Mon. May 27th, 2024
    बांग्लादेश में चुनावी शंख्नाथ

    बांग्लादेश में आगामी आम चुनावों में संयुक्त राष्ट्र ने हितधारकों से पारदर्शिता को सुनिश्चित करने को कहा है। यूएन को चुनाव प्रक्रिया के दौरान हिंसा की घटनायें और विपक्षियों की गिरफ्तारी का भय है। यूएन ने सभी हितधारको से चुनाव प्रक्रिया को पारदर्शी और समावेशी बनाने का आग्रह किया है।

    यूएन का आग्रह

    यूएन ने सुरक्षा बलों से सभी उम्मीदवारों की निर्बाध और मुक्त चुनाव अभियान को भी सुनिश्चित करने को कहा है। संयुक्त राष्ट्र के अध्यक्ष एंटानियो गुएटरेस के प्रवक्ता ने कहा कि हम इस प्रक्रिया पर बेहद करीबी से निगाहे बनाये हुए है और हमें चुनाव में हिंसा और विपक्षी सदस्यों की गिरफ्तारी की खबरे मिली है।

    यूएन ने कहा कि वहां नागरिक समाज की जरुरत है और चुनाव पर निगरानी रखने वालों को भी चुनाव के दौरान अपनी भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि बंगलादेशी नागरिकों को सुरक्षित मत देने के अधिकार पर विश्वास होना चाहिए। नागरिक समाज और चुनाव निगरानीकर्ताओं को इस प्रक्रिया में अपनी भूमिका को बखूबी निभाना होगा।

    हिंसा का प्रसार

    मानव अधिकार निगरानी कर्ता समूह ने कहा कि बांग्लादेश में आगामी आम चुनावों से पूर्व दमनकारी राजनीतिक पर्यावरण इस प्रक्रिया की दायित्वता को धूमिल कर देगा। उन्होंने कहा कि उम्मीदवारों के नामांकन के अधिकारिक ऐलान के बाद ही हिंसा फैलनी शुरू हो जाती है, और अंत तक यही माहौल जारी रहता है।

    विपक्षियों की शिकायत पर सुनवाई नहीं

    11 दिसम्बर को साताधारी पार्टी आवामी लीग के दो सदस्य भिन्न घटनाओं में मारे गए थे। जबकि 16 दिसम्बर को पार्टी के दफ्तर में तोड़ फोड़ की गयी थी। बहरहाल, इस चुनाव में विपक्षी दल बांग्लादेश नेशनल पार्टी को अधिकतर निशाना बनाया जा रहा है। साथ ही विपक्षी गठबंधन में शामिल जटिया ओइक्या फ्रंट (नेशनल यूनाइटेड फ्रंट) पर भी हमले किये जारी है।

    बांग्लादेश में पुलिस केवल सत्ताधारी पार्टी पर किये हमलों की जांच कर रही है और उनके अपराधियों को ही गिरफ्तार कर रही है, जबकि विपक्ष की शिकायतों पर कोई सुनवाई नहीं की जा रही है।

    मानवाधिकार निगरानीकर्ता समूह के मुताबिक 26 विपक्षी उम्मीदवारों पर हमला हुआ, 13 विपक्षी उम्मेदवार जख्मी हुए, 2 की गिरफ्तारी और 875 विपक्षी समर्थक घायल हुए थे। जबकि सत्ताधारी अवामी लीग के 2 सदस्यों की मौत हुई है और 75 जख्मी हुए हैं।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *