Thu. Feb 9th, 2023
    पाकिस्तान के बाद अब तुर्की में लोग महंगाई से बदहाल, लोग सस्ती ब्रेड लेने के लिए कतारों में लगे हैं

    तुर्की में महंगाई अपनी चरम सीमा पर है।  लोगो को सस्ती ब्रेड तक खरीदने के लिए लंबी-लंबी कतारों में लगना पड़ है। तुर्की के राष्ट्रपति रोसेप तैय्यप एर्दोगन की आर्थिक नीतियों का नतीजा ही मान लें कि तुर्की में महंगाई बढ़ती जा रही है।  

    तुर्की की मुद्रा लीरा में भारी गिरावट आई है। इस समय एक डॉलर की कीमत १५.१६  लीरा है। पिछले एक साल के अंतराल में डॉलर के मुकाबले लीरा करेंसी 48 फीसदी तक गिर चुकी है जिस कारण तुर्की में  मुद्रास्फीति काफी बढ़ गई है। इसके नतीजा ये है कि देश में महंगाई बढ़ गयी है।   वहीं, एफएटीएफ की निगरानी सूची में होने के कारण तुर्की में विदेशी निवेश में भी काफी कमी आई है।

    डॉलर के मुकाबले तुर्की की राष्ट्रीय मुद्रा– लीरा में इस व्यापक गिरावट का एक मुख्य कारण तुर्की के आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए ब्याज दरों को कम रखने की राष्ट्रपति की अपरंपरागत आर्थिक नीति है।

    महंगाई के कारण तुर्की के शहरों में सब्सिडी वाले ब्रेड लेने के लिए लोगो को लम्बी कतारों में लगना पड़ रहा है। सब्सिडी वाली दुकानों में से एक व्यक्ति 250 ग्राम के ब्रेड का पैकेट 1.25 लीरा में लें सकता है। जबकि सामान्य दुकानों यही ब्रेड का पैकेट 2.50 लीरा में मिल रहा  है। एक दुकान बहार तैनात सेवानिवृत्त कर्मी 71 वर्षीय नियाजी टोपार्क का कहना है कि देश में ब्रेड, शर्ट, जुराबे सब महंगा होता जा रहा है। टोपार्क ने बताया कि सेवानिवृत्ति के बाद मुझे हर माह 800 लीरा (56 डॉलर), सामाजिक सुरक्षा के तहत मिलता है जिससे जीवन व्यापन करना मुश्किल है । उनके परिवार में चार सदस्य हैं और घर का किराया  2,000 लीरा (140 डॉलर) प्रतिमाह है। वह कतार में चार ब्रेड लेने के लिए आये थे ताकि उनके घर के चारो लोगो का गुज़ारा एक दिन के लिए हो जाये। 

    तुर्की में वार्षिक मुद्रास्फीति दर ( Annual Inflation Rate) 21 प्रतिशत को पार कर गई है। तुर्की में वार्षिक मुद्रास्फीति दर 21 प्रतिशत को पार कर गई है। इस्तांबुल नगर पालिका के मेयर का पद वर्तमान में विपक्षी रिपब्लिकन पीपुल्स पार्टी के पास है। इसके मेयर एकरेम इमामोग्लू ने बताया है कि एक साल में शहर में रहने की लागत 50 प्रतिशत से अधिक बढ़ गई है। इस्तांबुल सांख्यिकी कार्यालय के अनुसार, गेहूं ( Wheat) की कीमत 109 प्रतिशत, सूरजमुखी के तेल ( Sunflower Oil)  कि कीमत137 प्रतिशत, टॉयलेट पेपर ( Toilet Paper) कि कीमत 90 प्रतिशत व चीनी (Sugarcane) कि कीमत 90 प्रतिशत और प्राकृतिक गैस ( Natural Gas) कि कीमत 102 प्रतिशत बढ़ गयी है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *