मंगलवार, नवम्बर 12, 2019

पाकिस्तान का स्वायत्त राज्यों में पुनर्गठन करे या मौजूदा खतरे का सामना करने को रहे तैयार: वोइस ऑफ़ कराची के अध्यक्ष

Must Read

मप्र : शिवपुरी में स्वच्छ भारत मिशन का शौचालय ढहा, 2 आदिवासी बच्चों की मौत

भोपाल, 12 नवंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए गए शौचालय के...

आयात एक्सपो में काफी संख्या में अमेरिकी प्रदर्शक

बीजिंग, 12 नवंबर (आईएएनएस)। चीन अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सपो की आयोजन समिति द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, वर्तमान एक्सपो में...

भाजपा महासचिव ने फडणवीस को बताया मैन ऑफ द मैच, शिवसेना पर साधा निशाना

नई दिल्ली, 12 नवंबर,(आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के महासचिव(संगठन) बीएल संतोष ने महाराष्ट्र में अब तक के राजनीतिक घटनाक्रम...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

अमेरिका के एडवोकेसी समूह के चेयरमैन नदीम नुसरत ने इस्लामाबाद को चेतावनी दी कि पाकिस्तान को कई स्वायत्त राज्यों में पुनर्निर्मित करे क्योंकि उसे बचाने का सिर्फ यही समाधान है। स्वायत्त राज्यों का निर्माण साल 1940 के लाहौर अधिवेशन के तहत होना चाहिए। यह समझौता भारत का भी स्वायत्त राज्यों में निर्माण करने की अनुमति देता है।

पाकिस्तान के रक्षा दिवस पर एक विशेष सन्देश देते हुए मोहाजिर नेता ने कहा कि “बीते 72 सालो के इतिहास ने, खासकर बांग्लादेश के निर्माण ने यह साबित कर दिया है कि पाकिस्तान एक राष्ट्र नहीं बन सकता है और इसका कारण अन्य संजातीय समूहों पर पंजाब की नेतृत्व भी है।”

पाकिस्तान के संस्थापको ने भी इस खतरे को भांप लिया था और सिलिये स्वतंत्र राज्यों के निर्माण की थी। 1940 के संसोधन को अपने बयान से बताया कि भूगौलिक मिले हुए सीमांकित इलाकों को संघठित होना चाहिए और ऐसे क्षेत्रीय पुनर्निर्माण शायद जरुरी है खासकर ऐसे इलाको के लिए जहां मुस्लिम बहुसंख्यक है। भारत को संघठित स्वतंत्र राज्यों का समूह होना चाहिए था और जिसमे संवैधानिक इकाइयों को संप्रभु और स्वायत्त होना चाहिए।”

उन्होंने कहा कि “1940 अधिवेशन एक पुख्ता सबूत है कि पाकिस्तान की मौजूदा प्रशासनिक संरचना उसकी संस्थापक सदस्यों की असल इच्छाओं का घोर उल्लंघन है और यह इस विश्वासघात के बारे में बताने का समय है। पाकिस्तान का मौजूदा खतरा भारत, अफगानिस्तान, इजराइल या अमेरिका से नहीं बल्कि उसके खुद के घर से उभर रहा है।”

जेहादी सेनाओं की संख्या में तीव्र वृद्धि, धार्मिक असहिष्णुता, आतंकी ढाँचे, संजातीय विभाजन, नागरिक मामले में पाकिस्तानी सेना की निरंतर दखलंदाज़ी, चुनाव परिणामो पर सेना का दबदबा, भ्रष्टाचार और बुरा शासन ही पाकिस्तान की अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है।

उन्होंने कहा कि “पाकिस्तान का सिंय नेतृत्व शायद इस बात पर कभी चर्चा न करे लेकिन यह तथ्य हमेशा रहेगा कि उन्होंने भारत के खिलाफ सभी जंगो में शिकस्त खायी है।”

 

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

मप्र : शिवपुरी में स्वच्छ भारत मिशन का शौचालय ढहा, 2 आदिवासी बच्चों की मौत

भोपाल, 12 नवंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए गए शौचालय के...

आयात एक्सपो में काफी संख्या में अमेरिकी प्रदर्शक

बीजिंग, 12 नवंबर (आईएएनएस)। चीन अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सपो की आयोजन समिति द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, वर्तमान एक्सपो में अमेरिकी प्रदर्शनी क्षेत्र लगभग 47,500...

भाजपा महासचिव ने फडणवीस को बताया मैन ऑफ द मैच, शिवसेना पर साधा निशाना

नई दिल्ली, 12 नवंबर,(आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के महासचिव(संगठन) बीएल संतोष ने महाराष्ट्र में अब तक के राजनीतिक घटनाक्रम में देवेंद्र फडणवीस को मैन...

चिप से स्मार्टफोन को बनाएं कार की चाभी

नई दिल्ली, 12 नवंबर (आईएएनएस)। एनएक्सपी सेमीकंडक्टर ने मंगलवार को घोषणा करते हुए कहा कि उसने अपने अल्ट्रा-वाइडबैंड (यूडब्ल्यूबी) चिप को नए ऑटोमोटिव इंटिग्रेटेड...

झारखंड : 50 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी लोजपा, जारी किए 5 उम्मीदवारों के नाम (लीड-2)

नई दिल्ली, 12 नवंबर (आईएएनएस)। केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अगुआई वाले सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल लोक जनशक्ति पार्टी...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -