Wed. May 29th, 2024
    देश मे हरियाली में फ़िर दर्ज की गई बढ़ोतरी, इंडिया स्टेट ऑफ फॉरेस्ट रिपोर्ट-2021

    भारत वन स्थिति रिपोर्ट 2021 (India State of Forest Report 2021)

    आज भारत के पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा ” भारत वन स्थिति रिपोर्ट 2021 (India State of Forest Report 2021)” जारी किया गया जिसके अनुसार  पिछले 2 साल में जंगल और वृक्ष आच्छादित कुल क्षेत्रफल में 2261 वर्ग किलोमीटर की वृद्धि हुई है। भारत विश्व के उन गिने-चुने देशों में शामिल है , जहाँ वन-क्षेत्रफल में लगातार वृद्धि दर्ज की जा रही है।

    कौन तैयार करता है यह रिपोर्ट??

    देहरादून स्थित फॉरेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया ने “इंडिया स्टेट ऑफ फॉरेस्ट रिपोर्ट 2021″ को तैयार किया है। यह एक द्विवार्षिक रिपोर्ट है जो 2 साल में उपग्रह की सहायता से सम्पूर्ण भारत (पीओके सम्मिलित) में वनों और पेड़ो की मैपिंग करके तैयार किया जाता है।

    ” इंडिया स्टेट ऑफ फॉरेस्ट रिपोर्ट 2021 (ISFR-2021)” में जंगल व वृक्ष-आच्छादित (जंगल के बाहर) के साथ-साथ मैंग्रोव क्षेत्र, भारत के जंगलों में उपलब्ध कार्बन स्टॉक, फारेस्ट फायर मॉनीटिरिंग, टाइगर रिज़र्वों में स्थित वन-आच्छादन, इत्यादि जैसे कई अन्य महत्वपूर्ण जानकारियाँ सम्मिलित हैं।

    रिपोर्ट को जारी करते हुए पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री, भूपेंद्र यादव ने कहा कि “हम ग्रीन मिशन के दूसरे फेज में जाने वाले हैं और आने वाले 5 सालों में नगर वन योजना तथा अन्य ऐसे योजनाओं की सहायता से भारत के वर्ष 2030 तक  कार्बन-सिंक को 2.5 से 3 बिलियन टन CO2 तक बढ़ाने के लक्ष्य को हासिल करना है। वृक्षारोपण पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि  जंगलों के ऊपर से बोझ को कम करने के लिए, प्राइवेट सेक्टरों को भी ज्यादा से ज्यादा वृक्षारोपण करना चाहिए।

    महत्वपूर्ण आंकड़े:- ISFR-2021

    रिपोर्ट के अनुसार देश मे कुल 80.9 हेक्टेयर जंगल व वृक्ष आच्छादित क्षेत्रफल हैं जो कि देश के कुल क्षेत्रफल का 24.62 प्रतिशत है। पिछले रिपोर्ट जो 2019 में जारी की गई थी, उसके तुलना में कुल 2261 वर्ग किमी की वृद्धि दर्ज की गई है।

    क्षेत्रफल के हिसाब से सर्वाधिक वन-आच्छादन वाला राज्य मध्यप्रदेश है। दूसरे नंबर पर अरुणाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़ तीसरे, ओड़िशा चौथे और महाराष्ट्र पाँचवें नम्बर पर है। जबकि कुल भौगोलिक क्षेत्रफल की तुलना में वन क्षेत्रफल (प्रतिशत अनुसार) की बात करें तो इस रिपोर्ट के अनुसार टॉप 5 राज्य क्रमशः मिज़ोरम (80.53%), अरुणाचल प्रदेश (79.33%), मेघालय (76.00%), मणिपुर (74.34%) और नागालैंड (73.90%) हैं।

    रिपोर्ट के मुताबिक, 2019 की तुलना में 17 वर्ग किमी की वृद्धि के साथ देश में कुल मैन्ग्रोव क्षेत्र 4,992 वर्ग किमी है। इस श्रेणी में हुई वृद्धि में योगदान करने वाले टॉप 3 राज्य क्रमशः ओड़िशा (8 वर्ग किमी), महाराष्ट्र (4 वर्ग किमी) और कर्णाटक (3 वर्ग किमी) हैं।

    क्या है चिंता के सबब ?

    देश मे जंगल मे कुल क्षेत्र में जो भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है, लेकिन उत्तर पूर्व के राज्यों में यह आँकड़े सकारात्मक नहीं है। वहाँ वन क्षेत्र में लगातार कमी दर्ज की गई है और यह निश्चित ही भारत के जलवायु और जैव विविधता के लिए सुखद संकेत नहीं हैं।

    By Saurav Sangam

    | For me, Writing is a Passion more than the Profession! | | Crazy Traveler; It Gives me a chance to interact New People, New Ideas, New Culture, New Experience and New Memories! ||सैर कर दुनिया की ग़ाफ़िल ज़िंदगानी फिर कहाँ; | ||ज़िंदगी गर कुछ रही तो ये जवानी फिर कहाँ !||

    One thought on “देश मे हरियाली में फ़िर दर्ज की गई बढ़ोतरी: इंडिया स्टेट ऑफ फॉरेस्ट रिपोर्ट-2021”

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *