Sun. Apr 14th, 2024
venkaiah naidu

भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने मंगलवार को कहा कि “भारत अपने सभी पडोसी मुल्कों के साथ मधुर सम्बन्ध चाहता है लेकिन पाकिस्तान ने आतंकवाद को अपने देश की नीति बना लिया है।” वह पैराग्वे में भारतीय समुदाय को सम्बोधित कर रहे थे।

पाक की देश नीति बन चुका है आतंकवाद

उपराष्ट्रपति नायडू ने कहा कि “हम सभी देशों के साथ बेहतर सम्बन्ध चाहते हैं। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि आप दोस्त बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं बदल सकते हैं। यह बात दिमाग में रख लीजिये कि हम अपना सर्वश्रेष्ठ दे रहे हैं।”

उन्होंने कहा कि “हमारे पड़ोसियों में से एक ने आतंकवाद को अपने देश की नीति बना लिया है। वह आतंकियों को मदद, वित्त, और प्रशिक्षण देते हैं। समय लिया राज़ी हुए, सार्वजानिक प्रतिबद्धता की लेकिन आतंकियों को वित्तपोषित करना बंद  नहीं किया।”

आतंक से लड़ने में सक्षम

उपराष्ट्रपति ने आतंकवाद को मानवता का दुश्मन बताया और कहा कि “हमें भारत में आतंकवाद से लड़ने के लिए किसी प्रकार की मदद नहीं चाहिए। हम सक्षम है। हाल ही में हमें अपनी क्षमता का प्रदर्शन किया था। जब उन्होंने आतंकी हमले में हमारे सीआरपीएफ के 40 सैनिक मारे थे हमने भी प्रतिक्रिया दी थी। भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में सेना पर हमला नहीं किया था, न ही किसी नागरिक को हताहत किया था। बस अपने लक्ष्य को निशाना बनाया था।”

उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि “अब जनहानि पर चर्चा हो रही है। संख्या गिनने की जिम्मेदारी उन पर है। कल, गृह मंत्री ने सुझाव दिया था कि अगर किसी को शंका है तो वह पाकिस्तान की यात्रा कर पाक सर्कार से पूछताछ कर सकता है। हम जंग नहीं चाहते हैं, लेकिन मूकदर्शक बनकर होने जा रही जंग को नहीं झेल सकते हैं।”

लैटिन अमेरिकी देशों की यात्रा

दो लैटिन अमेरिकी देशो की आठ दिनों की यात्रा पर भारत के उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू के साथ संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री अल्फोंस जोन्स, संसद के सदस्य राम कुमार कश्यप और अन्य वरिष्ठ सरकारी अधिकारी भी गए हैं। उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू पैराग्वे की यात्रा के दौरान नेशनल पन्थीओन ऑफ़ हीरोज और सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे।

9 मार्च को कोस्टा रिका के कांग्रेस के अध्यक्ष कैरोलिना हिडैल्गो हर्रेरा नायडू से मुलाकात करेंगे। उपराष्ट्रपति कोस्टा रिका के पहले उपराष्ट्रपति एपसी कैम्पबेल बर्र द्वारा आयोजित भोज में शामिल होंगे।

By कविता

कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *