Sun. Jan 29th, 2023
    पीओके पाकिस्तान सरकार

    पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर यानी पीओके में इस समय आम जनता और सरकार के बीच भारी तनातनी है। ताजा जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान की सरकार नें पीओके से प्राकृतिक संसाधनों को तेज गति से निकालना शुरू कर दिया है, जिससे आम लोगों के जन-जीवन पर प्रभाव पड़ रहा है।

    वर्तमान तनातनी की वजह यह है कि पाकिस्तान सरकार नें नीलम नदी के पानी को मोड़कर पंजाब प्रांत की ओर कर दिया है। इससे पीओके में रह रहे लोगों को मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है।

    इसके चलते आज लोगों नें मुजफराबाद में सड़कों पर उतारकर सरकार के विरोध में अपना गुस्सा जताया। विरोधकर्ताओं नें पाकिस्तान की सरकार और पानी प्रदान करने वाली संस्था के विरोध में नारे लगाये।

    आपको बता दें कि पाकिस्तान का पंजाब प्रान्त सबसे विकसित इलाका है। इसके विकसित होने के बावजूद इस इलाके में पानी और अन्य प्राकृतिक संसाधनों की कमी है। ऐसे में सरकार की कोशिश है कि पीओके जैसे इलाकों से पानी को यहाँ शिफ्ट किया जाए।

    विरोध प्रदर्शन के दौरान एक व्यक्ति नें बताया, “पानी के संसाधनों के खाली होनें से हमारी जिन्दगी पर असर पड़ेगा क्योंकि नदियाँ सुख जायेंगी। नागरिकों को पानी की कमी झेलनी पड़ेगी और जीवन नष्ट हो जाएगा। हम रावलपिंडी से मुजफराबाद आये हैं, ताकि इस समस्या का हल हो सके। यह बहुत दुखद है।”

    इससे पहले भी आपको बता दें कि पाक अधिकृत कश्मीर में पाकिस्तानी सरकार के खिलाफ नारे लगना आम बात है। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में रह रहे लोगों पर आये दिन पाकिस्तानी सेना जुल्म करती है। लोग अक्सर सड़कों पर आकर इसके खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर करते हैं।

    हाल ही में एक खबर आई थी, जिसमें सीपीईसी योजना के तहत निर्माण कार्य होने की वजह से पीओके के लोगों को समस्याएं हो रही थी। इसके बाद बहुत प्रदर्शन आदि हुए, जिसके बाद कुछ समय के लिए निर्माण कार्य को बंद करना पड़ा था।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *