बुधवार, जनवरी 22, 2020

क्यों हो रही है नेटफ्लिक्स को भारत में बैन करने की मांग, सेक्रेड गेम्स, लस्टस्टोरीज और लैला फैला रहा हिन्दूफोबिया ?

Must Read

जल संरक्षण का महत्व

जल संरक्षण क्यों जरूरी है? स्वच्छ, ताजा पानी एक सीमित संसाधन है। दुनिया में हो रहे सभी गंभीर सूखे के...

भारत में रियलमी करेगा स्नैपड्रैगन की 720जी चिप के साथ फोन लॉन्च

चीन की स्मार्टफोन निर्माता रियलमी के सीईओ माधव शेठ ने मंगलवार को भारत में नए स्नैपड्रैगन 720जी एसओजी (सिस्टम-ऑन-चिप)...
साक्षी सिंह
Writer, Theatre Artist and Bellydancer

भारत में वेब शो और ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफ़ॉर्म का चलन तेज़ी से बढ़ा है। नेटफ्लिक्स, अमेज़न प्राइम आदि के शो जहाँ आज फिल्मों से भी ज्यादा पसंद किये जा रहे हैं वहीं कुछ इसके कट्टर विरोधी भी सामने आए हैं।

दरअसल वेब शो के निर्माता काफी स्वतंत्र होते हैं और उनकी CBFC के प्रति कोई भी जवाबदेही नहीं है और नाही अबतक सरकार ने वेब शो की सामग्रियों को नियंत्रित करने के नियम बनाए हैं। इसी के चलते निर्माता बेबाकी से कई मुद्दों पर फिल्में बनाते हैं और उसे नेटफ्लिक्स या इस तरह के प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ करते हैं।

भारत में OTT प्लेटफ़ॉर्म लांच होने से पहले कभी भी इतनी बोल्ड सामग्री नहीं बनाई गई थी और कुछ फिल्में जो बनी भी थीं उन्हें बैन कर दिया गया था और अब नेटफ्लिक्स को बैन करने की मांग की जा रही है। #BanNetflixInIndia ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है और लोग इसके कंटेंट के प्रति काफी गुस्सा भी व्यक्त कर रहे हैं।

नेटफ्लिक्स की वेबसीरीज जो दर्शकों द्वारा बड़े स्तर पर सराही गई हैं उन्ही का विरोध भी हो रहा है। कई कट्टरपंथियों को ‘लैला’, ‘सेक्रेडगेम्स’, ‘लस्टस्टोरीज’ आदि से आपत्ति है।

यदि आप जानना चाहते हैं कि यह मसला कब और कैसे शुरू हुआ तो हम आपके लिए सही स्टोरी लेकर आए हैं।

दरअसल रमेश सोलंकी ने नेटफ्लिक्स इंडिया के खिलाफ हिन्दूविरोधी और हिन्दू धर्म को बदनाम करने वाली सामग्री बनाने के लिए, मुक़दमा दर्ज किया है। और इसके पेपर्स उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट भी किये जिसके बाद से कई लोग उनके साथ आए और यह ट्वीट करने लगे कि उन्हें नेटफ्लिक्स से क्या-क्या आपत्ति है।

वहीँ मजिंदर सिरसा का मानना है कि बॉलीवुड लगातार धर्म का अपमान कर रहा है। उन्होंने ‘सेक्रेड गेम्स’ के सीन पर सवाल उठाए हैं जिसमें सैफ अली खान अपना कड़ा उतार कर नदी में फेंक देते हैं और यह कड़ा सिख धर्म में काफी पवित्र माना गया है।

कुछ लोगों का मानना है कि नेटफ्लिक्स हर सीरीज में हिन्दूफोबिया फैला रहा है। आपको बता दें कि ‘लैला’ के सेट में 2040 के बाद का भारत है जो आर्यावर्त में तब्दील हो गया है और पूरी तरह तबाह हो चूका है।

यहाँ जोशी जी ( संजय सूरी ) का राज चलता है और पत्ता भी उनकी मर्जी से ही हिलता है और आर्यावर्त को मानने वाली जनता इन्हें भगवान् मानती है। यह दिखाई भी कम देते हैं और लोग सिर्फ इनके पोस्टर्स और उपदेशों से ही रूबरू हो सकते हैं।

इसमें अतिवादिता के गहरे दुष्परिणामों को भविष्य के माध्यम से दिखाया गया है। वहीँ ‘लस्ट स्टोरीज’ की बात करें तो इसमें सेक्स और इसकी चाहत के बारे में खुल के बात की गई है जिससे कई लोगों को आपत्ति है और उनका मानना है कि नेटफ्लिक्स हिन्दू धर्म और संस्कृति को बदनाम करने की कोशिश में लगा हुआ है।

आपके इसपर क्या विचार हैं? क्या नेटफ्लिक्स को भारत में बैन कर देना चाहिए ? कमेंट करें और हमें बताएं

यह भी पढ़ें: नेटफ्लिक्स लैला रिव्यु: नफरत भरी पॉलिटिक्स का नतीज़ा दिखा कर हमारी आँखे खोलने का भी प्रयत्न करती है ‘लैला’

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

जल संरक्षण का महत्व

जल संरक्षण क्यों जरूरी है? स्वच्छ, ताजा पानी एक सीमित संसाधन है। दुनिया में हो रहे सभी गंभीर सूखे के...

भारत में रियलमी करेगा स्नैपड्रैगन की 720जी चिप के साथ फोन लॉन्च

चीन की स्मार्टफोन निर्माता रियलमी के सीईओ माधव शेठ ने मंगलवार को भारत में नए स्नैपड्रैगन 720जी एसओजी (सिस्टम-ऑन-चिप) के साथ स्मार्टफोन लॉन्च करने...

झारखंड : नई सरकार के शपथ ग्रहण के 24 दिनों बाद भी नहीं हुआ मंत्रिमंडल विस्तार, गैरों के साथ अपने भी कस रहे तंज!

झारखंड में नई सरकार का शपथ ग्रहण 29 दिसंबर को हुआ था। अबतक 24 दिन बीत चुके हैं, लेकिन अभी भी मंत्रिमंडल का विस्तार...

त्रिपुरा, मणिपुर और मेघालय ने मनाया 48 वां राज्य दिवस

त्रिपुरा, मणिपुर और मेघालय ने मंगलवार को अलग-अलग अपना 48वां राज्य दिवस मनाया। इस मौके पर कई रंगा-रंग कार्यक्रम पेश किए गए। राष्ट्रपति रामनाथ...

महाराष्ट्र : भाजपा ने राकांपा के मंत्री के बयान पर आपत्ति जताई, बताया हिंदू विरोधी

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता और महाराष्ट्र के मंत्री जितेंद्र अवध के बायन पर मंगलवार को कड़ी आपत्ति...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -