Thu. Dec 8th, 2022
    नेपाल मे बारिश

    नेपाल में बीते दो हफ्तों भारी बारिश के कारण से बाढ़ और भूस्खलन ने देश में तबाही मचा दी है जिससे मृतको की संख्या का आंकड़ा बढ़कर 108 पर पंहुच गया है और 33 अन्य अभी भी लापता है। नेपाल के गृह मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी थी।

    बारिश का प्रकोप

    मुख्य जिला अधिकारी डिजन भात्तरी ने मीडिया को बताया कि “करीब चार लोगो की मौत हो गयी है और बुधवार को नेपाल के लम्जुंग में बाढ़ के कारण सात अन्य लोग लापता है। जबकि इस घटना के कारण नौ अन्य लोग बुरी तरह जख्मी है।”

    मृतकों की पहचान करना अभी भी शेष है। अधिकारीयों को यकीन है कि यह लोग क्षेत्र के हाइड्रोपॉवर प्रोजेक्ट में कार्य करने वाले हैं। हालिया बाढ़ से हाइड्रोपॉवर प्रोजेक्ट का ढांचा भी क्षतिग्रस्त हो गया था। नेपाल की पुलिस फाॅर्स, सेना स्थानीय लोगो की मदद से देश में संयुक्त खोज और बचाव अभियान चला रही है।

    11 जुलाई से मुसलाधार बारिश ने हिमालय राष्ट्र पर कहर बरपाया है और समस्त राष्ट्र में 70 जिलो में से 35 को बुरी तरह प्रभावित किया है। स्वच्छता की कमी की खतरनाक बिमारियों के फैलाव के भय को काफी बढ़ा दिया है। हालाँकि नेपाल की सरकार ने विदेशी सहायता न लेने का निर्णय लिया है।

    सरकारी आंकड़ो के मुताबिक, 27000 पुलिसकर्मियों, 8000 सैनिको और 8150 सैन्य पुलिस कर्मियों की तैनाती बाढ़ से ग्रसित इलाकों में कर रखी है। कई जिलो में बचाव और राहत प्रयास जारी है।

    बचाव और राहत कार्य नेपाल के रौतहट, धनुषा, महोत्तरी और डोल्पा जीमे में जारी है। हवाई जहाजों को काठमांडू, धनुषा और इत्ताहरी में तैयार रखा है। नेपाल की सरकार ने विदेश सहायता न लेने का निर्णय लिया है और इसकी बजाये स्थानीय संस्थाओं को बचाव और राहत कार्य में वृध्दि करने का आदेश दिया है।

     

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *