गुरूवार, अक्टूबर 24, 2019

पाकिस्तान: सिंध के शिव मंदिर का दौरा करेंगे इमरान खान

Must Read

दिल्ली : कानून का चाबुक चला तो दमे के मरीज-बुजुर्ग भी रौशन कर लेंगे दिवाली (आईएएनएस एक्सक्लूसिव)

नई दिल्ली, 24 अक्टूबर (आईएएनएस)। कानून और पुलिस का चाबुक अगर कायदे से चल गया तो राष्ट्रीय राजधानी में...

उप्र : उपचुनाव के नतीजे विपक्षियों के भविष्य का करेंगे फैसला

लखनऊ , 24 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में 11 सीटों पर हुए विधानसभा उपचुनाव के नतीजे समाजवादी पार्टी (सपा),...

बैडमिंटन : सायना की संघर्षपूर्ण जीत, कश्यप, श्रीकांत और समीर पहले दौर में बाहर (लीड-1)

पेरिस, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। सायना नेहवाल ने यहां जारी फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पहले दौर में मिली संघर्षपूर्ण...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

पाकिस्तान के प्रध्जन्मन्त्री इमरान खान सिंह के थारपारकर जिले के श्गिव मंदिर का दौरा करेंगे। इस यात्रा के दौरान इमरान खान स्थानीय हिन्दू समुदाय को संबोधित करेंगे। यह यात्रा ऐसे समय पर सामने आई हिया जब पाकिस्तानी सरकार ले खिलाफ हिन्दू और सिख समुदाय मानव अधिकार के मामले पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

पाकिस्तान के निर्माण के बाद मुल्क में हिन्दुओ और सिखों को तादाद काफी रही थी लेकिन बीते वक्त के साथ दोनों ही समुदाय अब अल्पसंख्यको की श्रेणी में आते हैं। धार्मिक आधार पर अल्पसंख्यक समुदाय के इन आंदोलनों के कारण ही बीते दिनों इमरान खान की अमेरिका यात्रा के दौरान लगभग दस अमेरिकी सांसदों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को पत्र लिख मानवाधिकार उल्लंघन का मुद्दा उठाने को कहा था।

इस पत्र में डोनाल्ड ट्रंप को आगाह किया था कि पाकिस्तान के सिंध प्रांत में पाक सेना न सिर्फ अल्पसंख्यकों का दमन कर रही है, बल्कि विरोध करने वालों को गैरकानूनी तरीके से गिरफ्तार किया जा रहा है। इसके अलावा पत्र में हिन्दू और ईसाई लड़कियों के जबरन धर्म परिवर्तन का मसला भी उठाया गया था।

पाक में अल्पसंख्यको की हालत में सुधार के लिए राज्य की तरफ से अधिक होना चाहिए, हिन्दू मंदिरों के पुनर्निर्माण के साथ ही अन्य कार्य करने की भी जरुरत है।

इमरान खान ने कहा था कि यदि वह अल्पसंख्यको पर दमन पर लगाम लगाने में असफल रहेंगे तो प्रधानमंत्री के पद से त्यागपत्र देने में नहीं हिचकेंगे। अब उनके पीएम बनने के बाद भी पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है।

विश्लेषको के मुताबिक, भारत में भाजपा और आरएसएस पर अल्पसंख्यक मुस्लिमों कथित दमन पर निशाना साधने के लिए इमरान खान हिंदुओं को न सिर्फ संबोधित करेंगे, बल्कि शिव मंदिर भी जाएंगे।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली : कानून का चाबुक चला तो दमे के मरीज-बुजुर्ग भी रौशन कर लेंगे दिवाली (आईएएनएस एक्सक्लूसिव)

नई दिल्ली, 24 अक्टूबर (आईएएनएस)। कानून और पुलिस का चाबुक अगर कायदे से चल गया तो राष्ट्रीय राजधानी में...

उप्र : उपचुनाव के नतीजे विपक्षियों के भविष्य का करेंगे फैसला

लखनऊ , 24 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में 11 सीटों पर हुए विधानसभा उपचुनाव के नतीजे समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और...

बैडमिंटन : सायना की संघर्षपूर्ण जीत, कश्यप, श्रीकांत और समीर पहले दौर में बाहर (लीड-1)

पेरिस, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। सायना नेहवाल ने यहां जारी फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पहले दौर में मिली संघर्षपूर्ण जीत के बाद दूसरे दौर...

उत्तराखंड पंचायत चुनाव में रावत व योगी के गृह जनपद में भाजपा पर भारी पड़ी कांग्रेस

देहरादून 23 अक्टूबर, (आईएएनएस)। उत्तराखंड में हुए पंचायत चुनाव में सबसे चौंकाने वाला नतीजा पौड़ी जिले का रहा है। यहां जिला पंचायत सीटों के...

गैर-तेल क्षेत्र की कंपनियों के लिए भी खुला पेट्रोल, डीजल की बिक्री का द्वार

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल की खुदरा बिक्री के नियमों को सरल बनाते हुए बुधवार को सभी कंपनियों...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -