प्रमोद कृष्णम आचार्य: “शत्रुघ्न सिन्हा को पार्टी धर्म निभाते हुए मेरे लिए प्रचार करना होगा”

Must Read

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के...

औरंगाबाद में रेल के नीचे आने से 16 मजदूरों की मौत, 45 किमी की दूरी तय करने के बाद हुई घटना

महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) शहर में शुक्रवार सुबह कम से कम 16 प्रवासी श्रमिक ट्रेन के नीचे कुचले...
पंकज सिंह चौहान
पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

लखनऊ से कांग्रेस पार्टी के सांसद उम्मीदवार प्रमोद कृष्णम आचार्य नें आज शत्रुघ्न सिन्हा को कहा है कि उन्होनें जब अपनी पत्नी के लिए प्रचार किया, तब उन्होनें पति-धर्म निभाया और अब उन्हें पार्टी धर्म निभाते हुए मेरे लिए चुनाव प्रचार करना होगा।

जाहिर है शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा नें हाल ही में समाजवादी पार्टी की सदस्यता ली थी। समाजवादी पार्टी से जुड़ते ही उन्हें पार्टी नें लखनऊ से प्रत्याशी घोषित कर दिया था। इसके बाद हल शत्रुघ्न सिन्हा नें लखनऊ में अपनी पत्नी के लिए जमकर प्रचार प्रसार किया था।

sinha wife

आज जब शत्रुघ्न सिन्हा से इस बारे में पूछा गया कि वे अपनी ही पार्टी के खिलाफ प्रचार क्यों कर रहे हैं, तो उन्होनें कहा कि घर का मुखिया और एक पति होने के नाते ऐसा करना उनका पति-धर्म है।

ऐसे में अब कांग्रेस के उम्मीदवार प्रमोद कृष्णम आचार्य नें भी उन्हें चुनाव प्रचार करने के लिए बुलाया है।

आपको बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा नें हाल ही में कांग्रेस पार्टी की सदयस्ता ली थी। वे पिछले करीबन 30 सालों से बीजेपी से जुड़े हुए थे।

लेकिन जब से नरेन्द्र मोदी और अमित शाह के हाथ में सरकार आई थी, तब से शत्रुघ्न सिन्हा नें पार्टी के खिलाफ बोलना शुरू कर दिया था।

शत्रुघ्न सिन्हा नें कहा थी ये पार्टी दो लोगों की पार्टी बन गयी है। इस दौरान सिन्हा नें कहा कि उन्होनें कई बार प्रधानमंत्री मोदी से मिलने की इच्छा जाहिर की थी, लेकिन उन्हें उनसे मिलने नहीं दिया गया।

अब जब बीजेपी नें उनकी सीट पटना साहिब से उनका नाम काटकर रविशंकर प्रसाद का नाम घोषित कर दिया था, तभी सिन्हा नें पार्टी छोड़ने का मन बना लिया था।

लखनऊ में दूसरी ओर बीजेपी की ओर से राजनाथ सिंह हैं। आपको बता दें कि पिछले करीबन 30 साल से लखनऊ की सीट पर बीजेपी का कब्ज़ा रहा है। पहले अटल बिहारी वाजपेयी खुद इस सीट से चुनाव लड़ते थे। इस बार बीजेपी नें राजनाथ सिंह पर भरोसा जताया है और सिंह काफी आत्मविश्वास से भरे नजर आ रहे हैं।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच टकराव की...

औरंगाबाद में रेल के नीचे आने से 16 मजदूरों की मौत, 45 किमी की दूरी तय करने के बाद हुई घटना

महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) शहर में शुक्रवार सुबह कम से कम 16 प्रवासी श्रमिक ट्रेन के नीचे कुचले गए, जब वे मध्य प्रदेश...

भारत में कोरोनावायरस के आंकड़े 50,000 के पार, महाराष्ट्र में सबसे भयानक स्थिति

भारत (India) में कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित लोगों की संख्या में पिछले दो दिनों में 14 फीसदी की वृद्धि देखि गयी है। यह आंकड़ा...

कोरोनावायरस अपडेट: देश में 24 घंटों में सबसे तेजी से वृद्धि, कुल आंकड़ा 46,000 के पार

भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामलों में पिछले 24 घंटों में सबसे तेजी वृद्धि देखने को मिली है। पिछले 1 दिन में कुल आंकड़ों...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -