Thu. Jun 20th, 2024
    निर्देशांक ज्यामिति coordinate geometry in hindi

    निर्देशांक ज्यामिति की परिभाषा (coordinate geometry meaning in hindi)

    निर्देशांक ज्यामिति गणित की वह शाखा है जिसमें समतल पर बिन्दुओं की स्थिति को दो संख्याओं के जोड़े से परिभाषित किया जाता है। जिन संख्याओं के जोड़ों से उस बिंदु की स्थिति को परिभाषित किया जाता है वे दो बिंदु निर्देशांक कहलाते हैं।

    • जिन संख्याओं के जोड़ों से उस बिंदु की स्थिति को परिभाषित किया जाता है वे दो बिंदु निर्देशांक कहलाते हैं। जब हमें निर्देशांक नहीं पता होते तो हम उनकी जगह (x,y) लिखते हैं।
    • इन निर्देशांकों में से x को abcissa एवं y को ordinate कहा जाता है। x से हमें पता चलता है कि एक बिंदु तल से कितनी दायीं और है एवं y से हमें यह पता चलता है की बिंदु कितनी उंचाई पर है।

    • जैसा कि आप ऊपर दिए गए चित्र में देख सकते हैं की यहाँ दो रेखाएं हैं। जो रेखा वर्टीकल या नीचे से ऊपर की और है वह x अक्ष कहलाती है। जो रेखा अनुप्रस्थ है या बाएं से दायें है उस रेखा को y अक्ष कहा जाता है।
    • जैसा कि हम देख सकते हैं कि यहाँ एक बिंदु A दिया गया है एवं उसके आगे दो संख्याएं लिखी गयी हैं। इन संख्याओं से उस बिंदु की स्थिति का पता चल रहा है। हम देख सकते हैं वे संख्याएं भी (x,y) के रूप में हैं। हम जानते हैं की जो संख्या पहले लिखी होती है वह x या abcissa होती है एवं दूसरी संख्या y या फिर ordinate होती है।

    निर्देशांक ज्यामिति के प्रयोग (application of coordinate geometry in hindi)

    निर्देशांक ज्यामिति में हम निर्देशांक का प्रयोग करके :

    • दो बिन्दुओं के बीच की दूरी का पता लगा सकते हैं।
    • एक रेखा खंड का मध्य बिंदु एवं उसका समीकरण निकाल सकते हैं।
    • एक रेखा समान्तर है या लांब है इसका निर्धारण किया जा सकता है।

    ऊपर दिए गए प्रयोग तभी हो सकते हैं जब हमें दिए गए बिन्दुओं के निर्देशांक पता होते हैं। अगर हम उन बिन्दुओं के निर्देशांक नहीं जानते हैं तो फिर हम ये सब नहीं कर पायेंगे।

    इस लेख से सम्बंधित यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

    गणित के अन्य लेख:

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    4 thoughts on “निर्देशांक ज्यामिति: परिभाषा, सूत्र एवं प्रयोग”

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *