Thu. Dec 8th, 2022
    शेख हसीना

    बांग्लादेश में आम चुनावों के लिए रविवार को मतदान किया जाएगा। बांग्लादेश में लगातार तीन बार प्रधानमंत्री के पद पर नियुक्त हो रही शेख हसीना चौथी बार भी पीएम बनने के लिए भरसक प्रयास कर रही है। हालांकि मतदान में जीत-हार का फैसला जनता के हाथ मे होगा।

    इंटरनेट सेवा ठप

    बांग्लादेश में चुनाव का अंतिम पड़ाव चल रहा है, इससे पूर्व ही देश में 3 जी और 4 जी सर्विस को बंद कर दिया है। बांग्लादेश में मतदान 30 दिसम्बर कको आयोजित होगा। सत्ताधारी पार्टी आवामी लीग की मुखिया शेख हसीना को विपक्षी दल के गठबंधन के साझेदार जटियो ओइकयो फ्रंट से सीधे चुनौती मिल रही है।

    शेख हसीना को सत्ता से लगाव

    शेख हसीना ने कहा कि “हमें सभी मतदान केन्द्रों की सुरक्षा करनी होगी, ताकि बीएनपी और जमात गठबंधन आतंकी गतिविधियों को अंजाम न दे सके, क्योंकि वह अपना चरित्र नहीं बदलेंगे, वे चरमपंथ और आतंकवाद में यकीन रखते हैं।”

    विपक्षियों का इल्जाम

    विपक्षी गठबंधन के प्रमुख कमल होस्सैन ने कहा कि “हम पूर्व में भी जीते थे, और इस समय भी हम जीत हासिल करेंगे।दिसम्बर 16 के बाद दिसम्बर 30 एक और विजय दिवस होगा।” बांग्लादेश में 16 दिसम्बर को विजय दिवस का जश्न मनाया जाता है क्योंकि साल 1971 की जंग में इसी दिन पाकिस्तान की सेना को शिकस्त दी थी।

    विपक्षी दल ने बताया कि बांग्लादेश की पुलिस ने अभी तक 10,500 विपक्षी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है। अमेरिका ने हाल ही में बांग्लादेश की शेख हसीना सरकार से निष्पक्ष मतदान सुनिश्चित करने को कहा था।

    विपक्षी दलों ने कहा कि 8 नवम्बर को चुनाव के ऐलान के बाद गिरफ्तारियों ने भय का माहौल तैयार कर दिया है। देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी बांग्लादेश नेशनल पार्टी की मज़बूत दावेदार खालिदा जिया अभी 17 वर्ष के कारावास की सज़ा काट रही है। उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टी के 7021 कार्यकर्ताओं को नज़रबंद रखा गया है।

    बीएनपी के इस्लामिक साझेदार, जमात ए इस्लामी ने कहा कि 3500 से अधिक समर्थक हिरासत में हैं। इस दल को चुनाव लड़ने से रोक दिया गया है, लेकिन इनके उम्मीदवार बीएनपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। जमात ए इस्लामी के सेक्रेटरी जनरल ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर रोजाना 80 से 90 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया जाता है, इन गिरफ्तारियों ने डर का माहौल बना दिया है।

    बीएनपी के प्रवक्ता रिज़वी अहमद ने कहा कि आवामी लीग पार्टी और कानून निर्माता विभाग ने हमारे 28 संसदीय क्षेत्रों के उम्मीदवारों पर हमले किये हैं। उन्होंने कहा हमारे 19 उम्मीदवार और 100 से अधिक कार्यकर्ता इस हमले में घायल हुए थे। चुनाव प्रचार की शुरूआत से हमारे 152 उम्मीदवारों पर हमले किये गए हैं।

    पुलिस का इनकार

    पुलिस के प्रवक्ता सोहेल राणा ने गिरफ्तारी के आंकड़े साझा करने से इनकार कर दिया लेकिन उन्होंने कहा कि बिना वारंट के बेबुनियादी गिरफ्तारी नहीं की जा रही है। कानून न तोड़ने वालों को हम गिरफ्तार नहीं कर रहे हैं, इन लोगों के खिलाफ वारंट जारी किया गया था।

    बांग्लादेश की दो कद्दावर महिला नेताओं शेख हसीना और खालिदा जिया के मध्य साल 1991 से रार है। पारंपरिक तरीके से दोनों एक के बाद एक सत्ता पर काबिज होती रही है, लेकिन साल 2009 से अब तक शेख हसीना ही सत्ता संभल रही है। खालिदा जिया की कारावास की सज़ा उन्हें चुनावों में भाग लेने की इजाजत नहीं देती है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *