बुधवार, अक्टूबर 23, 2019

प्रियंका चोपड़ा और फरहान अख्तर की फिल्म ‘द स्काई इज़ पिंक’ की होगी TIFF 2019 में स्क्रीनिंग

Must Read

मोहन भागवत हरिद्वार में पांच दिन संगठन मंत्रियों की चलाएंगे पाठशाला

देहरादून, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(आरएसएस) के सरसंघ चालक मोहन भागवत 30 अक्टूबर से हरिद्वार के प्रेमनगर...

पूर्वी उप्र में बूंदाबांदी के आसार, पश्चिमी हिस्से में मौसम रहेगा शुष्क

लखनऊ, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की राजधानी के आस-पास के इलाकों में सुबह से बादल की आवाजाही बनी...

दिल्ली : कनाट प्लेस में मुठभेड़, केंद्रीय मंत्री के रिश्तेदार को लूटने वाले बदमाश गोली मारकर दबोचे

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। दिल्ली का दिल कहे जाने वाले नई दिल्ली जिले में स्थित कनाट प्लेस में...
साक्षी बंसल
पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

ग्लोबल आइकॉन प्रियंका चोपड़ा की कमबैक बॉलीवुड फिल्म ‘द स्काई इस पिंक‘ जिसमे फरहान अख्तर, ज़ायरा वसीम और रोहित सराफ भी अहम किरदार निभा रहे हैं, जल्द टोरंटो अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव 2019 (TIFF) में अपने बड़े प्रीमियर के लिए तैयार है। प्रतिष्ठित TIFF में स्क्रीन होने वाली निर्देशक शोनाली बोस की ये तीसरी फिल्म है। इससे पहले उनकी फिल्म ‘अमु’ और ‘मार्गरिटा विद ए स्ट्रॉ’ की भी इस महोत्सव में स्क्रीनिंग हो चुकी है।

‘द स्काई इज़ पिंक’ में अदिति और नरेन चौधरी की प्रेम कहानी के 25 वर्षों से अधिक का समय दिखाया जाएगा। फिल्म उनकी बेटी आइशा चौधरी के नजरिये से दिखाई जाएगी जो चरम बीमारी से पीड़ित है। प्रियंका चोपड़ा ने कहा कि जैसी उन्हें अपनी भूमिका सुनी, तुरंत उससे जुड़ गयी थी। उन्होंने कहा कि इसे इतनी अच्छी तरह से शोनाली बोस के हाथों में तैयार किया गया है जो प्यार और जीवन में विश्वास को नवीनीकृत करेगा। यही कारण है कि उन्होंने रॉनी स्क्रूवाला और सिद्धार्थ रॉय कपूर के साथ फिल्म का सह-निर्माण किया है।

निर्माता रोनी स्क्रूवाला ने कहा कि फिल्म ‘मर्द को दर्द नहीं होता’ के बाद, ये उनकी दूसरी फिल्म है। उन्होंने कहा कि TIFF में अपने फिल्म पेश करने पर उन्हें बहुत गर्व महसूस होता है।

सिद्धार्थ रॉय कपूर ने कहा कि जिस पल शोनाली बोस ने उन्हें कहानी पेश की, उन्हें पता था कि यह दुनिया भर के दर्शकों के साथ गूंजने में कामयाब रहेगी।

Image result for The Sky Is Pink

आइशा चौधरी नाम की एक युवा लड़की को 13 साल की उम्र में पल्मोनरी फाइब्रोसिस का पता चला था। वह अपनी बीमारी का पता लगने के बाद एक प्रेरक वक्ता बन गई। उन्होंने एक किताब ‘माय लिटिल एपिफेनीज़’ भी लिखी। सकारात्मक रुख के साथ, उन्होंने TEDx, INK सम्मेलनों जैसे प्रतिष्ठित कार्यक्रमों में बात की। हालांकि, आइशा चौधरी ने 24 जनवरी 2015 को 18 साल की उम्र में अपनी अंतिम सांस ली थी।

Related image

ये फिल्म भारत में 11 अक्टूबर 2019 वाले दिन रिलीज़ होगी।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

मोहन भागवत हरिद्वार में पांच दिन संगठन मंत्रियों की चलाएंगे पाठशाला

देहरादून, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(आरएसएस) के सरसंघ चालक मोहन भागवत 30 अक्टूबर से हरिद्वार के प्रेमनगर...

पूर्वी उप्र में बूंदाबांदी के आसार, पश्चिमी हिस्से में मौसम रहेगा शुष्क

लखनऊ, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की राजधानी के आस-पास के इलाकों में सुबह से बादल की आवाजाही बनी हुई है। इस कारण पूर्वी...

दिल्ली : कनाट प्लेस में मुठभेड़, केंद्रीय मंत्री के रिश्तेदार को लूटने वाले बदमाश गोली मारकर दबोचे

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। दिल्ली का दिल कहे जाने वाले नई दिल्ली जिले में स्थित कनाट प्लेस में बुधवार तड़के पुलिस और बदमाशों...

झारखंड चुनाव में कसौटी पर होगी जद (यू)-भाजपा दोस्ती!

रांची, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। जनता दल (युनाइटेड) बिहार में भले ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मदद से सरकार चला रहा हो, मगर दोनों...

भाजपा ने हरियाणा, महाराष्ट्र चुनावों की समीक्षा की

नई दिल्ली, 22 अक्टूबर,(आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने यहां पार्टी मुख्यालय में मंगलवार शाम राष्ट्रीय महासचिवों की बैठक में हरियाणा और महाराष्ट्र के...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -