बुधवार, जनवरी 22, 2020

पाकिस्तान की ऊर्जा सुधार के लिए एबीडी ने देगा 35 करोड़ डॉलर की मंज़ूरी

Must Read

स्टीव स्मिथ का मानना है ऑस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेल सकते हैं जोश फिलिप

स्टीव स्मिथ को लगता है कि विकेटकीपर-बल्लेबाज जोश फिलिप में आस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेलने की काबिलियत...

सीएए पर बहस करने को तैयार अखिलेश यादव, गृहमंत्री के ‘डंके की चोट’ शब्द को लेकर कहा, यह राजनेता की भाषा नहीं हो सकती

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि वह नागरिकता कानून (सीएए) और विकास...

महिला निशानेबाज मनु भाकर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार नहीं मिलने पर पिता ने उठाए सरकार पर सवाल

भारत के लिए ओलम्पिक कोटा हासिल कर चुकी युवा महिला निशानेबाज मनु भाकेर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार न...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

एशियाई डेवलपमेंट बैंक ने सुधार और वित्तीय सतत कार्यक्रमों के लिए 35 करोड़ डॉलर का कर्ज देने का निर्णय लिया है। इसका मकसद पाकिस्तान के ऊर्जा क्षेत्र में  वित्त, शासन, तकनीक और पालिसी में कमी को सुधारना है। यह कमियां  क्षेत्र की गुणवत्ता और सुविधाओं की कुशलता को प्रभावित करती है और पाकिस्तान के वित्तीय संतुलन और मैक्रोइकॉनोमिक को चुनौती देती है।

शुक्रवार को एबीडी द्वारा जारी दस्तावेजो के मुताबिक, अगले महीने सरकार के साथ कर्ज के लिए वार्ता को बैंक शुरू करेगा और लोन पर दस्तखत और कर्ज को मुहैया नवम्बर में किया जा सकता है। पूरी रकम में से एबीडी 30 करोड़ डॉलर मुहैया करेगा और शेष राशी पांच करोड़ डॉलर को इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट बैंक ऑफ़ कोरिया द्वारा मुहैया किया जायेगा।

पाकिस्तान के वित्तीय मंत्रालय ने एबीडी के साथ मिलकर इस प्रोजेक्ट को शुरू किया है जबकि इस प्रोजेक्ट को पाक ऊर्जा मंत्रालय अमल में लाएगा। यह कर्ज साल 2019 से 2023 तक तीन उप कार्यक्रमों के जरिये दिया जायेगा। यह वित्तीय सतत की सुरक्षा, शासन को मज़बूत और ढांचागत सुधारो को लागू करेगा।

हाल ही में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने पाकिस्तान को छह अरब डॉलर के राहत प[पैकेज को देने की मंज़ूरी दी थी। पाकिस्तान वित्तीय संकट के दौर से गुजर रहा है। इसके लिए पाकिस्तानी पीएम ने कई मुल्को से वित्तीय मदद देने का आग्रह किया था।

पाकिस्तान ने सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और चीन जैसे देशो से मदद की गुहार लगाई थी। पाकिस्तान में वित्तीय अस्थिरता बढती जा रही है और महंगाई दिन प्रतिदिन बढती जा रही है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

स्टीव स्मिथ का मानना है ऑस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेल सकते हैं जोश फिलिप

स्टीव स्मिथ को लगता है कि विकेटकीपर-बल्लेबाज जोश फिलिप में आस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेलने की काबिलियत...

सीएए पर बहस करने को तैयार अखिलेश यादव, गृहमंत्री के ‘डंके की चोट’ शब्द को लेकर कहा, यह राजनेता की भाषा नहीं हो सकती

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि वह नागरिकता कानून (सीएए) और विकास को लेकर भाजपा के लोगों...

महिला निशानेबाज मनु भाकर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार नहीं मिलने पर पिता ने उठाए सरकार पर सवाल

भारत के लिए ओलम्पिक कोटा हासिल कर चुकी युवा महिला निशानेबाज मनु भाकेर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार न मिलने पर उनके पिता रामकिशन...

पाकिस्तान : पीपीपी अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ने कहा, कार्यकाल पूरा नहीं कर पाएगी इमरान सरकार

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार की आलोचना करते हुए...

चीन : कोरोना वायरस से हुए निमोनिया के 440 नए मामलों की पुष्टि

चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कोरोना वायरस से होने वाले निमोनिया के 440 नए मामलों की पुष्टि होने की बुधवार को घोषणा की। देश में...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -