Wed. Apr 24th, 2024
    आजाद बलूचिस्तान न्यूयॉर्क

    पाकिस्तान में स्थित बलूचिस्तान प्रांत की आजादी की मुहिम अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में प्रतिष्ठित टाइम्स स्क्वायर तक पहुंच गई है। पिछले कई सालों से बलूचिस्तान को पाकिस्तान से आजाद करने की मांग की जा रही है। लंदन की गलियों में दौड़ने वाली टैक्सियों व बसों पर आजाद बलूचिस्तान की आजादी के नारे व पोस्टर लगे हुए है। अब यहां से ये मुहिम अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में पहुंच चुकी है।

    विश्व बलोच संगठन ने स्वतंत्र बलूचिस्तान लिखे हुए होर्डिंग (बिलबोर्ड्स) प्रतिष्ठित टाइम्स स्क्वायर में लगाए है। इस होर्डिंग में पाकिस्तान के द्वारा बलूच लोगों पर किए जा रहे मानवाधिकार दुरूपयोग व बलूचिस्तान की आजादी के नारे लिखे हुए है। इन होर्डिंग्स से पाकिस्तान के अत्याचारों, अपहरण, शोषण व बलूच लोगों पर किए जा रहे नरसंहार के बारे में बताया गया है।

    विश्व बलोच संगठन के मुख्य आयोजक मीर जावेद ने बताया कि इन होर्डिंग्स को टाइम्स स्क्वायर पर लगाने के पीछे हमारा उद्देश्य बलूचिस्तान में बिगड़ती स्थिति से अमेरिकी जनता को अवगत कराना है।

    नए साल के मौके पर प्रतिष्ठित टाइम्स स्क्वायर पर बड़ी संख्या में लोग आते है। इसलिए हम अमेरिकी लोगों व दुनिया के अन्य सभ्य नागरिकों को हमारे मानव अधिकार से संबंधित संदेश देना चाहते है।

    संयुक्त राष्ट्र व अमेरिका से मदद की गुहार लगाई

    मीर जावेद ने कहा कि बलूचिस्तान आजादी की मांग को अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा अनदेखा किया जा रहा है। क्योंकि इसके पीछे पाकिस्तान सरकार की कोशिश है कि उसकी असलियत दुनिया के सामने न आए।

    मीर जावेद ने कहा कि हम दुनिया के सभी लोगों से अपील करते है कि वे बलूच लोगों के मूल अधिकारों व उनके ऊपर किए जा रहे अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठाए। पाकिस्तान द्वार मानवता के खिलाफ अपराध किए जाने पर संयुक्त राष्ट्र व अमेरिका से तुरंत ठोस कदम उठाने की अपील करते है।

    गौरतलब है कि बलूचिस्तान के लोगों पर पाकिस्तान सरकार के द्वारा भेदभावपूर्ण रवैया व अत्याचार किए जाते है। नागरिकों के अपहरण व शोषण की घटनाएं तो वहां पर बेहद आम है। लंदन के बाद अब अमेरिका में भी आजाद बलूचिस्तान की मुहिम पहुंच चुकी है।

    लंदन की टैक्सियों व बसों पर लगे है फ्री बलूचिस्तान के पोस्टर

    गौरतलब है कि लंदन की बसों व सैकडों टैक्सियों के ऊपर बलूचिस्तान की आजादी के नारे लिखे हुए पोस्टर चिपके हुए है। टैक्सियों के ऊपर लगे बलूचिस्तान के पोस्टरों पर पाकिस्तान ने ब्रिटेन को कड़ा ऐतराज भी जताया था।

    पाकिस्तान ने लंदन ने इस तरह के नारों को पाकिस्तान विरोधी बताते हुए इन्हें हटाने की मांग की थी। लेकिन ब्रिटेन ने इन्हें हटाने से मना कर दिया था।

    लंदन में बलूच नेता मेहरान मैरी के नेतृत्व में बलूचिस्तान आजादी का अभियान चल रहा है। लंदन में बड़ी संख्या में बलूच लोग निवास करते है। बलूचिस्तान आजादी की मुहिम लंदन के बाद अमेरिका में भी पहुंच गई है।

    इससे पहले आपको बता दें कि बलूच नेताओं नें भारत से बलूचिस्तान की आजादी के लिए मदद करने की बात कही थी।