Sat. Mar 2nd, 2024

    हैदराबाद के निज़ाम म्यूजियम में चोरी होने के करीब सात दिन बाद पुलिस द्वारा दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया हैं, आरोपियों के पास से म्यूजियम से चुराए गए चीजों को भी बरामद किया गया हैं।

    3 सितम्बर को म्यूजियम स्टाफ द्वारा पुलिस में चोरी की शिकायत दर्ज की गयी थी, जिसके अनुसार हीरे और माणिकों से आभूषित सोने का बक्सा, एक सोने का चम्मच और दो सोने के कप चोरी होने की बात कही गयी थी।

    पुलिस द्वारा मुहम्मद घौस पाशा और मुहम्मद मुबीन को गिरफ्तार किया गया हैं।

    पुलिस कमिश्नर अंजनी कुमार के अनुसार, “चोरी किए गए सभी वस्तुओं को बरामद किया गया हैं और उन्हें म्यूजियम को जल्द ही सोंपा जाएगा।”

    “आरोपियों ने पुलिस को गुमराह करने के लिए झूटे सबूत छोड़े थे। उन्होंने(आरोपी) चोरी किए गए चीजों को मुंबई में बेचने की कोशिश की लेकिन, जब किसी ने उनसे वह चीजे नहीं खरीदी तब वे हैदराबाद लौट आए। हैदराबाद पहुँचते ही हमने आरोपियों को गिरफ्तार किया और उनसे म्यूजियम से चुराए आभूषणों को बरामद किया”

    हैदराबाद के आखरी निजाम के पोते और निज़ाम फॅमिली वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष नवाब नजफ़ अली खान ने, पुलिस कमिश्नर को पत्र लिख कर चोरी किए गए वस्तुओं को जल्द से जल्द बरामद करने की विनती की थी। नवाब नजफ़ अली खान ने म्यूजियम की सुरक्षा पर भी तीखे सवाल उपस्थित किए।

    उन्होंने कहा, “म्यूजियम के प्रभावहीन प्रशासन और खस्ताहाल सुरक्षा की वजह से चोर आसानी से मूल्यवान और ऐतिहासिक चीजों तक पहुँच पाते हैं। इस मौजूदा स्थिति को बदलने की सख्त जरुरत हैं।”

    “म्यूजियम में हैदराबाद के आखरी निज़ाम, नवाब मीर ओस्मान अली खान बहादुर की कई मूल्यवान चीजों को रखा गया हैं, जिनमें अन्य राजाओं की तरफ से दी गए तौफे भी शामिल हैं। इनमें निजाम द्वारा इस्तेमाल की गयी कई व्यक्तिगत चीजों को भी रखा गया हैं, जिन्हें हीरों से सजाया गया हैं।”

    By प्रशांत पंद्री

    प्रशांत, पुणे विश्वविद्यालय में बीबीए(कंप्यूटर एप्लीकेशन्स) के तृतीय वर्ष के छात्र हैं। वे अन्तर्राष्ट्रीय राजनीती, रक्षा और प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज में रूचि रखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *