Mon. May 20th, 2024
    पकिस्तान का सेना अध्यक्ष जावेद कमर बाजवा

    पाकिस्तान के सेना अध्यक्ष जावेद कमर बाजवा भारत के खिलाफ कई बार विवादित बयान देते हैं। एक बार फिर सेनाध्यक्ष ने भारत पर भड़काऊ भाषण देने और सीमा उल्लंघन करने के आरोप लगाये हैं। पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष बुधवार को नियंत्रण रेखा (एलओसी) के दौरे पर आये थे।

    जावेद कमर बाजवा ने कहा कि भारत को इस इलाके में शांति और तरक्की की प्रक्रिया पर अमल करना चाहिए।

    रिपोर्ट के मुताबिक सेना अध्यक्ष ने भारत पर सीजफायर के उल्लंघन का आरोप लगाया था। मंगलवार को पाकिस्तान के सैनिकों ने जम्मू-कश्मीर के पूँछ जिले से जुड़ी नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया था।

    नवम्बर में पाकिस्तान के सीमा उल्लंघन के कारण जम्मू-कश्मीर के पूँछ जिले के कृष्णा घाटी में सीमा पर एक भारतीय जवान शहीद हो गया था।

    हाल ही में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि भारत में साल 2019 के लोकसभा चुनाव से पूर्व शांति वार्ता बहाल नहीं हो सकती है।

    पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री इमरान खान ने चुनाव जीतने के बाद बयान दिया था कि उन्हें यकीं है कि भारत में पाकिस्तान विरोधी नारे लगाने पर ही वोट दिए जाते हैं। उन्होंने कहा कि आम चुनाव से पूर्व भारत सरकार के साथ शांति वार्ता मुक्कमल नहीं हो सकती है।

    सऊदी अरब में आयोजित फ्यूचर इन्वेस्टमेंट इनिशिएटिव फोरम को संबोधित करते हुए इमरान खान ने कहा था कि लोकसभा चुनावों के बाद एक बार फिर वह भारत सरकार की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाएंगे।

    इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने कई बार भारत के साथ शांति प्रस्ताव को अमल में लाने के प्रयास किये लेकिन भारत की तरफ से हमेशा नकारात्मक सन्देश ही मिले हैं।

    उन्होंने भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के मध्य संयुक्त राष्ट्र की बैठक के इतर होने वाली बैठक को रद्द करने की भी आलोचना की थी।

    इस मुलाकात से पूर्व जम्मू कश्मीर में दो जवानों की बर्बरता से हत्या कर दी गयी थी और पाकिस्तान ने कश्मीर के अलगाववादी बुरहान वानी के सम्मान में डाक टिकट जारी किया था। भारत ने इन तथ्यों का हवाला देते हुए 24 घंटे के भीतर दोनों मंत्रियों की मुलाकात को निरस्त कर दिया था।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *