पीडीपी-कांग्रेस-नेशनल कॉन्फ्रेंस के गठबंधन को पाकिस्तान प्रायोजित बता राम माधव बैकफुट पर

ram-madhav

जम्मू और कश्मीर में सरकार बनाने के लिए पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस के साथ आने को पाकिस्तान प्रायोजित और आतंक समर्थक बता कर भाप नेता राम माधव अब बैकफुट पर आ गए हैं। आरोपों से तिलमिलाए उमर अब्दुल्ला ने आरोप सिद्ध करने और कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी तो राम माधव को युद्ध विराम की मुद्रा में आना पड़ा और ट्वीट कर मामले को सँभालने की कोशिश की।

सरकार बनाने के लिए पीडीपी, नेशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस के संभावित गठबंधन के चर्चाओं में आने के बाद जब राजयपाल ने विधानसभा भंग कर दी तो भाजपा नेता राम माधव ने ट्वीट किया था कि राज्य के स्थानीय चुनावों का पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने बहिष्कार किया था और अब अचानक से सरकार बनाने के लिए दोनों साथ आ रहे हैं। उन्होंने पाक प्रायोजित और आतंक समर्थक गठबंधन को रोकने के लिए विधानसभा भंग करने के राजयपाल के फैसले का समर्थन किया था।

माधव के ट्वीट पर उमर अब्दुल्ला ने काफी नाराजगी जताते हुए आरोपों को सिद्ध करने की चेतावनी दी। उमर ने कहा कि ये आरोप अपमानजनक है मानहानि की श्रेणी के हैं। उन्होंने कहा कि 3000 से ज्यादा पार्टी कार्यकर्ताओं ने देश के लिए शहादत दी है। भाजपा से ज्यादा नेशनल कॉन्फ्रेंस के कार्यकर्ताओं ने अपनी ज़िन्दगी कुर्बान की है कश्मीर के लिए। उमर की नाराजगी के बाद राम माधव ने अपने आरोपों को वापस ले लिया और बात सँभालने की कोशिश की।

माधव के आरोपों को महबूबा मुफ़्ती ने हास्यास्पद बताते हुए कहा कि गैर भाजपा पार्टियां और गठबंधन एंटी नेशनल है सिर्फ उनके साथ जो है वही देशभक्त है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here