Wed. Nov 30th, 2022
    अरुण जेटली

    भारत में फ्रांस के राजदूत एलेक्स्जेंडर ज़ेग्लेर ने शनिवार को पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के देहांत पर संवेदना व्यक्त की है और उन्होंने कहा कि “इस दुःख की घड़ी में फ्रांस अपने मित्र भारत एक साथ खड़ा है। फ्रांस की तरफ से मैं श्री अरुण जेटली को चाहने वालो और उनके परिवार के प्रति दिल से संवेदना व्यक्त करता हूँ।”

    ज़ेग्लेर ने ट्वीट किया कि “पूर्व वित्त मंत्री और राज्य सभा की प्रतिष्ठित आवाजों में शुमार व्यक्ति के लिए समस्त राष्ट्र शोक में हैं। इस दुःख के समय में फ्रांस भारत और उसकी जनता के साथ खड़ा है।”

    अरुण जेटली का देहांत शानिवार को 66 वर्ष की उम्र में एम्स में दोपहर 12:07 मिनट पर हो गया था। एम्स ने इसकी जानकारी प्रेस रिलीज़ में दी थी।अरुण जेटली को 9 अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था।

    अरुण जेटली को वेंटिलेटर पर रखा गया था। वे पूरी तरह से लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर थे। साल 2018 में एम्स में उनका किडनी ट्रांसप्लांट हुआ था। उन्होंने 2016 में बेरियाट्रिक सर्जरी भी करवाई। जेटली को मधुमेह भी था। राष्ट्रपति के अलावा, केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन भी उनसे मिलने अश्विनी चौबे के पास गए।

    अरुण जेटली का जन्‍म 28 दिसंबर, 1952 को दिल्‍ली में हुआ था। उनके पिता पेश से वकील थे। उन्‍होंने कॉमर्स से बीकॉम किया था और दिल्‍ली यूनिवर्सिटी से लॉ किया था।

     

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *