Fri. May 24th, 2024
    खालिदा जिया

    बांग्लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री और विपक्षी नेता खालिदा जिया को भ्रष्टाचार के आरोप में शीर्ष अदालत ने सात वर्ष की सज़ा सुनाई है। खालिदा जिया के समर्थकों ने अदालत के इस निर्णय को राजनीति से प्रभावित बताया है। खालिदा जिया बांग्लादेश की प्रधामंत्री शेख हसीना की विरोधी है।

    अदालत के इस निर्णय के बाद खालिदा जिया के समर्थकों और पुलिस में झड़प हो गयी थी। बांग्लादेश की विपक्षी पार्टी का नेतृत्व खालिदा जिया जेल से करेगी। अदालत के ट्रायल में 73 वर्षीय खालिदा जिया सत्ता का दुरूपयोग करने के लिए और 375000 मिलियन डॉलर के घोटाले के लिए भी शर्मिंदा थी।

    खालिदा जिया के वकील निरंतर अदालत में इसे राजनीतिक साजिश बता रहे थे। उन्होंने शेख हसीना के साथ गठबंधन बनाया था लेकिन साल 2004 में सत्ता में विरोधी पार्टी के वापस आने के डर से चुनाव का बहिष्कार किया था।

    खालिदा जिया ने अपने पति पूर्व सैन्य तानाशाह की मृत्यु के उपरांत 1980 के मध्य में राजनीतिक सरजमीं पर कदम रखा था। उनके ऊपर हिंसा और भ्रष्टाचार के कई मामले हैं लेकिन उनके वकील लगातार इन आरोपों को खारिज करते रहे हैं।

    पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि उन पर आरोप उनके परिवार को राजनीति से बाहर रखने के लिए लगाये गए हैं। उन्होंने कहा कि ढाका के कैदखाने में उनका स्वास्थ्य बिगड़ता जा है। फ़ास्ट ट्रैक ट्रायल के तहत जेल में ही अदालत लगी थी।

    हाल में में खालिदा जिया के बेटे को हमला करने के जुर्म में उम्रकैद की सज़ा हुई थी। रहमान ने साल 2004 में शेख हसीना की राजनीतिक रैली में बम ब्लास्ट किया था। इस हमले में 20 लोगों की मृत्यु हो गयी थी जबकि शेख सहित कई अन्य राजनीतिक हस्तियां जख्मी हुई थी।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *