Sun. May 19th, 2024
    फ्रांस राष्ट्रपति मैक्रॉन

    फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मानुएल मैक्रॉन ने कहा कि फ्रांस साल 2035 तक देश के 58 न्यूक्लियर रिएक्टरों में से 14 को बंद कर देंगे। जबकि छह को साल 2020 तक बंद दिया जायेगा। पिछले ऐलान के तहत फ्रांस ने पूर्व में फेस्सेम्हेम में दो पुराने रिएक्टरों को बंद कर दिया था। उन्होंने बताया कि फ्रांस अपने शेष चार कोयला फायर्ड पॉवर प्लांट को प्रदूषण रोधी अभियान के तहत साल 2020 तक बंद कर देगा।

    देश की आगामी ऊर्जा नीति पर इम्मानुएल मैक्रॉन ने कहा कि परमाणु ऊर्जा घटाने का मतलब यह नहीं का उत्पादन नहीं किया जायेगा। फ्रांस अपनी 72 फीसदी बिजली ऊर्जा के लिए परमाणु ऊर्जा पर निर्भर है। फ्रांस की सरकार साल 2030 तक 50 फीसदी नाभिकीय ऊर्जा के उत्पादन को बंद करना चाहता है और अक्षय ऊर्जा के उत्पादन में वृद्धि करना चाहते    हैं।

    राष्ट्रपति ने कहा कि फ्रांस का साल 2030 तक वायु ऊर्जा को तिगुना करने का मकसद है और सौर ऊर्जा में पांच गुना वृद्धि करेंगे। उन्होंने कहा कि फ्रेंच इलेक्ट्रिसिटी जायंट को अगली पीढ़ी की न्यूक्लियर रिएक्टरों का अध्य्यन करने के आदेश दिए हैं। इस निर्माण की शुरुआत के लिए फ्रांस को साल 2021 तक का इंतज़ार करना होगा।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *