दा इंडियन वायर » खेल » पीवी सिंधु: ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप में रिकार्ड तोड़ने के लिए कड़ी महनत कर रही हूँ
खेल

पीवी सिंधु: ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप में रिकार्ड तोड़ने के लिए कड़ी महनत कर रही हूँ

पीवी सिंधु

ओलंपिक रजत पदक विजेता पी वी सिंधु ने बुधवार को कहा कि उनके पास सीखने के लिए अभी भी बहुत कुछ है और विश्व बैडमिंटन पर हावी होने के लिए अपने प्रदर्शनों की सूची में कुछ और शॉट्स जोड़ने की जरूरत है।

ओलंपिक, विश्व चैम्पियनशिप, एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों सहित सभी प्रमुख टूर्नामेंटो में रजत पदक के साथ, सिंधु पिछले तीन वर्षों में दुनिया में एक जबरदस्त ताकत रही है।

लेकिन फिर भी विश्व में वह नंबर एक नही बन पायी क्योंकि चीनी ताइपे की ताई त्ज़ु यिंग ने 2106 के बाद अब तक 14 खिताबो पर कब्जा किया है।

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें विश्व बैडमिंटन पर हावी होने के लिए स्ट्रोक और तरकीब़ को जोड़ना होगा, सिंधु ने कहा: “निश्चित रूप से हां। यह केवल मेरे लिए शुरुआत है। मेरे पास सीखने के लिए और भी बहुत कुछ है। मेरे पास अच्छे स्ट्रोक हैं लेकिन मुझे रोज नए स्ट्रोक सीखते रहना होगा।”

सिंधु ने आगे कहा, ” लेकिन मुझे लगता है केवल एक खिलाड़ी बैडमिंटन पर हावी नही हो सकता है, क्योंकि अब खेल में कई बदलाव आ गए है और कई नए खिलाड़ी भी आ गए है।  इसके अलावा, किसी विशेष दिन पर, आपको 100 प्रतिशत होना चाहिए, यहां या यहां 1% भी नहीं हो सकता है, यदि आप दुनिया में 1 से 20 तक गिनती करते हैं, तो सभी एक ही मानक हैं, इसलिए हर समय ध्यान केंद्रित करना होगा।”

ऑल इंग्लैंड ट्रॉफी के खिताब पर कब्जा करने वालो में से एक सिंधु ने कहा, वह 18 साल के लंबे रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए कठिन परिश्रम कर रही है।

सिंधु ने आगे कहा, ” इस सप्ताह के बाद, ऑल इंग्लैंड के लिए केवल और दो सप्ताह बाकि रह जाएंगे। मैं जानती हूं कि कैरोलिना मारिन इंजरी के कारण टूर्नामेंट से बाहर है लेकिन यह फिर भी आसान नही है क्योंकि यह पर और भी कई अच्छे खिलाड़ी होंगे और उस दिन जो अपना सर्वश्रेष्ठ देगा वह जीतेगा।”

23 साल की खिलाड़ी ने आगे कहा, ” प्रत्येक दौर तुलनात्मक रूप से बहुत कठिन होगा। हर अंक मेरे लिए महत्वपूर्ण होगा। मुझे पहले राउंड में सुंग जी ह्यून के खिलाफ खेलना है और यही से फोकस करना मेरे लिए महत्वपूर्ण होगा।”

About the author

अंकुर पटवाल

अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!