Sun. Jul 21st, 2024
    OWAISI

    एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद कहा कि देश में एक गैर भाजपा और गैर कांग्रेस मोर्चे की जरूरत है। उन्होंने सभी क्षेत्रीय पार्टियों को इस दिशा में सोचना चाहिए और उन्होंने उम्मीद जताई कि टीआरएस अध्यक्ष के चंद्रशेखर राव इस दिशा में पहल करेंगे।

    ओवैसी ने कहा कि उन्हें शक है कि कांग्रेस में 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रोकने की क्षमता है।

    उन्होंने हैदराबाद में कहा कि “भाजपा की हार के बाद भी हमारे लिए काम बाक़ी है। कांग्रेस इस देश में भाजपा का विकल्प नहीं है। अगर भाजपा को हराना है और 2019 में नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनने से रोकना है तो क्षेत्रीय दलों को गैर भाजपा और गैर कांग्रेसी मोर्चे की पहल करनी होगी क्योंकि कांग्रेस में प्रधानमंत्री मोदी को रोकने की क्षमता नहीं है।”

    उन्होंने टीआरएस का ज़िक्र करते हुए कहा कि मैं महीने भर से कह रहा था कि केसीआर दुबारा जीत कर आयेंगे। “तेलंगाना के लोग जानते थे कि वो नेता कौन है जिसने उनके लिए काम किया है और कौन आगे भी काम कर सकता है। जनता ने धीरे धीरे टीआरएस के पीछे इकट्ठा होना शुरू किया और उसे सबसे आगे तक ले गई।”

    ये भी पढ़ें: तेलंगाना में शानदार वापसी के बाद केसीआर बढ़ाएंगे अब राष्ट्रीय राजनीति में कदम, बनायेंगे नई राष्ट्रीय पार्टी

    उन्होंने कहा “मुझे उम्मीद है कि केसीआर ये महसूस कर रहे होंगे कि उन्हें अब सिर्फ तेलंगाना तक ही सिमित नहीं रहना चाहिए। उन्हें देश की राजनीति में बहुत ही बड़ी भूमिका निभानी है और मुझे उम्मीद है कि प्रशासन का जैसा मॉडल उन्होंने तेलंगाना में दिया है वैसा ही देश में भी देंगे।”

    उन्होंने कहा “केसीआर को आगे आना चाहिए और हम उनके घोषणा का स्वागत करेंगे। देश को नए विजन विजन की जरूरत है, अर्थव्यवस्था के लिए नए पॉलिसी की जरूरत है और केसीआर में वो काबिलियत है।”

    ओवैसी ने उम्मीद जताई कि 2019 के लोकसभा चुनाव में राज्य के सभी 17 लोकसभा सीटों पर टीआरएस और एआईएमआईएम का कब्ज़ा होगा और तेलंगाना में कांग्रेस और भाजपा का नामोनिशान मिट जाएगा।

    अन्य खबरें:

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *