठापटक के बीच भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने यहां सोमवार को...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -