Wed. Apr 17th, 2024
    पाकिस्तान में पतंगबाज़ी

    पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त में 3700 से अधिक लोगों को पुलिस ने पतंग उड़ाने के कारण गिरफ्तार कर लिया है। पतंग उड़ाने के दौरान उपयोग मांझे से अधिक मौते हो रही थी, इसलिए सरकार ने पतंग उड़ाने पर पाबन्दी लगा रखी थी। पंजाब पुलिस ने पतंगबाजों के खिलाफ मोर्चा खोल रखा था। पाक सरकार ने बसंत त्यौहार में पतंग न उड़ाने की सख्त हिदायत दी थी, यह इस त्यौहार का प्रमुख भाग है।

    सरकार ने तर्क दिया कि मांझे के कारण कई लोगों की मौत हुई है। पंजाब पुलिस प्रवक्ता नबीला ग़ज़नफ़र ने कहा कि “पुलिस ऑन मोड पर पतंगबाजों को गिरफ्तार कर रही है। बीते एक हफ्ते में विभिन्न शहरों से करीब पतंगबाजों को गिरफ्तार किया गया है, इसमें फैसलाबाद, लाहौर, गुजरनवाला और शेखपुरा शामिल है।

    उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बुझदर के आदेश पर पतंगबाजों के खिलाफ पुलिस सख्त कार्रवाई कर रही है। उन्होने कहा कि यह आलम इस सीजन के अंत तक जारी रहेगा, कयोंकि इस वक्त लोग काफी पतंगे उड़ाते हैं। इससे पूर्व सरकार ने ऐलान किया था कि वह 12 वर्ष से जारी बसंत त्यौहार को मनाने पर लगे प्रतिबन्ध को हटा रही है। बसंत के त्यौहार को बसंत ऋतु में मनाया जाता है।

    इस निर्णय को लाहौर उच्च न्यायलय में चुनौती दी गयी थी। याचिकर्ता ने दावा किया कि ऐसी गतिविधि को मान्यता देना जिसमे मानव जान जोखिम में आये, सरासर असंवैधानिक है। इसके बाद पंजाब सरकार ने अदालत में अपने निर्णय को वापस लेने की बात कही थी।

    साल 2005 में पतंगबाज़ी से 19 लोगों की जान गयी थी और कई घायल हुए थे, इसके बाद शीर्ष अदालत ने प्रान्त में पतंगबाज़ी पर प्रतिबन्ध लगा दिया था।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *