दा इंडियन वायर » व्यापार » भारत में पेपर प्लेट का व्यवसाय कैसे करें?
व्यापार

भारत में पेपर प्लेट का व्यवसाय कैसे करें?

paper plate business in hindi

भारत में पेपर प्लेट (paper plate in india)

पेपर प्लेट हमेशा से स्टील, ग्लास और सिरेमिक जैसे सामग्री के लिए बहुत अच्छे विकल्प रहे हैं, जिन्हें हम अक्सर अपने दैनिक जीवन में उपयोग करते हैं।

पेपर प्लेट मूल रूप से हमेशा प्राथमिक रूप में उपयोग नहीं किए जाते हैं बल्कि इन्हें वैकल्पिक या विशिष्ट उपयोग के लिए उपयोग किया जाता है।

भारत में, बड़े पैमाने पर उपयोग के कारण पेपर प्लेट को बड़ी प्रतिष्ठा मिली है। यदि आप पेपर प्लेट बनाने के व्यवसाय को शुरू करने की योजना बना रहे हैं तो यह आपके व्यवसाय को शुरू करने के लिए बिल्कुल सही समय है।

यह उद्योग भारत में तेजी से बढ़ रहा है और पेपर प्लेट के निर्माण में लाभ मार्जिन भी बहुत अधिक होता है।

पेपर प्लेट का उपयोग (need of paper plate)

पेपर प्लेट मूल रूप से दो श्रेणियों में उपयोग किये जातें हैं। पहली श्रेणी घरेलू उपयोग से संबंधित है और दूसरी श्रेणी व्यावसायिक उपयोग से संबंधित है।

घरेलू उद्देश्य, विवाह, अवसर, कार्य, पिकनिक और यात्रा के उद्देश्य के लिए पहली श्रेणी के उपयोग में शामिल है। हम में से अधिकांश शादी में पेपर प्लेटों का उपयोग करते हैं, क्योंकि यह सामान की सफाई या हानि के बारे में चिंता किए बिना सबसे खाना खिलने का सबसे अच्छा तरीका है।

यह बहुत सुविधाजनक, हल्का और किफायती होता है।

दूसरी ओर हमारे पास वाणिज्यिक उपयोग भी है। वाणिज्यिक उपयोग सड़क की दुकानों से जुड़ा हुआ है जो भोजनालयों, सड़क में रेडी लगाने वाले और उनकी पसंद से सम्बंधित है।

यह हिस्सा सबसे अधिक निर्मित पेपर प्लेटों का उपभोग करता है क्योंकि मांग नियमित और विशाल होती जा रही है।

पेपर प्लेट की व्यापार योजना (paper plate business plan in hindi)

यदि आप पेपर प्लेट्स के लिए एक मैन्युफैक्चरिंग केंद्र खोलने की योजना बना रहे हैं तो आपको एक व्यापक और अच्छी तरह से व्यापार योजना तैयार करने की आवश्यकता है।

क्योंकि यह बाजार पहले से ही बड़ा हो चुका है। आपकी योजना केवल अपने मैन्युफैक्चरिंग तक ही सीमित नहीं होनी चाहिए बल्कि इसकी आपूर्ति और रिटर्न की भी होनी चाहिए।

यहां हम चर्चा करेंगे कि आप पेपर प्लेट मैन्युफैक्चरिंग प्लांट कैसे खोल सकते हैं।

पेपर प्लेट मैन्युफैक्चरिंग प्लांट खोलने के लिए आवश्यकताएं

एक पेपर प्लेट मैन्युफैक्चरिंग प्लांट का व्यवसाय खोलना बहुत जटिल नहीं है। बस आपको कुछ बुनियादी आवश्यकताओं का ध्यान रखना है जो नीचे उल्लिखित हैं।

भूमि:

हाँ आपको ऐसी भूमि की आवश्यकता है जहां आप अपना मैन्युफैक्चरिंग प्लांट स्थापित कर सकें। जमीन ऐसी जगह पर होनी चाहिए जिसमें बुनियादी सुविधाएं हों ताकि आपको ज्यादा परेशानी न हो। भूमि का आकार बड़ा मुद्दा नहीं है क्योंकि 100 वर्ग फुट जमीन भी काम करेगी।

जल:

पेपर प्लेट मैन्युफैक्चरिंग व्यवसाय में पानी एक महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि इसके लिए लगातार पानी की आपूर्ति की आवश्यकता होती है। इसे एक नुकसान के रूप में भी देखा जा सकता है क्योंकि यहां पानी की आवश्यकता काफी बड़ी है।

बिजली:

बिजली भी आपको पानी जैसे ही आवश्यक है। पानी पंप और अन्य इलेक्ट्रॉनिक्स के साथ आपको अपनी पेपर मशीन चलाने के लिए उचित बिजली की आपूर्ति की आवश्यकता है। बिजली की आपूर्ति आवश्यक मानक वोल्टेज के साथ स्थिर और उचित होना चाहिए ताकि आपकी मशीन अच्छी तरह से काम करे।

कच्ची सामग्री:

यह बेहतर होगा कि आप सीधे कच्चे माल को पेपर या पेपर रोल के रूप में प्राप्त करें। क्योंकि पेपर मैन्युफैक्चरिंग के लिए बहुत से संसाधन, धन और समय की आवश्यकता होती है।

आप स्थानीय स्क्रैप दुकानों से बहुत सारा पेपर प्राप्त कर सकते हैं। जो आपको उन कागजात को प्रति किलो बहुत कम दर पर बेच सकता है।

एक क्विंटल या 1000 किलोग्राम पेपर आसानी से 5000 से 7000 रुपये तक लिया जा सकता है।

मैन्युफैक्चरिंग मशीन:

एक मैन्युफैक्चरिंग मशीन की कीमत अलग अलग हो सकती हैं। मशीन की कीमत कम या ज्यादा होने से प्रति घंटे पेपर प्लेटों की जनरेशन की संख्या में अंतर आ सकता है।

कुछ मशीन प्रति घंटे 1000-2000 टुकड़े उत्पन्न करती हैं जबकि कुछ प्रति घंटे 4000-7000 टुकड़े करतीं हैं। इसके अलावा डिजाइन, गुणवत्ता और मशीनों के और भी प्रकार अलग-अलग होते हैं।

एक सामान्य मशीन आपको 75,000 रुपये से 500,000 रुपये खर्च करने पर मिल सकती है।

श्रम:

यदि आप मैन्युफैक्चरिंग में भी शामिल हैं तो आपको कम से कम दो और लोगों की आवश्यकता हो सकती है। यह बहुत महंगा नहीं होता है लेकिन आपको प्रारंभिक दिनों में उन्हें उचित प्रशिक्षण देना होगा।

संसाधनों की आवश्यकता (resources)

मैन्युफैक्चरिंग प्लांट खोलने की मूल आवश्यकता है एक ठीक ठाक आकर वाली भूमि। यह निश्चित रूप से आवश्यकता के अनुसार बनाई जानी चाहिए।

आप इसे अपने घर में केवल एक मशीन के साथ भी खोल सकते हैं। दूसरी आवश्यकता व्यापार से संबंधित पेपर कार्य होगा जिसमें पंजीकरण, टैक्सेशन, आवश्यक अनुमतियां इत्यादि शामिल हैं। तीसरा महत्वपूर्ण बिंदु जल आपूर्ति और बिजली का उचित कनेक्शन है।

मैन्युफैक्चरिंग की आपकी जगह उस स्थान पर होनी चाहिए जिसमें सभी बुनियादी सुविधाएं हों। अन्य आवश्यकताएं कच्चा माल, मशीन और श्रम हैं।

कितना निवेश आवश्यक है? (investment in paper plate business)

हालांकि ज्यादातर लोग अलग-अलग जमीन खरीदने की जगह अपने संयंत्र या घर में अपना संयंत्र खोलते हैं क्योंकि यह काफी महंगा होता है।

उस जगह को बनाने के लिए कम से कम कुछ लाख रुपये की आवश्यकता होगी। इसके अलावा आपका मूल निवेश मशीन में होगा।

इसकी लागत 75,000 रुपये से 500,000 रुपये होगी। कच्चे माल, बिजली की आपूर्ति, पानी, टैक्सेशन, श्रम आपको न्यूनतम 10 लाख रुपये खर्च होंगे।

यह 15 लाख रुपये तक जा सकता है जिसे आपको जितना संभव हो कम से कम करने की कोशिश करनी चाहिए।

पेपर प्लेट कैसे बनाये? (how to make paper plate in hindi)

प्लेट निर्माण को तीन अलग-अलग दृष्टिकोणों के आधार पर बांटा जा सकता है। पहला दृष्टिकोण प्रति दिन मैन्युफैक्चरिंग की कुल राशि होना चाहिए।

एक सामान्य मशीन प्रति घंटे कम से कम 2000 प्लेट बनाती है ताकि यदि आप इसे आठ घंटे तक काम करते हैं तो यह आपको 16000 प्लेटें देगा।

यदि आपकी मशीनों में से एक काम करने के लिए बंद हो जाती है तो आपको दूसरी मशीन भी रखनी चाहिए, आप दूसरे के साथ जारी रह सकते हैं।

यदि दोनों काम कर रहे हैं तो आपके पास अधिक मैन्युफैक्चरिंग हो सकती है और फिर अधिक आपूर्ति हो सकती है।

दूसरा दृष्टिकोण प्लेट का आकार है। हालांकि मशीन एक जैसी है लेकिन ऐसी प्लेटें बनाने के लिए फिट किए गए विभिन्न आकर होते हैं।

आप आवश्यकताओं के लिए बाजार में एक विश्लेषण कर सकते हैं और इसके आधार पर आप उन्हें बना सकते हैं।

सुनिश्चित करें कि आपके द्वारा निर्मित निर्माण की कुछ अच्छी मांग है ताकि आपको निरंतर आर्डर मिल सके। अंतिम दृष्टिकोण उत्पाद की गुणवत्ता है।

पेपर प्लेट्स के विभिन्न प्रकार हैं। उनमें से कुछ बेहद हल्के हैं जबकि उनमें से कुछ हल्के वजन वाले भी टिकाऊ होते हैं। अंतिम श्रेणी सबसे उन्नत और टिकाऊ प्लेट की है जो मोटी है और सर्वोत्तम गुणवत्ता रखती है।

आपको आवश्यकताओं के आधार पर उन सभी को आजमाएं। कुछ दुकानदार निम्नतम गुणवत्ता का उपयोग करते हैं जबकि कुछ सर्वश्रेष्ठ उपयोग करते हैं। दुकानदारों से परामर्श करते समय आप इसे समझ सकते हैं।

मुनाफा कितना होगा? (paper plate business profit margin in hindi)

आपका लाभ आपके निवेश पर निर्भर करता है। यदि आपके पास अच्छा निवेश है तो पहली बार आपका रिटर्न अच्छा नहीं भी हो सकता है, लेकिन यदि आपका निवेश कम है तो आप वापसी के साथ सहज महसूस कर सकते हैं।

मैन्युफैक्चरिंग के अलावा, इस व्यवसाय में रिटर्निंग बाजार पर भी निर्भर करती है। आपका एक उचित नेटवर्क होना चाहिए जहां आप अपनें उत्पाद की आपूर्ति कर सकें।

यह नेटवर्क फैला हुआ होना चाहिए ताकि आप अपने उत्पाद के लिए अलग-अलग कीमतें प्राप्त कर सकें। आपका लक्ष्य सीधे उपयोगकर्ता को उत्पाद की आपूर्ति करना होना चाहिए।

शहरों में दुकानदार गुणवत्ता वाले पेपर प्लेटों की मांग करते हैं जहां लागत अधिक है। आप अपने उत्पाद को उनके लिए बेच सकते हैं ताकि आपको सर्वोत्तम रिटर्न मिल सके।

परिवहन की लागत भी एक ऐड अप होगी लेकिन यदि आपको अच्छी कीमत मिलती है तो इसे आसानी से मैनेज किया जा सकता है।

इस व्यवसाय का रिटर्न संतोषजनक है क्योंकि कागज की कच्ची सामग्री काफी सस्ती होती है और यह कागज का एक किलो बहुत सी अच्छी प्लेटों का निर्माण करता है।

इन प्लेटों प्रति दर्जन या सौ टुकड़े की अच्छी कीमत मिलती है। यदि आप एक दिन में 10, 000 से 50, 000 प्लेटें बेचने में सक्षम हैं तो आपका परिणाम बहुत संतोषजनक होगा या अन्यथा आपको अपना व्यवसाय और मजबूत बनाना होगा और लक्ष्य प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी।

एक अन्य महत्वपूर्ण पहलू मैन्युफैक्चरिंग की लागत है जिसे सर्वोत्तम रूप से नियंत्रित किया जाना चाहिए। यदि ऐसा हो गया है तो आप आसानी से अपने रिटर्न को अधिकतम कर सकते हैं।

इस लेख से सम्बंधित यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

About the author

अभय शुक्ला

Add Comment

Click here to post a comment




फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!