Fri. Jun 14th, 2024

    केंद्रीय विस्टा परियोजना पर केंद्र की निंदा करते हुए, कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को कहा कि ऐसे समय में जब लोग देश में ऑक्सीजन और टीकों की कमी से जूझ रहे हैं, तब बेहतर होगा कि सरकार प्रधानमंत्री के नए घर के निर्माण के बजाय जीवन बचाने में अपने संसाधनों को लगाए। 

    सरकार पर यह टिप्पणियां इसलिए हो रही है क्योंकि खबरों के मुताबिक केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने सरकार द्वारा नियुक्त विशेषज्ञ पैनल को सूचित किया है कि महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा परियोजना के तहत प्रधानमंत्री आवास का निर्माण दिसंबर 2022 तक पूरा हो जाएगा।

    “ऐसे समय में जब देश के लोग ऑक्सीजन, टीके, अस्पताल के बिस्तर, दवाइयों की कमी से जूझ रहे हैं, बेहतर होगा कि सरकार लोगों की जान बचाने के लिए सभी संसाधनों को तैनात करे, बजाय एक नया घर बनाने में 13,000 करोड़  फूंक दे”। – प्रियंका गांधी ने हिंदी में ट्वीट करके बोला

    कांग्रेस महासचिव ने भी इसकी निंदा करते हुए कहा कि “इस तरह के खर्च जनता को संदेश देते हैं कि सरकार की प्राथमिकताएं किसी और ही दिशा में हैं”। 

    केंद्रीय लोक निर्माण विभाग जो परियोजना डेवलपर है, उन्होंने विशेषज्ञ मूल्यांकन समिति को सूचित किया कि संसद भवन का विस्तार और एक नया संसद भवन का निर्माण नवंबर 2022 तक होगा और प्रधानमंत्री आवास का निर्माण दिसंबर 2022 तक किया जाएगा।

    पर्यावरण मंत्रालय ने मौजूदा संसद भवन के विस्तार और नवीनीकरण के लिए पहले ही मंजूरी दे दी है, जो कि 13,450 करोड़ रुपये के केंद्रीय विस्टा पुनर्विकास परियोजना का हिस्सा है।

    सेंट्रल विस्टा का पुनर्विकास परियोजना –  एक नए त्रिकोणीय संसद भवन बनाने में लगा हुआ है। राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक तीन किलोमीटर लंबे राजपथ का भी पुनर्निर्माण  हो रहा है और प्रधानमंत्री और उपाध्यक्ष के लिए नए निवास बनाना भी इस प्लान में शामिल है।  विपक्ष इस परियोजना का कड़ा विरोध कर रहे है, यह मांग करते हुए कि सभी संसाधनों को   कोरोना वायरस महामारी से लड़ने में तैनात किया जाना चाहिए।

    By दीक्षा शर्मा

    गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली से LLB छात्र

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *