Wed. Apr 24th, 2024
    कमर जावेद बाजवा फैजाबाद प्रदर्शन

    पाकिस्तान के फैजाबाद में कुछ हफ्ते पहले हुए हिंसक प्रदर्शन में प्रदर्शनकारियों के साथ हुए समझौते में पाक सेना की भूमिका सामने आई थी। इस पर पाकिस्तान के हाईकोर्ट ने पाक सेना को दलाल कहते हुए खरी-खोटी सुनाई थी। अब इस मामले पर पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर बाजवा ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि यदि कट्टरपंथी धार्मिक समूहों द्वारा इस्लामाबाद में कुछ सप्ताह पहले किए गए प्रदर्शन में सेना की भागीदारी साबित होती है तो वो अपने पद से इस्तीफा दे देंगे।

    हाल ही में पाक सेना प्रमुख ने कहा है कि अगर फैजाबाद मामले में सेना की संलिप्तता पाई जाती है तो वो अपने इस्तीफा देने के लिए तैयार है। मैंने डीजी आईएसआई से प्रदर्शनकारियों के साथ बातचीत करने को कहा था।

    साथ ही बताया कि प्रदर्शनकारियों की शुरूआत में चार मांगे थी। बाद में पाक प्रधानमंत्री व सेना प्रमुख के बीच बैठक हुई और सेना प्रमुख के प्रयासों से प्रदर्शन रूक गया। हालांकि बाद में पाक कोर्ट ने सरकार व सेना को जमकर फटकार लगाई और कहा कि कोर्ट ने सरकार से सड़कों पर से प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए कहा था, न कि प्रदर्शनकारियों के साथ समझौते के लिए।

    गौरतलब है कि पाकिस्तान के तहरीक-ए-लब्बैक व अन्य सहयोगी कट्टरपंथी संगठनों ने राजधानी इस्लामाबाद के कई राजमार्गों व रेलवे लाइनों पर कब्जा करके विरोध-प्रदर्शन किया था।

    हाईकोर्ट ने पाक सेना व सरकार को लगाई थी फटकार

    सड़को पर कई हफ्तों तक चला विरोध-प्रदर्शन अचानक से हिंसा में तब्दील हो गया था जिसमें कई लोगों की मौत व सैकडों की संख्या में प्रदर्शनकारी घायल हुए थे।

    इस्लामाबाद व रावलपिंडी से जुड़ने वाले फैजाबाद में हालात बेकाबू हो गए थे। बाद में पाकिस्तान के कानून मंत्री जाहिद हामिद को बर्खास्त किए जाने व अन्य मांगों को मानने के बाद इनका प्रदर्शन खत्म हुआ था।

    लेकिन इस प्रदर्शन में पाक सेना पर आरोप लगाए थे कि उन्होंने प्रदर्शनकारियों के साथ समझौता करके उन्हें पैसे बांटे थे ताकि वो प्रदर्शन समाप्त कर दे। पाकिस्तानी सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी का वीडियो वायरल हो गया था जिसमें वो प्रदर्शनकारियों को पैसा देते हुए नजर आ रहे थे।

    इस पर हाईकोर्ट ने सेना की भूमिका पर संदेह जताया था। साथ ही कहा था कि सरकार व प्रदर्शनकारियों के बीच में समझौता करवाने वाली सेना कौन होती है।