Wed. Oct 5th, 2022

    1.03 करोड़ से अधिक मतदाता इस चरण में 306 उम्मीदवारों के राजनीतिक भाग्य का फैसला करेंगे। स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान सुनिश्चित करने के लिए केंद्रीय बलों की 1,071 कंपनियों को इस चरण में तैनात किया गया है। कोरोना वायरस की महामारी के बीच यह चुनाव हो रहे हैं। छठे चरण की वोटिंग सुबह 7 बजे शुरू हुई थी, जो उत्तर 24 परगना जिले में 17, नादिया में नौ, उत्तर दिनाजपुर में नौ और पुरबा बर्धमान में आठ सीटों पर हो रही है। सुरक्षा कर्मियों के साथ मतदान केंद्रों के बाहर लंबी कतारें देखी गईं, कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने के लिए सभी को कोविड-19 सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन  करना अनिवार्य है। 

    चुनाव आयोग ने बुधवार को चुनावों के कार्यक्रम में कोई बदलाव करने से इनकार कर दिया था और तृणमूल कांग्रेस को बताया कि आठ चरणों में से अंतिम तीन को क्लब करने का उसका सुझाव “संभव नहीं है”। चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने कहा कि पिछले चरणों में हिंसा को देखते हुए सुरक्षा उपायों को बढ़ा दिया गया है, क्योंकि 10 अप्रैल को चौथे चरण के मतदान के चलते कूचबिहार में  हिंसा के कारण पांच लोगों की मौत का मामला सामने आया था

    केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बंगाल के छठे चरण के सभी मतदाताओं से अपील की, विशेषकर युवाओं से और कहा कि बंगाल के उज्ज्वल भविष्य के लिए निडर होकर “अधिकतम संख्या” में मतदान करिए।

    “मैं बंगाल के छठे चरण के सभी मतदाताओं विशेषकर युवाओं से अपील करता हूं कि अधिक से अधिक संख्या में बंगाल के उज्जवल भविष्य के लिए निडरता से मतदान करें। आपका एक वोट बंगाल के गरीबों व वंचित लोगों को उनका अधिकार देने और प्रदेश को विकास की ओर आगे बढ़ाने का एक महत्वपूर्ण आधार स्तंभ है।

    टीएमसी और बीजेपी का झूठा खेल शुरू

    जहां गुरुवार को बंगाल में एक तरफ विधानसभा चुनाव के छठे चरण का मतदान चल रहा है, वहीं दूसरी ओर विभिन्न हिस्सों से हिंसा की घटनाएं सामने आ रही है। उत्तर दिनाजपुर के चोपड़ा इलाके में एक मतदान केंद्र के एजेंटों द्वारा तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प के बाद कथित तौर पर गोलीबारी की गई। लेकिन दोनों पक्षों ने किसी भी तरह के हथियार का इस्तेमाल करने से इनकार किया और हिंसा के लिए विपक्ष को जिम्मेदार ठहराया है।

    सुबह 11 बजे तक दर्ज किए गए 37.27 प्रतिशत मतदान के साथ कुल मतदान की स्थिति काफी हद तक शांतिपूर्ण थी, चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने कहा। 

    कांग्रेस ने समसेरगंज से कैंडिडेट की पत्नी को उम्मीदवार घोषित किया 

    कांग्रेस ने कल पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के समसेरगंज विधानसभा क्षेत्र से रोकिया खातुन को उनके पति रेजाउल हक के बाद नामांकित किया, जो पार्टी के टिकट से चुनाव लड़ रहे थे। पिछले हफ्ते गुड नाइट के कारण उनकी मृत्यु हो गई थी। पार्टी अध्यक्ष ने एक बयान में कहा, “कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने समसेरगंज निर्वाचन क्षेत्र से पश्चिम बंगाल विधानसभा के चुनाव के लिए स्वर्गीय रेजाउल हक की पत्नी रोकिया खातून की उम्मीदवारी को मंजूरी दी है।”

    By दीक्षा शर्मा

    गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली से LLB छात्र

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.