बिटकॉइन क्या है? बिटकॉइन में निवेश कैसे करें?

बिटकॉइन-निवेश

क्या है बिटकॉइन?

बिटकॉइन एक तरह की डिजिटल करेंसी यानी आभासी मुद्रा हैं। जिस तरह आप अपने बैंक खाते में पैसे जमा कराते हैं उसी तरह आप बिटकॉइन का भी लेन देन कर सकते हैं। बिटकॉइन और सामान्य मुद्रा में बस फर्क इतना है, कि बिटकॉइन सिर्फ डिजिटल दुनिया में ही मान्य है। इसका मतलब यह है कि बिटकॉइन को आप हाथ में लेकर देख नहीं सकते, बस इसका लेन देन कर सकते हैं।

2008-09 में सातोशी नाकामोतो नामक एक युवक ने बिटकॉइन की शुरुआत की थी। शुरुआत में नाकामोतो ने इसे निजी प्रयोग के लिए इस्तेमाल किया, लेकिन धीरे-धीरे इसका प्रचलन इतना बढ़ गया है कि विश्व भर में लोग इसे खरीदना चाहते हैं।

बिटकॉइन के बढ़ते प्रचलन में इन्टरनेट की एक ख़ास भूमिका है। जब इन्टरनेट की शुरुआत हुई थी, उस समय इन्टरनेट पर पैसे भेजने की सुविधा नहीं थी। इस दौरान पेपल नामक एक कंपनी की शुरुआत की गयी थी, जिसके जरिये आप ऑनलाइन पैसे भेज सकते हैं। लेकिन हाल के दिनों में इन्टरनेट पर सुरक्षा को लेकर कई विवाद खड़े हुए हैं, जिससे ऑनलाइन मुद्रा को और ज्यादा सुरक्षित बनाने की कोशिश की जा रही है।

बिटकॉइन इस समस्या को भी दूर करता है। बिटकॉइन को अब तक की सबसे सुरक्षित डिजिटल मुद्रा कहा जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि आपके बिटकॉइन अकाउंट के साथ कई ऐसे कोड और नंबर जोड़े जाते हैं, जिन्हें तोड़ पाना असंभव बताया जा रहा है। इसी कारण से कई ऑनलाइन बैंक और कंपनियां लेन-देन के लिए बिटकॉइन को ज्यादा महत्व दे रही हैं।

बिटकॉइन कैसे काम करता है?

जैसा कि हमनें ऊपर चर्चा की है, कि बिटकॉइन एक डिजिटल मुद्रा है, यानी इसका व्यापार सिर्फ डिजिटल दुनिया में होता है। सातोशी नाकामोतो के मुताबिक विश्व में कुल करीबन 21 मिलियन यानी 2.1 करोड़ बिटकॉइन है। नयी बिटकॉइन बनाने की विधि को ‘माइनिंग’ कहते हैं और बिटकॉइन माइन करने वाले व्यक्ति को माईनर कहते हैं।

एक बिटकॉइन को बनाने में बहुत सारी ऊर्जा की जरूरत होती है। इसके अलावा एक बिटकॉइन एक बहुत बड़ी इकाई होती है। एक बिटकॉइन को लगभग 100 मिलियन यानी 10 करोड़ भागों में बांटा जा सकता है। इस सबसे छोटी इकाई को सातोशी कहते हैं। हालाँकि इससे आगे भी बिटकॉइन को बाँटा जा सकता है।

बिटकॉइन कैसे खरीदें या बिटकॉइन में निवेश कैसे करें?

बिटकॉइन खरीदने के लिए आपको बिटकॉइन ब्रोकर से संपर्क करना होता है। जैसे ही आप ब्रोकर को पैसे देते हैं, वह उसके समान बिटकॉइन आपके अकाउंट में डाल देता है। इसके अलावा लोकल बिटकॉइन विक्रेताओं से भी इसे खरीद सकते हैं। यदि आपके संपर्क में कोई बिटकॉइन बेचना चाहता है, तो आप उसे पैसे देकर बिटकॉइन खरीद सकते हैं।

बिटकॉइन का आज का रेट

 

कुछ दिनों की बढ़त के बाद बिटकॉइन के दामों में अब गिरावट आई है। पिछले करीबन एक सप्ताह से बिटकॉइन की कीमतें बढ़ रही थी। दो दिन पहले यह 7 लाख रूपए के करीब पहुँच गयी थी।

अब हालाँकि, प्रॉफिट बुक करने के दौर में इसकी कीमतों में कमी देखने को मिली है। बिटकॉइन का आज का रेट 638374.88 रूपए चल रहा है।

क्या बिटकॉइन में निवेश सही है?

यदि आप ब्याज के तौर पर बात करते हैं, तो बिटकॉइन से अच्छा इस समय कोई विकल्प नहीं है। यदि आप अन्य निवेश विकल्पों की बात करें, तो सामान्य तौर पर आपको सालाना 8-10 फीसदी ब्याज मिलता है।

यदि हम बिटकॉइन की बात करें, तो इस साल के शुरुआत में एक बिटकॉइन की कीमत करीबन 50000 रूपए थी। सिर्फ 11 महीनों में बिटकॉइन की कीमत 100 गुना से भी ज्यादा बढ़ गयी है। यानी आपकी निवेश राशि पर 10,000 फीसदी का फायदा।

बिटकॉइन में निवेश इसलिए भी मददगार है क्योंकि आने वाले जमाने में डिजिटल करेंसी का दौर ही रहेगा। ऐसे में बिटकॉइन जैसी अन्य करेंसी भी आने वाले समय में आ सकती हैं। जिस कगार पर इस समय बिटकॉइन है, उससे नीचे गिरना काफी मुश्किल है। ऐसे में यह एक संतुलित निवेश विकल्प है।

बढती स्वीकृती

कुछ समय पहले तक बिटकॉइन के बारे में कहा जा रहा था कि इसमें काफी रिस्क है, और यह लम्बे समय तक नहीं चलेगी। लेकिन धीरे-धीरे कई देश और बैंक इसे स्वीकार करने लग गए हैं। कुछ देश तो इसे ऑनलाइन लेन-देन के लिए अधिकारिक मुद्रा घोषित कर चुके हैं।

जापान और अमेरिका समेत कई देशों नें बिटकॉइन के क्षेत्र में भारी मात्रा में निवेश करना शुरू कर दिया है। जापान में एसबीआई ग्रुप नामक एक संस्था ने 3 बिलियन डॉलर का एक निवेश संस्था शुरू की है, जो बिटकॉइन के क्षेत्र में काम करेगी।

इसके अलावा अमेरिका में भी कई संस्थाएं बिटकॉइन में निवेश कर रही हैं। रोथचाइल्ड नामक एक संस्था ने 1 करोड़ से ज्यादा रूपए बिटकॉइन में निवेश किये हैं।

भारत में भी लगातार बिटकॉइन की स्वीकृती बढ़ती जा रही है। ज्यादा से ज्यादा लोग इसे खरीद रहे हैं।

भारत में बिटकॉइन

भारत में अब तक सरकार नें अधिकारिक तौर पर बिटकॉइन को मंजूरी नहीं दी है। वित्त मंत्री अरुण जेटली नें हाल ही में कहा था कि इस विषय में मंत्रालय नें कोई भी फैसला नहीं लिया है। इसके अलावा आरबीआई नें भी सभी व्यापारियों को सन्देश दिया था कि चूँकि बिटकॉइन के कारोबार में कोई सरकारी संस्था शामिल नहीं है, ऐसे में किसी प्रकार के घपले में सरकार इसकी जवाबदेह नहीं होगी।

(टेक्निकल गुरूजी नामक चैनल की इस वीडियो में बिटकॉइन के बारे में काफी सरल भाषा में समझाया गया है।)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here