Wed. Feb 8th, 2023
    albert pinto ko gussa kyun aata hai

    मानव कौल, नंदिता दास और सौरभ शुक्ला की फिल्म ‘अल्बर्ट पिंटो को गुस्सा क्यों आता है?” 12 अप्रैल 2019 को रिलीज़ होने वाली है। फिल्म को सुमित्रा रानाडे निर्देशित कर रही हैं।

    यह फिल्म 1980 की क्लासिक फिल्म जिसका शीर्षक भी यही है, पर आधारित है। पुरानी फिल्म को सईद अख़्तर मिर्ज़ा के द्वारा निर्देशित किया गया था जिसमें नसीरुद्दीन शाहशबाना आज़मी, स्मिता पाटिल, ओम पुरी और सतीश शाह मुख्य भूमिकाओं में थे।

    पुरानी फिल्म की कहानी कुछ इस तरह है, “मुंबई में एक युवा, गुस्सैल, क्रिश्चियन कार मैकेनिक, अल्बर्ट पिंटो (नसीरुद्दीन शाह), जो भ्रम में है कि अगर वह कड़ी मेहनत करता है और अमीरों का अनुकरण करता है, तो एक दिन वह सफल भी हो सकता है।

    वह अपने ग्राहकों के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध बनाता है, जो आमतौर पर शहर के अमीर होते हैं और उसे बताते रहते हैं कि अच्छे कर्मचारी हड़ताल पर नहीं जाते हैं, और ये हमले नीच असमाजिक तत्वों की करतूत हैं। पिंटो मज़दूरों के कथित गलत रवैये से नाराज़ हो जाता है।

    हालाँकि, जब पिंटो के पिता के साथ, जो एक मिल मजदूर हैं, को मिल मालिकों द्वारा काम पर रखे गए निम्नवर्गीय लोगों द्वारा दुर्व्यवहार किया जाता है, तो उसे पता चलता है कि श्रमिकों को नहीं, बल्कि पूँजीपतियों को मज़दूरों की दुर्दशा के लिए दोषी ठहराया जाना चाहिए। उसे हमलों की वैधता का भी एहसास हो जाता है।

    फिल्म के अंत में, पिंटो अभी भी एक गुस्सैल आदमी है; लेकिन अब उसका गुस्सा पूंजीपतियों के खिलाफ है, हड़ताली मजदूरों के खिलाफ नहीं। फिल्म का संगीत भास्कर चंदावरकर और मनस मुखर्जी ने दिया था।

    नई फिल्म को सुमित्रा ने निर्देशित करने के साथ-साथ लिखा और प्रोड्यूस भी किया है। फिल्म 2014-15 से ही बन रही है और अब अंततः फिल्म को एक रिलीज़ डेट मिल गई है।

    यह भी पढ़ें: अनुराग कश्यप का नाम लेकर 2 साल से अभिनेत्रियों को प्रताड़ित कर रहा है यह व्यक्ति, निर्देशक ने दी सफाई

    By साक्षी सिंह

    Writer, Theatre Artist and Bellydancer

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *