Fri. Jul 19th, 2024
    पेट्रोल डीजल कीमत

    भारत में इस समय महंगे पेट्रोल और डीजल की वजह से लोग परेशान हैं। कई लोग ऐसे में अपने वाहनों को छोड़कर साइकिल जैसे उपाय अपना रहे हैं।

    इसके अलावा लोग अपनी कार में एसी को बंद रख रहे हैं, जिससे इंधन कम खर्च हो। कई लोग तो राज्यों के बॉर्डर पर सिर्फ पेट्रोल भरवाने के लिए जा रहे हैं।

    जाहिर है इस महीने के शुरुआत में पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों की वजह से लोगों नें जमकर प्रदर्शन किया था। कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों में इसमें भाग लिया था और सरकार को घेरा था।

    10 सितम्बर को इसी कारण से भारत बंद था, जिससे कई राज्यों में स्कूल, कॉलेज और कार्यालय बंद रहे थे।

    सरकार नें पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों में लिए वैश्विक कारण बताये हैं। सरकार के मुताबिक कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों की वजह से पेट्रोल, डीजल की कीमत बढ़ रही है।

    ओडिशा के एक कैब ड्राईवर कल्याण चक्रबर्ती नें बताया कि वे अक्सर अपनी चार का एसी बंद कर देते हैं, जिससे 1-2 लीटर तेल बचाया जा सके।

    दिल्ली के ब्रज नंदन नें बताया कि उनके पास सिर्फ एक स्कूटर था, जिसके बदले में उन्होनें अब साइकिल इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है।

    नंदन नें बताया, “मेरे इंधन का बिल बढ़ता ही जा रहा था और जब यह 2000 रुपए महीने से ज्यादा हो गया था, तो मैंने स्कूटर छोड़ दिया था।”

    आपको बता दें कि मुंबई और दिल्ली जैसे बड़े शहरों में पेट्रोल और डीजल की कीमतें सबसे ज्यादा हैं।

    गुवाहाटी के एक ट्रक चालक अनिरुद्ध बोरा नें बताया कि वे तेल पर कुछ पैसे बचाने के लिए राज्य की सीमा को पार करते हैं।

    उन्होनें बताया, “मैं मेघालय राज्य में ट्रक चलाता हूँ। तेल बचाने के लिए मैं दुसरे राज्य में प्रवेश करता हूँ, जिससे प्रति 100 लीटर तेल पर मैं 400 रुपए बचाता हूँ।”

    गौरतलब है, कि राजस्थान, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों नें तेल की कीमतों में कुछ कटौती की है। हाल ही में कर्नाटक सरकार नें भी तेल की कीमतों में 2 रुपए की कटौती की थी।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *