पाकिस्तान के आतंक से निपटने के प्रयासों को देखने के लिए चीन ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को दिया आमंत्रण

चीन और पाकिस्तान
bitcoin trading

पाकिस्तान के सदाबहार दोस्त चीन ने इस्लामाबाद के क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मसलो पर रचनात्मक भूमिका का स्वागत किया और आतंकवाद से लड़ने के प्रयास और योगदान को देखने के लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को आमंत्रित किया था। चीनी विदेश विभाग ने कहा कि “पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी जापान की तीन दिन की यात्रा के बाद बीजिंग आये थे। इस दौरान उन्होंने चीनी विदेश मंत्री के साथ द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा की और करीबी रिश्तो के निर्माण पर रज़ामंदी जाहिर की थी।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान बीआरआई की दूसरी बैठक में शामिल होने के लिए बीजिंग की यात्रा पर निकले हैं। गुरूवार से चीन में बीआरआई के सम्मेलन की शुरुआत होगी जिसमे 37 देशों के प्रमुख भी शामिल होंगे। साल 2013 में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने बीआरआई परियोजना की शुरुआत की थी।

सीपीईसी परियोजना पाकिस्तान के बलूचिस्तान को चीन के शिनजियांग प्रान्त से जोड़ती है और यह पाकिस्तानी अधिकृत कश्मीर से होकर गुजरती है। इसलिए भारत इस परयोजना का विरोध कर रहा है।

चीनी विभाग के मुताबिक, चीन-पाक संबंधों में कूटनीतिक प्राथमिकता की तरह सुधारने पर जोर दिया है। दोनों देशों के बीच सदाबहार रणनीतिक सहयोगी साझेदारी को बभी मज़बूत करने की प्रतिबद्धता दिखाई है और नए युग के साझा भविष्य के लिए चीन-पाक समुदाय के निर्माण रखने का संकल्प लिया है।

उन्होंने कहा कि “पाकिस्तान की सम्प्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता, स्वतंत्रता और राष्ट्रीय गरिमा की रखा के लिए चीन ने अपने दृढ़ संकल्प को दोहराया है। आतंकवाद और चरमपंथियों से निपटने और नेशनल एक्शन प्लान को लागू करने के लिए हम पाकिस्तानी प्रयासों की सराहना करते हैं।”

चीन ने पाकिस्तान के आतंवाद से निपटने के प्रयासों और योगदान को निष्पक्ष और सही तरीके से देखने के लिए आमंत्रित किया है। इमरान खान 25 से 28 अप्रैल तक चीन की यात्रा करेंगे और चीनी नेतृत्व से मुलाकात करेंगे। बीते वर्ष सत्ता पर काबिज होने के बाद यह इमरान खान की दूसरी चीनी यात्रा है।

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here