शनिवार, सितम्बर 21, 2019

पुलवामा आतंकी हमला: गौतम गंभीर ने भारतीय सेना के प्रति कट्टर समर्थन व्यक्त किया

Must Read

विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप : बजंरग ने जीता कांस्य (लीड-1)

नूर-सुल्तान (कजाकिस्तान), 20 सितम्बर (आईएएनएस)। सेमीफाइनल मुकाबले में हार से निराश होने वाले भारत के पहलवान बजंरग पुनिया ने...

आईडेमिट्सु होण्डा टीम ने एआरआरसी के सेपांग राउंड में कड़ा मुकाबला किया

सेपांग, 20 सितम्बर (आईएएनएस)। आईडेमिट्सु होण्डा रेसिंग इंडिया टीम के राइडर राजीव सेथु और संेथिल कुमार ने शुक्रवार को...

विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप : बजरंग, रवि के गले में कांसा, सुशील खाली हाथ लौटे (राउंडअप इंट्रो)

नूर-सुल्तान (कजाकिस्तान), 20 सितम्बर (आईएएनएस)। सेमीफाइनल मुकाबले में हार से निराश होने वाले भारत के पहलवान बजंरग पुनिया ने...
अंकुर पटवाल
अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना के लिए हर संभव मदद कर रहे है और अब उन्होने हर स्तर पर भारतीय सेना के लिए अपना समर्थन व्यक्त किया है।

बाएं हाथ के इस व्यक्ति ने ट्विटर पर एक पोस्ट साझा किया जिसमें सेना के जवानों की भावनाओं से मेल खाने की इच्छा, कंधे से कंधा मिलाकर चलने की इच्छा का संकेत दिया है।

उन्होने ट्विट करते हुए लिखा, ” भारतीय सेना ने यह जंग भी शुरू नहीं की, लेकिन वे इसे अच्छी तरह से खत्म कर देंगे और मैं उनके साथ भावना-से-भावना, कंधे से कंधा मिलाकर चलूंगा।”

गंभीर ने हाल ही में एक बुक लॉन्च के दौरान बताया था कि ‘भाग्य’ से सेना उनका पहला प्यार था, लेकिन 12वीं कक्षा में रणजी ट्रॉफी खेलने के बाद वह क्रिकेट से जुड़ गए थे।

गंभीर ने पीटीआई के हवाले से कहा था, “यह शुद्ध नियति थी और मैंने 12 वीं (मानक) में रणजी ट्रॉफी नहीं खेली थी, मैं निश्चित रूप से एनडीए में चला गया होता क्योंकि यह मेरा पहला प्यार था और यह अभी भी मेरा पहला प्यार है। वास्तव में, यह जीवन में मेरा एकमात्र अफसोस है।

उन्होंने कहा, “जब मैंने क्रिकेट में प्रवेश किया तो मैंने फैसला किया कि अब जो सबसे अच्छा काम कर सकता हूं, वह अपने पहले प्यार के लिए योगदान देना होगा…और मैंने इस नींव की शुरुआत की जो सभी शहीदों के बच्चो की देखभाल करते है।”

गुरुवार को पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए, जिन्हें कश्मीर में सुरक्षा बलों पर अब तक का सबसे घातक हमला करार दिया गया। पाकिस्तान समर्थित जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर ने श्रीनगर-जम्मू-कश्मीर राजमार्ग पर सीआरपीएफ कर्मियों को ले जाने वाले काफिले को निशाना बनाया।

प्रधान मंत्री ने इस हमले को “नीच” बताते हुए कड़ी निंदा की और कहा, “हमारे बहादुर सुरक्षाकर्मियों के बलिदान व्यर्थ नहीं जाएंगे। पूरा देश बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप : बजंरग ने जीता कांस्य (लीड-1)

नूर-सुल्तान (कजाकिस्तान), 20 सितम्बर (आईएएनएस)। सेमीफाइनल मुकाबले में हार से निराश होने वाले भारत के पहलवान बजंरग पुनिया ने...

आईडेमिट्सु होण्डा टीम ने एआरआरसी के सेपांग राउंड में कड़ा मुकाबला किया

सेपांग, 20 सितम्बर (आईएएनएस)। आईडेमिट्सु होण्डा रेसिंग इंडिया टीम के राइडर राजीव सेथु और संेथिल कुमार ने शुक्रवार को यहां सेपांग इंटरनेशनल सर्किट में...

विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप : बजरंग, रवि के गले में कांसा, सुशील खाली हाथ लौटे (राउंडअप इंट्रो)

नूर-सुल्तान (कजाकिस्तान), 20 सितम्बर (आईएएनएस)। सेमीफाइनल मुकाबले में हार से निराश होने वाले भारत के पहलवान बजंरग पुनिया ने शुक्रवार विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप में...

सामान्य से अधिक हो सकता है खरीफ फसलों का रकबा : सचिव (लीड-1)

नई दिल्ली, 20 सितम्बर (आईएएनएस)। केंद्रीय कृषि सहकारिता एवं किसान कल्याण सचिव संजय अग्रवाल ने शुक्रवार को कहा कि मानसून सीजन के आरंभ में...

चीन में राजनीति में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ा

बीजिंग, 20 सितम्बर (आईएएनएस)। चीन में राजनीति में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ा है। गत वर्ष पूरे चीन की सरकारी संस्थाओं के नेताओं में महिला...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -