शनिवार, अक्टूबर 19, 2019

पाकिस्तान: इमरान खान की घेरेबंदी के लिए एकजुट होगा विपक्ष

Must Read

बाबा जेल में पर राम रहीम के डेरे पर अब भी माथा टेक रहे नेता

सिरसा, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। दो साध्वियों के साथ दुष्कर्म और एक पत्रकार की हत्या के मामले में जेल में...

अयोध्या में आधा से ज्यादा बन चुका है राममंदिर : विहिप

लखनऊ , 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। रामंदिर पर विवाद पर सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई पूरी हो चुकी है, और अदालत...

ब्रेक्जिट समझौते पर समयसीमा बढ़ी

लंदन, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। ब्रिटेन की संसद में शनिवार को यूरोपीय संघ(ईयू) के साथ प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की सहमति...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

पाकिस्तान (Pakistan) के विपक्षी नेताओं ने बुधवार को इस्लामाबाद में एक बहुपक्षीय सम्मेलन का आयोजन किया था और इसमें पाकिस्तान तहरीक ए इन्साफ की सरकार के प्रमुख इमरान खान (Imran Khan) के खिलाफ एक अभियान की शुरुआत करने की संभावनाओं पर चर्चा की गयी थी।

इस समारोह का आयोजन करने का फैसला 11 विपक्षी सियासी दल के नेताओं ने बीते महीने पाकिस्तान पीपल पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ज़रदारी के इस्लामाबाद में स्थित आवास में लिया गया था। इस बैठक की अध्यक्षता जमीयत उलेमा ए इस्लाम के नेता मौलाना फ़ज़ल उर रहमान ने की थी।

विपक्ष के नेता संसद के अध्यक्ष सादिक़ संजरानी को हटाने की रणनीति की आम सहमति पर पहुंचे थे। मौलाना फ़ज़ल ने सभी विपक्षी नेताओं को सरकार पर दबाव बनाने के लिए एक साथ सभी सदनों से इस्तीफे दे देने का सुझाव दिया है, लेकिन मुख्य दलों ने इस प्रस्ताव पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

पीएमएलएन और पीपीपी के नेताओं ने कहा कि वह अपने मामले को संसद में बेहतर तरीके से प्रस्तुत करेंगे। विपक्षी पार्टियों ने 25 जुलाई की तिथि को तय किया है जो बीते वर्ष आम चुनावो की तारीख थी। वे इसे काले दिवस के रूप में मनायेंगे और प्रदर्शन करेंगे।

उन्होंने कहा कि “पीटीआई की सरकार राष्ट्रीय अखंडता, सम्प्रभुता और हितो के लिए खतरा बनती जा रही है। हालाँकि विपक्ष के मंसूबो धक्का लगा, जब सत्ताधारी पार्टी के महत्वपूर्ण गठबंधन दल बलोचिस्तान नेशनल पार्टी मंगल ने इस समारोह में शरीक होने के खिलाफ फैसला सुनाया था।

बीएनपी के प्रमुख अख्तर मंगल ने यह निर्णय प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ बुधवार को बैठक के बाद लिया था। अन्य प्रमुख पार्टिया जो इस समारोह में मौजूद  नहीं थी, जमात ए इस्लामी थी। जिनके अध्यक्ष ने मौलाना फ़ज़ल के निजी न्योते को भी अस्वीकार कर दिया था।

बुधवार की बैठक में दिग्गज नेताओं में पीएमएलएन के अध्यक्ष  शाहबाज़ शरीफ, पीपीपी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो, पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ की बेटी मरयम नवाज़, पूर्व पीएम शाहिद खक्कन अब्बासी, पूर्व संसद के अध्यक्ष अयाज़ सादिक़, पूर्व पीएम यूसुफ़ रज़ा गिलानी, सांसद शीरी रहमान, पूर्व संसद की अध्यक्ष राजा रब्बानी, आवामी नेशनल पार्टी के प्रमुख अस्फंदयार वाली खान और पख्तूनतवा मिली अवामी पार्टी के अध्यक्ष महमूद खान अचकजई और अन्य मौजूद थे।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

बाबा जेल में पर राम रहीम के डेरे पर अब भी माथा टेक रहे नेता

सिरसा, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। दो साध्वियों के साथ दुष्कर्म और एक पत्रकार की हत्या के मामले में जेल में...

अयोध्या में आधा से ज्यादा बन चुका है राममंदिर : विहिप

लखनऊ , 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। रामंदिर पर विवाद पर सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई पूरी हो चुकी है, और अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया...

ब्रेक्जिट समझौते पर समयसीमा बढ़ी

लंदन, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। ब्रिटेन की संसद में शनिवार को यूरोपीय संघ(ईयू) के साथ प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की सहमति के बाद हुए ब्रेक्जिट समझौते...

आजम को परेशान किया जा रहा, ताकि हमारी सरकार न बने : अखिलेश

रामपुर, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यहां शनिवार को कहा कि आजम खां को इसलिए परेशान किया...

उप्र : स्नातक में दाखिला निरस्त होने पर छात्राएं अनशन पर बैठीं

बांदा, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में बांदा जिला मुख्यालय के पंडित जवाहरलाल नेहरू डिग्री कॉलेज में स्नातक कक्षा का दखिला निरस्त होने से...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -