दा इंडियन वायर » राजनीति » नरेंद्र मोदी का चन्द्रबाबू नायडू पर बड़ा हमला, कहा बेटे के लिए राज्य के भविष्य को दांव पर लगाया
राजनीति समाचार

नरेंद्र मोदी का चन्द्रबाबू नायडू पर बड़ा हमला, कहा बेटे के लिए राज्य के भविष्य को दांव पर लगाया

modi-gurdaspur

रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू पर हमला करते हुए कहा कि उन्होंने अपने बेटे के राजनितिक कैरियर के उदय के लिए राज्य के सूर्य को अस्त की और धकेल दिया है।

चंद्रबाबू नायडू अपने बेटे के राजनितिक कैरियर को उभारने के लिए इतने बेचैन है कि वो ये भी नहीं देख पा रहे कि उन्होंने भ्रष्टाचार और खराब नीतियों के चलते राज्य को सूर्यास्त की तरफ धकेल दिया है। वो अपने बेटे के भविष्य के लिए राज्य के अन्य बेटे और बेटियों को भूल गए। प्रधानमंत्री विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।

पीएम मोदी ने आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन टी रामाराव (एनटीआर) की प्रशंसा की जिन्होंने सिनेमा से राजनीति में कदम रखने के बाद कांग्रेस विरोधी मोर्चा बनाया।

आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनटीआर ने ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ आंदोलन का नेतृत्व किया था … आज, उनके दामाद अपनी सत्ता बचाए रखने के लिए कांग्रेस के सामने झुक गए हैं। मोदी ने तिरुपति, अनंतपुर, कडप्पा, कुरनूल और नरसरावपेट के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत करते हुए कहा।

प्रधानमंत्री ने नायडू पर अपना हमला जारी रखा और कहा कि किसी को भी प्रधानमंत्री बनने का सपना नहीं देखना चाहिए, यदि वह पहले मुख्यमंत्री के रूप में विफल रहा है। “तेलुगु लोगों का गौरव तभी बहाल हो सकता है, जब कोई दलित, आदिवासी और पिछड़े वर्ग के लिए बोलेगा।”

आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने के मुद्दे पर एनडीए से अलग हो जाने के बाद चन्द्रबाबू नायडू प्रधानमंत्री मोदी पर लगातार हमलावर रहे हैं। उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव में मोदी को दोबारा सत्ता में आने से रोकने के लिए विपक्षी दलों का गठबंधन बनाने की कोशिशों में जुटे हैं। पिछले दिनों टीडीपी द्वारा मोदी की आंध्र प्रदेश यात्रा का विरोध करने के बाद भाजपा को उनकी यात्रा रद्द करनी पड़ी थी।

About the author

आदर्श कुमार

आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!