Sun. Jul 21st, 2024
    पीएम नरेंद्र मोदी: चंद्रबाबू नायडू उचित तरीके से केंद्रीय निधियों का उपयोग करने में विफल रहे हैं

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने आंध्र प्रदेश दौरे के दौरान, वहां के सीएम और टीडीपी प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि उन्होंने केंद्रीय निधियों का ठीक से ना इस्तेमाल करते हुए, राज्य के विकास में बाधा डाली है और वादों को नहीं निभाया है।

    सार्वजनिक रैली को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा-“हमारी सरकार ने आंध्र प्रदेश को उससे कई ज्यादा दिया जितना विशेष दर्ज़े में उल्लेख भी नहीं हुआ था। सीएम ने पैकेज को स्वीकार किया मगर फिर उल्टा मुड़ गए क्योंकि वे ठीक तरीके से केंद्रीय निधियों का इस्तेमाल करने में विफल हो गए और राज्य का विकास नहीं कर पाए।”

    मोदी ने कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के लिए नायडू पर निशाना साधा, कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री एन टी रामाराव (एनटीआर) ने आंध्र प्रदेश को ‘कांग्रेस-मुक्त’ बनाने के लिए पार्टी शुरू की थी, क्योंकि वह इसके ‘अहंकार’ का शिकार थे।

    मोदी ने आगे कहा की नायडू उन्हें याद दिलाते रहते हैं की वे उनके सीनियर हैं और वे इसे स्वीकार करते हैं। मोदी ने कहा-“बाबु गारू पार्टी बदलने में, नए गठबंधन बनाने में, अपने खुद के ससुर की पीठ में छूरा घौपने में मुझसे सीनियर हैं। वे हर दूसरा चुनाव हारने में सीनियर हैं, जिसकी आलोचना करते हैं उन्ही की गोदी में बैठने के लिए सीनियर हैं, वे राज्य के लोगों के सपने मारने में सीनियर हैं। मैं निश्चित रूप से उस संबंध में सीनियर नहीं हूँ।”

    मोदी ने आरोप लगाया कि नायडू ने आंध्र प्रदेश के सूर्योदय का वादा किया था लेकिन वे अपने ही बेटे एन लोकेश के उदय के लिए तैयार रहे।

    उनके मुताबिक, “चंद्रबाबू नायडू ने सही कहा कि वह एक ‘धन निर्माता’ हैं और मोदी को धन सृजन के बारे में कोई जानकारी नहीं है। अमरावती से पोलावरम तक वे अपने लिए धन बनाने में व्यस्त हैं और इसलिए ‘चौकीदार’ से डरते हैं।”

    देश में स्वच्छ ईंधन उपलब्ध कराने पर, मोदी ने कहा कि 60 वर्षों में, केवल 12 करोड़ गैस कनेक्शन दिए गए थे, एनडीए सरकार ने केवल चार वर्षों में 13 करोड़ गैस कनेक्शन दिए हैं।

    इससे पहले, प्रधान मंत्री ने दो प्रमुख पेट्रोलियम और गैस परियोजनाओं को समर्पित किया – विशाखापत्तनम में एक रणनीतिक पेट्रोलियम आरक्षित सुविधा और रिमोट कंट्रोल सिस्टम के माध्यम से अमलापुरम में 6,825 करोड़ रुपये का गैस क्षेत्र।

    उन्होंने एसपीएस नेल्लोर जिले के कृष्णपट्टनम में भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के 2,280 करोड़ रुपये के तटीय टर्मिनल के निर्माण की आधारशिला भी रखी।

    रैली के दौरान, मोदी ने कहा-“हमारा उद्देश्य एक नया भारत बनाना है जो स्वच्छ और प्रदूषण मुक्त हो। इस तरह की परियोजनाएं राष्ट्र ऊर्जा सुरक्षा की कुंजी हैं।”

    विशाखापत्तनम में इंडियन स्ट्रेटेजिक पेट्रोलियम रिज़र्व लिमिटेड (ISPRL) की रणनीतिक पेट्रोलियम रिजर्व सुविधा और अमलापुरम में कृष्णा-गोदावरी बेसिन में ONGCs वशिष्ठ S1 गैस क्षेत्र का उल्लेख करते हुए, प्रधान मंत्री ने कहा कि वे न केवल नौकरी पैदा करने में मदद करेंगे बल्कि क्षेत्र में गैस आधारित उद्योगों का विकास करने में सहायता भी करेंगे।

    यहाँ पीएम मोदी के आगमन के एक दिन पहले गुंटूर में भारी विरोध देखा गया था। ‘मोदी वापस जाओ’ के नारे पूरे शहर में गूँज रहे थे और बड़े बड़े पोस्टर लग चुके थे। और इतना ही नहीं, राज्य से कोई भी मंत्री पीएम मोदी को हवाई अड्डे से लेने भी नहीं गया।

    भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया कि लोग बड़ी संख्या में कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने से “ठगे गए”, और कहा कि गुंटूर में मोदी की रैली के साथ नायडू के लिए उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी।

    टीडीपी कार्यकर्ताओं द्वारा उनके खिलाफ किए गए काले गुब्बारे के विरोध पर टिप्पणी करते हुए, मोदी ने चुटकी लेते हुए कहा कि बुरी नज़र को खत्म करने के लिए काले धब्बा लगाने की परंपरा को याद करते हुए उन्होंने इसका स्वागत किया।

    मोदी ने कहा-“पिछले साढ़े चार वर्षों में, आंध्र प्रदेश की मेरी बहनों और भाइयों के लिए न्याय सुनिश्चित करने के लिए जो भी करना था, हमने किया है। हम आंद्र प्रदेश और इसके महान लोगों के साथ खड़े हैं।”

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *