मंगलवार, नवम्बर 12, 2019

पृथ्वी शॉ: रिकी पोंटिग-सौरव गांगुली से मानसिक पहलुओं के बारे में बहुत कुछ सीखा

Must Read

मप्र : शिवपुरी में स्वच्छ भारत मिशन का शौचालय ढहा, 2 आदिवासी बच्चों की मौत

भोपाल, 12 नवंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए गए शौचालय के...

आयात एक्सपो में काफी संख्या में अमेरिकी प्रदर्शक

बीजिंग, 12 नवंबर (आईएएनएस)। चीन अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सपो की आयोजन समिति द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, वर्तमान एक्सपो में...

भाजपा महासचिव ने फडणवीस को बताया मैन ऑफ द मैच, शिवसेना पर साधा निशाना

नई दिल्ली, 12 नवंबर,(आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के महासचिव(संगठन) बीएल संतोष ने महाराष्ट्र में अब तक के राजनीतिक घटनाक्रम...
अंकुर पटवाल
अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने हाल ही में संपन्न इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान दिग्गज रिकी पोंटिंग और सौरव गांगुली से खेल के मानसिक पहलू के बारे में बहुत कुछ सीखा है।

शॉ आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स की फ्रेंचाईजी में दो पूर्व कप्तान के अंडर में खेल रहे थे- कोच रिकी पोंटिग और सलाहकार सौरव गांगुली।

टी-20 मुंबई लीग के साइडलाइंस से युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने कहा, ” मुझे रिकी पोंटिग और सौरव गांगुली के अंडर में खेलते हुए बहुत कुछ सीखने को मिला है। दोनो ने 15-20 साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला है और दोनो के पास विश्व के हर कौने में खेलने का अनुभव है। यह ऐसा नही है कि हमें केवल तीन या चार चीजे सीखने को मिली हो, हमें यहां मानसिक रुप से बहुत कुछ सीखने को मिला है।”

” उन्होने कभी भी तकनीक और अन्य चीजो के बारे में बात नही की,  उन्होने हमें मैच दर मैच रणनीतियो के बारे में बताया ना कि हमारी कौशलता के बारे में। इसलिए उन्होंने हमें मानसिक रूप से मदद की, हमें मजबूत होने के लिए तैयार किया।”

19 वर्षीय खिलाड़ी ने आगे कहा, ” एक युवा के रुप में आईपीएल खेलना मेरे लिए बहुत बड़ी बात है। मैं पहले चिंतित था लेकिन उन्होने शांत होने में मेरी मदद की।”

शॉ जो इस समय मुंबई टी-20 लीग में नॉर्थ मुंबई पेंथर्स की कप्तानी कर रहे है, वह स्वीकार करते है कि वह एक अच्छे फिल्डर नही है और वह इस पर काम कर रहे है क्योंकि राष्ट्रीय टीम में जगह बनाने के लिए फिल्डिंग बहुत महत्वपूर्ण है।

शॉ ने कहा, ” टी-20 क्रिकेट में फिल्डिंग बहुत महत्वपूर्ण है। जब मैं अंडर-14 और 16 खेलता था तब मैं एक फिल्डर के साथ-साथ एक खराब कप्तान भी था। लेकिन बाद मैं मुझे एहसासा हुआ अगर मुझे भारत की टीम से खेलना है तो फिल्डिंग एक महत्वपूर्ण तत्व है और मुझे इसे सुधारना होगा। और तब से मैंने इसे सुधारा है और मैंन भारतीय टीम के लिए भी अच्छा किया है।”

भारत के दो ओपनर बल्लेबाजो पर पृथ्वी ने कहा, ” जब मैंने रोहित और शिखर भाई के साथ खेलना तो इन दोनो के साथ खेलना मेरे लिए आरामदायक था। इन दोनो के साथ खेलना मेरे लिए बड़ी बात है।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

मप्र : शिवपुरी में स्वच्छ भारत मिशन का शौचालय ढहा, 2 आदिवासी बच्चों की मौत

भोपाल, 12 नवंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए गए शौचालय के...

आयात एक्सपो में काफी संख्या में अमेरिकी प्रदर्शक

बीजिंग, 12 नवंबर (आईएएनएस)। चीन अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सपो की आयोजन समिति द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, वर्तमान एक्सपो में अमेरिकी प्रदर्शनी क्षेत्र लगभग 47,500...

भाजपा महासचिव ने फडणवीस को बताया मैन ऑफ द मैच, शिवसेना पर साधा निशाना

नई दिल्ली, 12 नवंबर,(आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के महासचिव(संगठन) बीएल संतोष ने महाराष्ट्र में अब तक के राजनीतिक घटनाक्रम में देवेंद्र फडणवीस को मैन...

चिप से स्मार्टफोन को बनाएं कार की चाभी

नई दिल्ली, 12 नवंबर (आईएएनएस)। एनएक्सपी सेमीकंडक्टर ने मंगलवार को घोषणा करते हुए कहा कि उसने अपने अल्ट्रा-वाइडबैंड (यूडब्ल्यूबी) चिप को नए ऑटोमोटिव इंटिग्रेटेड...

झारखंड : 50 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी लोजपा, जारी किए 5 उम्मीदवारों के नाम (लीड-2)

नई दिल्ली, 12 नवंबर (आईएएनएस)। केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अगुआई वाले सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल लोक जनशक्ति पार्टी...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -