सोमवार, जनवरी 27, 2020

पाकिस्तान के सिंध प्रान्त से एक और हिन्दू लड़की अगवा, धर्मपरिवर्तन को किया मजबूर

Must Read

ताइवान में कोरोनावायरस संबंधी मामले बढ़कर 4 हुए

ताइपे, 27 जनवरी (आईएएनएस)| ताइवान की एक और महिला के कोरोनोवायरस (Corona Virus) से संक्रमित होने की पुष्टि हुई...

अरविंद केजरीवाल के निर्वाचन क्षेत्र के 11 उम्मीदवारों की याचिका पर सुनवाई को हाईकोर्ट सहमत

नई दिल्ली, 27 जनवरी (आईएएनएस)| दिल्ली हाईकोर्ट नई दिल्ली विधानसभा के लिए नामांकन करने से रोके गए 11 उम्मीदवारों...

आरएसएस का पहला सैनिक स्कूल उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में

लखनऊ, 27 जनवरी (आईएएनएस)| राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) द्वारा संचालित पहला सैनिक स्कूल उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में इस...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

पाकिस्तान के दक्षिण पूर्वी प्रान्त सिंध से एक और हिन्दू लड़की का अपहरण एक मुस्लिम व्यक्ति ने कर लिया है और लड़की के परिवार ने आरोप लगाया कि युव्तो को जबरन इस्लाम धर्म कबूल करवाया गया है। इससे पहले उत्तरी सिंध के घोटकी गाँव से ताल्लुक रखने वाली हिन्दू छात्रा नम्रता चांदनी की हत्या कर दी गयी थी।

चांदनी बीते हफ्ते अपने कमरे में चारपाई पर पड़ी हुई मिली थी और उनके गले में एक रस्सी बंधी हुई थी। उनका कमरा भी अन्दर की तरफ से बंद था। नम्रता के भाई विशाल ने कहा कि शुरूआती जांच को देखकर लग रहा था कि यह एक हत्या है। हालाँकि पुलिस और विभाग इसे खुदखुशी का मामला करार दे रहे थे।

नम्रता की मौत की गुत्थी ने जबरन धर्मपरिवर्तन के मामले को भी उठाया था। जबरन धर्मांतरण के हालिया मुद्दों ने पाकिस्तान में धार्मिक उत्पीडन के मामलो को रेखांकित किया है। हर वर्ष 12 से 28 वर्ष तक की करीब 1000 युवा सिंध लडकियों को अगवा किया जाता है। उनका जबरन इस्लाम में धर्मांतरण कर मुस्लिम युवको से शादी करने के लिए मजबूर किया जाता है।

पाकिस्तान में हाल ही में ऐसे कई मामले हुए हैं जिसमे हिन्दू, सिंख और ईसाई लडकियों का इस्लाम में जबरन धर्मांतरण किया जाता है और उनका निकाह मुस्लिम पुरुषो से कर दिया जाता है। पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री इमरान खान कश्मीर में अत्याचार रोकने के लिए चीन की सहायता की मांग कर रहे हैं।

भारत ने जम्मू कश्मीर से विशेष राज्य के दर्जे को हटा लिया था और इसके बाद से ही भारत और पाकिस्तान के सम्बन्ध तनावपूर्ण है। इमरान खान ने कश्मीर मामले का अन्तरराष्ट्रीयकरण करने की भरसक कोशिश की थी लेकिन उन्हें कामयाबी हाथ नहीं लगी थी।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत की अनौपचारिक यात्रा पर आने वाले है और इससे पहले ही पाक पीएम ने बीजिंग की यात्रा कर ली थी। भारत के मुताबिक, कश्मीर एक द्विपक्षीय मामला है और इसमें किसी तीसरे पक्ष की दखलंदाज़ी को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

ताइवान में कोरोनावायरस संबंधी मामले बढ़कर 4 हुए

ताइपे, 27 जनवरी (आईएएनएस)| ताइवान की एक और महिला के कोरोनोवायरस (Corona Virus) से संक्रमित होने की पुष्टि हुई...

अरविंद केजरीवाल के निर्वाचन क्षेत्र के 11 उम्मीदवारों की याचिका पर सुनवाई को हाईकोर्ट सहमत

नई दिल्ली, 27 जनवरी (आईएएनएस)| दिल्ली हाईकोर्ट नई दिल्ली विधानसभा के लिए नामांकन करने से रोके गए 11 उम्मीदवारों की याचिका पर सुनवाई को...

आरएसएस का पहला सैनिक स्कूल उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में

लखनऊ, 27 जनवरी (आईएएनएस)| राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) द्वारा संचालित पहला सैनिक स्कूल उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में इस साल अप्रैल में शुरू होगा।...

उत्तर प्रदेश: कानपुर पुलिस ने थाने में कराई प्रेमी युगल की शादी

कानपुर, 27 जनवरी (आईएएनएस)| कानपुर के जूही पुलिस स्टेशन के अंदर रविवार को एक प्रेमी युगल की शादी कराई गई है। इस दौरान शादी...

कांग्रेस ने अदनान सामी को पद्मश्री देने पर सवाल उठाया

नई दिल्ली, 27 जनवरी (आईएएनएस)| कांग्रेस ने गायक अदनान सामी को पद्म पुरस्कार देने के केंद्र सरकार के फैसले पर सवाल उठाया है। कांग्रेस...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -