Fri. Mar 1st, 2024
    बादशाह हुए युवराज सिंह के सन्यास पर भावुक: जर्सी नंबर 12 के लिए कभी और कोई योग्य नहीं होगा

    बाएं हाथ के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ों में शुमार युवराज सिंह ने कल सोमवार को एक प्रेस कांफ्रेंस के जरिये, अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास की घोषणा की थी। उनके इस फैसले ने सभी को चौका दिया था और इसके तुरंत बाद ही, सभी युवराज को उनकी आगे की ज़िन्दगी के लिए शुभकामनाएं देने लगे। इतना ही नहीं, कई बॉलीवुड सितारें जैसे आयुष्मान खुराना, अनुपम खेर, बिपाशा बसु और अभिषेक बच्चन ने भी उन्हें देश का नाम रोशन करने के लिए बधाई दी थी।

    और ऐसा ही एक भावुक और हार्दिक पोस्ट आया है रैपर-गायक बादशाह की तरफ से। उन्होंने काफी लम्बे पोस्ट के जरिये बताया कि कैसे युवराज ने शुरुआत से ही सभी बच्चो को अपना सपना पूरा करने के लिए प्रेरित किया है। उन्होंने लिखा-“तस्वीर में ये आदमी हमेशा मेरे लिए लीजेंड रहेगा। युवी पाजी शायद उन कारणों में से एक है, जहां मैं अभी जीवन में हूँ।”

    https://www.instagram.com/p/ByimVgXAI9y/?utm_source=ig_web_copy_link

    “चंडीगढ़ का वह युवा बच्चा जिसने अपने पेशे को उत्कृष्ट बनाया और विश्वस्तरीय बन गया। उन्होंने चंडीगढ़ के बहुत से बच्चों को आशा दी। उनमें से एक मैं था। अपने खेल के माध्यम से, उन्होंने बताया कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस शहर से हैं, मायने यह रखता है कि आप जाना कहाँ चाहते हैं, आप कहाँ पहुँचना चाहते हैं और आप क्या बनना चाहते हैं। उनका काम गरजा, सीधे विरोधियों के चेहरे पर। मैदान पर शेर खान और मैदान के बाहर बघीरा।”

    “उन्होंने सभी को सिखाया कि वापस कैसे आना है और वो भी स्वैग के साथ। अपने सींगों से कैंसर को पकड़ लिया और उसे बिना भौंके हरा दिया। किसी को भी उन पर या उनके फॉर्म और कैंसर के बाद उनकी फिटनेस के बारे में संदेह था, तो उन्होंने उसे कुचल दिया। फिर से, कोई शब्द नहीं, मैदान पर सिर्फ कुछ शानदार बल्लेबाजी। उनके बैट को बात करने दें।”

    Image result for बादशाह युवराज सिंह

    “और विनाश हो जाने के बाद, वह चंडीगढ़ के एक सामान्य व्यक्ति – भोजन, दोस्तों और परिवार के सामान्य जीवन में वापस चले जायेंगे। न मीडिया, न गौरवशाली पीआर कहानियाँ। बस एक साधारण आदमी जिसे अपने देश के लिए खेलना पसंद था। मैं खुद को धन्य और भाग्यशाली महसूस करता हूँ कि आपको लाइव खेलते हुए देख पाया पाजी। मैं इसे लिखते वक़्त थोड़ा भावुक हूं। मुझे तुम याद आओगे। भारत आपको याद करेगा। जर्सी नंबर 12 के लिए कभी और कोई योग्य नहीं होगा।”

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *