Fri. Jun 14th, 2024

    तृणमूल कांग्रेस के उदयन गुहा वह कूच बिहार के मतदाताओं से कहते आ रहे थे कि भाजपा प्रत्याशी निशीथ प्रमाणिक जीतने के बाद भी लंबे समय तक उनके विधायक नहीं बने रहेंगे। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में सिर्फ 57 वोटों से हार का सामना करने वाले तृणमूल कांग्रेस के उदयन गुहा कहते हैं कि उन्हें इस बात का अंदेशा पहले से था। 

    बुधवार को गुहा सही साबित हुए क्योंकि सीट जीतने के दस दिनों के भीतर ही प्रमाणिक ने विधायक के पद से इस्तीफा दे दिया है लेकिन वह कूच बिहार के सांसद बने रहेंगे। भाजपा के एक और लोकसभा सांसद जगन्नाथ सरकार ने  भी उसी रास्ते को चुना, उन्होंने संतिपुर की अपनी विधायक सीट से इस्तीफा दे दिया है। इसलिए राज्य विधानसभा में भाजपा की सीट 77 से नीचे 75 पर आ गई है और अब दोनों सीटों पर उपचुनाव कराने होंगे। 

    “मैं पार्टी का एक वफादार सिपाही हूं और मैंने ठीक वही किया है जो मेरे नेतृत्व ने मुझसे करने के लिए कहा है। हमने पार्टी के फैसले का पालन किया है” – प्रमाणिक ने सरकार के साथ विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंपने के बाद कहा। 

    शांतिपुर में,  तृणमूल कांग्रेस के छह बार के विधायक अजॉय डे भाजपा सांसद जगन्नाथ सरकार से लगभग 16,000 वोटों से हार गए थे। तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और भवानीपोर से विधायक शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने कहा कि भाजपा के दो सांसद, निशीथ प्रमाणिक और जगन्नाथ सरकार ने  अब विधायकों के रूप में इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि “यह जनता के पैसे की बर्बादी है क्योंकि हमें अब उपचुनावों की जरूरत होगी और अगर वे इस्तीफा नहीं देते तो हमें एमपी की सीटों पर चुनाव की जरूरत होती। यह सब अब एक महामारी के बीच में होगा”।

    तृणमूल कांग्रेस राज्य चुनावों में बड़ी जीत के बाद अब दांव खेल कर इन 2 सीटों को जीतने  की  फिराक में लगी हुई है, साथ ही तीन अन्य सीटों पर भी मतदान होगा – जंगीपुर, समशेरगंज और खरदाह, क्योंकि वहां के उम्मीदवारों की कोरोना वायरस संक्रमण से मृत्यु हो गई थी। तृणमूल कांग्रेस अपनी सीट की गिनती 217 तक बढ़ने की उम्मीद है।

    पश्चिम बंगाल से बीजेपी के 18 सांसद बने रहेंगे। बंगाल में भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि ममता बनर्जी को राज्य विधानसभा में विधायक बनने के लिए एक उपचुनाव लड़ना होगा क्योंकि वह नंदीग्राम से सुवेंदु अधिकारी से हार गई थी। 

    “यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या वह अब भवानीपोर की अपनी पूर्व सीट से लड़ती है” – भाजपा नेता 

    By दीक्षा शर्मा

    गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली से LLB छात्र

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *