Tue. Mar 5th, 2024
    पेट साफ़ करने के तरीके

    यदि आप वज़न कम करने की कोशिश कर रहे हैं और मुंहासे और फुंसियों से निजात पाना चाहते हैं तो प्राकृतिक रूप से अपने पेट की सफाई करना आपके लिए सबसे उचित उपाय होता है

    यह आपके शरीर से विषैले पदार्थ निकाल देता है और आपकी पाचन सम्बन्धी समस्याएं दूर कर देता है। यदि आप इन समस्याओं से जूझ रहे हैं, और सोच रहे हैं कि पेट साफ कैसे करें, तो यह लेख आपके लिए है।

    पेट साफ़ करने के लाभ

    • वज़न कम करने में सहायक
    • आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य में सुधार
    • आपके इम्यून सिस्टम में सुधार
    • पेट के कैंसर का खतरा कम हो जाता है

    पेट साफ़ करने के तरीके

    आइये आपको कुछ ऐसे तरीके बताते हैं जिनसे आपका पेट आसानी से साफ़ हो सकता है

    1. अदरक

    अदरक में जिनजिरोल नामक यौगिक पाया जाता है जिसमें एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीओक्सीडैन्ट के गुण होते हैं

    ये अक्सर पाचन सम्बन्धी समस्याओं में और वज़न कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

    सामग्री:
    • 1-2 अदरक की गांठें
    • 1/4 कप नीम्बू का रस
    • 2 कप गर्म पानी
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • 2 चम्मच अदरक का रस निकाल लें
    • इसे 2 कप गर्म पानी में डाल दें
    • इसमें नीम्बू का रस डालकर मिला लें
    • इसे 2-3 हिस्सों में बांटकर दिन भर पीयें

    इस मिश्रण को दिनभर पीयें

    2. सेंधा नमक

    सेंधा नमक (मैग्नीशियम सल्फेट) व्यापक रूप से एक रेचक के रूप में प्रयोग किया जाता है।

    यह मल को नरम करता है और लगातार आंत्र आंदोलनों का कारण बनता है, जिससे पेट पूरी तरह से साफ हो जाता है।

    यह वजन कम करने में भी मदद करता है और आपके समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है।

    सामग्री:
    • 1-2 चम्मच सेंधा नमक
    • 1 गिलास गर्म पानी
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • सेंधा नमक को एक गिलास में डालकर अच्छी तरह मिला लें।
    • इस मिश्रण को हर सुबह पीयें।

    इसे प्रतिदिन एक बार इस्तेमाल करें

    ध्यान रखें

    एक हफ्ते से अधिक समय के लिए सेंधा नमक न लें क्योंकि ये आपके लिए नुकसानदायक होता है।

    3. अलसी के बीज

    अलसी पेट साफ़ करने के तरीके में बहुत महत्वपूर्ण है।

    अलसी के बीज ओमेगा-3 फैटी एसिड, फाइबर और एंटीओक्सीडैन्ट्स का प्रचुर स्रोत होते हैं।

    खाली पेट अलसी का नियमित रूप से सेवन करने से पेट साफ़ रहता है।

    सामग्री:
    • 1 बड़ा चम्मच अलसी के बीज का चूर्ण
    • 1 गिलास गर्म पानी
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • अलसी के बीज के चूर्ण को गर्म पानी में मिला लें।
    • इस मिश्रण को नाश्ते से 30 मिनट पहले और रात को सोने से पहले लें।
    • इसमें स्वाद के लिए आप शहद भी डाल सकते हैं।

    इस प्रतिदिन दो बार इस्तेमाल करें

    4. एलो वेरा का रस

    विभिन्न प्रकार के विटामिन्स, मिनरल्स, एन्ज्य्मेस और एंटीओक्सीडैन्ट्स मौजूद होने के कारण एलो वेरा में रेचक और पेट साफ करने के गुण मौजूद होते हैं जो आपके पेट को पूर्णतः साफ़ रखने में सहायक होते हैं।

    सामग्री:
    • 200 मिलीग्राम एलो वेरा जेल
    • 1-2 कप पानी
    • 2 चम्मच नीम्बू का रस
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • नीम्बू के रस को पानी में डाल लें।
    • इसमें 200 मिलीग्राम एलो वेरा जेल डालकर अच्छी तरह पीस लें।
    • इसे फ्रिज में 3-4 घंटे रखें और उसके बाद पी लें।

    इसे थोड़ी थोड़ी मात्रा में दिन में कई बार पीयें।

    5. बेकिंग सोडा

    बेकिंग सोडा का सेवन करने से आपके पेट का पीएच संतुलित रहता है। इसके रेचक गुणों के कारण ये पाचन की समस्याओं से निजात पाने में उपयोगी होता है। 

    सामग्री:
    • 1/2 चम्मच बेकिंग सोडा
    • 1 गिलास गर्म पानी
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • बेकिंग सोडा को गर्म पानी में मिला लें।
    • इस मिश्रण को हर सुबह पीयें

    इसे मिश्रण को प्रतिदिन सुबह पीयें।

    6. नारियल का तेल

    नारियल के तेल में लोरिक एसिड जैसे फैटी एसिड होते हैं जो इसे एंटीओक्सीडैन्ट्स के गुण प्रदान करते हैं।

    ये फैटी एसिड कुछ ही समय में आपके शरीर से विषैले पदार्थ निकाल देते हैं। ये पेट की सफाई करने के साथ पाचन सम्बन्धी समस्याएं भी दूर करता है।

    सामग्री:
    • 2 बड़े चम्मच आर्गेनिक नारियल का तेल
    • नीम्बू का रस(ऐच्छिक)
    • योगर्ट(ऐच्छिक)
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • एक दिन में लगभग 14 बड़े चम्मच आर्गेनिक नारियल के तेल का सेवन कर लें।
    • इस अवधि में कोई भी ठोस आहार न लें, यह लगभग 3-7 दिन तक होती है।
    • इस प्रक्रिया का पालन करने से पहले आप दिन में तीन बार अपने आहार के साथ एक चम्मच नारियल का तेल लें।
    • यदि इसका स्वाद आपको खराब लगे तो आप उसमें नीम्बू का रस या योगर्ट डाल सकते हैं।
    • इस प्रक्रिया का पालन करने से पहले इसके दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी ले लें।

    नारियल के तेल को दिन में कई बार 3-7 दिनों तक लें।

    7. अरंडी का तेल

    अरंडी का तेल एक शक्तिशाली रेचक होता है जो आपकी आँतों की सफाई कर देता है। इसमें मौजूद रिसिनोलिक एसिड में रेचक गुण होते हैं और विषैले पदार्थों को बाहर निकाल फेंकने के गुण होते हैं

    सामग्री:
    • 1-2 बड़े चम्मच अरंडी का तेल
    • 1-2 चम्मच संतरे या नीम्बू का रस(बिना शक्कर युक्त)
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • अरंडी के तेल और संतरे और नीम्बू के रस को सामान मात्रा में मिला लें।
    • इसे सुबह खली पेट पीयें
    • हर 15-30 मिनट के बाद, जब तक आप अपने आंत को कम से कम 2 से 3 बार खाली नहीं कर देते हैं तब तक एक गिलास गर्म पानी पीते हैं।
    • इसके बाद योगर्ट या कोई अन्य डेरी पदार्थ खा लें। इससे आपके बॉविल मूवमेंट रुक जायेंगे।

    इसे 1 या 2 महीने में इस्तेमाल करें।

    ध्यान रखें

    गर्भवती महिलाओं को अरंडी का तेल नहीं लेना चाहिए क्योंकि इससे गर्भपात हो सकता है।

    8. ग्रीन टी

    आपके शरीर को पूर्णतः साफ़ करने के लिए ग्रीन टी एक प्राकृतिक उपाय होता है। इसमें कैतेचिन मौजूद होते हैं जिनमें एंटीओक्सीडैन्ट्स के गुण होते हैं और आपके पेट को साफ़ करने में सहायक होते हैं।

    सामग्री:
    • 1 चम्मच ग्रीन टी
    • 1 कप गर्म पानी
    • शहद(ऐच्छिक)
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • 10 मिनट के लिए ग्रीन टी पानी में उबाल लें।
    • इसे ठंडा होने दें और इसमें शहद डाल लें।
    • इसका सेवन कर लें।

    प्रतिदिन 3-4 कप ग्रीन टी पीयें।

    9. लाल मिर्च

    लाल मिर्च में मौजूद कैप्सैसिन आपकी भूख को कम करता है और आपके बोवेल मूवमेंट को बढ़ाकर आपके शरीर से विषैले पदार्थ निकाल देता है। इसमें एंटीओक्सीडैन्ट के गुण भो होते हैं जो आपके मेटाबोलिज्म का स्तर बढ़ाकर आपके शरीर से विषैले पदार्थ निकाल देते हैं।

    सामग्री:
    • 1/4 चम्मच लाल मिर्च
    • 2 बड़े चम्मच नीम्बू का रस
    • 2 बड़े चम्मच शहद
    • 1 गिलास गर्म पानी
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • लाल मिर्च, नीम्बू का रस और शहद को गर्म पानी में डाल लें।
    • इसे अच्छे से मिला लें और इसका सेवन कर लें।
    • इस दौरान ठोस आहार न लें।

    इसे 10 दिन तक दिन में 6-12 बार लें।

    10. गार्सिनिया कैंबोगिया

    गार्सिनिया कैंबोगिया लेने से आपका मेटाबोलिज्म का स्तर बढ़ जाता है और आपका आहार का स्तर कम हो जाता है।

    यह हाइड्रोक्सीसाइटिस एसिड (एचसीए) नामक यौगिक की मौजूदगी के कारण होता है जो वासा को कम करने में उपयोगी होता है और आपको अतिरिक्त वज़न कम करने में सहायता करता है।

    सामग्री:
    • गार्सिनिया कैंबोगिया के सप्लीमेंट(500 मिलीग्राम)
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • गार्सिनिया कैंबोगिया के सप्लीमेंट लें
    • इसे आप अपने रोज़ के आहार में भी जोड़ सकते हैं।

    इसके सप्लीमेंट को रोज़ कम से कम 1-2 बार लें।

    11. सेब का रस

    सेब फाइबर का उच्च स्रोत होते हैं। यह आपके आँतों की सफाई में मदद करते हैं। इससे आपका वज़न कम हो जाता है और नियंत्रित रहता है। ये पेट में कैंसर के सेल्स का उत्पादन भी रोकता है।

    सामग्री:
    • 1 सेब
    • 1 कप पानी
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • एक सेब लें और उसके टुकड़े कर लें।
    • इन टुकड़ों को पानी के साथ पीस लें।
    • सेब के रस को पी लें।
    • 30 मिनट के बाद, 1 गिलास पानी पी लें।

    3 दिन तक दिन में कई बार इसका सेवन करें।

    12. नीम्बू का पेय

    नीम्बू विटामिन सी से भरपूर होते हैं जो आपके शरीर की सफाई करते हैं और मेटाबोलिज्म का स्तर बढाते हैं।

    ये प्राकृतिक एंटीओक्सीडैन्ट्स होते हैं जो आपके शरीर को फ्री रेडिकल से होने वाली क्षति से बचाते हैं।

    सामग्री:
    • 1/2 नीम्बू
    • 1-2 चम्मच शहद
    • एक चुटकी नमक
    • 1 गिलास गुनगुना पानी
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • आधा नीम्बू निचोड़ लें और इसे एक गिलास गुनगुने पानी में डाल दें।
    • इसमें नमक और शहद डालकर अच्छे से मिला लें।
    • इसका सेवन कर लें।

    इसे प्रतिदिन सुबह खली पेट पीयें।

    13. योगर्ट

    योगर्ट एक प्रक्रितक प्रोबायोटिक होता है। इसका रोज़ सेवन करने से आपके शरीर में प्रोबायोटिक का स्तर संतुलित रहता है जिससे आपका पाचन सुधर जाता है और पेट की सफाई होती है।

    सामग्री:
    • 1 कटोरी सादा योगर्ट
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • इस योगर्ट का सेवन कर लें।

    प्रतिदिन 1-2 बार योगर्ट का सेवन करें।

    14. सेब का सिरका

    सेब के सिरके में एंटीबायोटिक और एंटीओक्सीडैन्ट्स के गुण होते हैं जो पेट को साफ़ और स्वस्थ रखते हैं।

    इसमें मौजूद एसिटिक एसिड आपके पेट में एसिड का स्तर बढ़ाती है, विषैले पदार्थ निकालती है और वज़न कम करने में सहायक होती है।

    सामग्री:
    • 1-2 बड़े चम्मच आर्गेनिक सेब का सिरका
    • 1-2 बड़े चम्मच शहद
    • 1 गिलास गर्म पानी
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • सेब का सिरका गुनगुने पानी में डाल लें।
    • इसमें शहद डाल लें और अच्छे से मिला लें।
    • इस मिश्रण को हर रोज़ पीयें।

    इसे प्रतिदिन एक बार पीयें।

    15. कच्ची सब्जियों का रस

    कच्ची सब्जियों का रस पीने से आपके पूरे शरीर की सफाई हो जाती है और विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं।

    इससे आपके वज़न में गिरावट आएगी और आपकी त्वचा अधिक चमकदार हो जाएगी।

    सामग्री:
    • पालक या चुकन्दर या गाजर या टमाटर या खीरा
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • इन सब्जियों में से कोई एक या कुछ सब्जियां मिलाकर पीस लें।

    इसे दिन में कई बार पीयें।

    ध्यान रखें

    बाज़ार में मिलने वाले कैंड जूस न पीयें क्योंकि इनमें ज़रूरी पोषक तत्व नहीं होते हैं।

    16. समुद्री नमक

    समुद्री नमक का सेवन करने से आपके बोवेल मूवमेंट बढ़ जाते हैं और कई प्रकार के विषैले पदार्थ, बैक्टीरिया और एकत्रित मल बाहर निकल जाता है।

    सामग्री:
    • 1 बड़ा चम्मच समुद्री नमक
    कैसे इस्तेमाल करें?
    • 1 बड़ा चम्मच समुद्री नमक एक गिलास पानी में डालकर उबाल लें।
    • इस मिश्रण को सुबह पी लें।
    • इसे लेने के बाद अपने पेट की नीचे की दिशा में मालिश कर लें।

    इसे हर सुबह खाली पेट लें।

    प्राकृतिक तरीके से पेट की सफाई करने में आपके पेट में एकत्रित गन्दगी को विभिन्न तरीकों से बाहर निकाला जाता है। इसके मुख्य रूप से दो तरीके होते हैं:

    • पहले तरीके में आप सप्लीमेंट खा लेते हैं जिससे आपके पेट की सफाई हो जाती है। ऐसे सप्लीमेंट आपको आसानी से बाज़ार में मिल जाते हैं।
    • दूसरी विधि में डॉक्टर आपके पेट की सफाई करता है। इसके लिए आपके मलाशय में एक छोटा ट्यूब डालकर पानी निकाला जाता है

    स्वास्थ्य सम्बन्धी जोखिम और इसके दुष्प्रभाव

    • चक्कर आना
    • आपके शरीर में खनिज का असंतुलन
    • जी मिचलाना और उल्टियाँ
    • दर्द
    • आंत्र छिद्र
    • एलर्जी और संक्रमण
    • उपयोगी बैक्टीरिया का शरीर से निकल जाना
    • किडनी में खराबी

    पेट साफ़ करने के अन्य तरीके

    • फाइबर से भरपूर भोजन का सेवन करें। इसमें अनाज, ओटमील, ब्रान, फल और सब्जियां शामिल हैं।
    • पेय पदार्थों का सेवन अधिक करें
    • तम्बाकू न खाएं।
    • शराब कम पीयें।
    • 50 की उम्र पर पहुँचने पर नियमित रूप से कैंसर की जाँच कराएं।

    इस लेख में हमनें पेट साफ़ करने के तरीके आपको बताये। ये उपाय पूरी तरह से घरेलु उपाय हैं, जिन्हें आप आसानी से कर सकते हैं।

    इस विषय से सम्बन्धी यदि आपके कोई सवाल या सुझाव हैं, तो आप नीचे कमेंट में हमनें बताएं।

    2 thoughts on “पेट साफ कैसे करें? घरेलु उपाय और तरीके”
    1. maine bahut koshish kii lekin meraa pet saaf nahin hua kripyaa meri help karen meraa pet kharaab rehtaa hai .

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *