बुधवार, मार्च 25, 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एससीओ की बैठक के लिए हुए रवाना

Must Read

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए।...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) गुरूवार को बिश्केक (Bishkek) में आयोजित संघाई सहयोग संघठन के दो दिवसीय सम्मेलन में शरीक होने के लिए रवाना हो चुके हैं। बिश्केक में एससीओ की बैठक के इतर भारत रूस और चीन के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेगा।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किर्ग़िज़स्तान की राजधानी बिश्केक में कॉउन्सिल ऑफ़ हेड ऑफ़ स्टेट की बैठक में 13 से 14 जून तक शामिल होंगे। राजधानी में ही द्विपक्षीय बैठकों का आयोजन होगा। 14 जून को भारत मेज़बान देश किर्ग़िज़स्तान के साथ ही मुलाकात करेगा।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी इस सम्मेलन में शरीक होंगे। भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव शुरू होने के बाद पहली दफा दोनों नेता अंतरराष्ट्रीय मंच पर आमने सामने होंगे। 14 फरवरी को कश्मीर के पुलवामा में पाकिस्तानी समर्थित जैश ए मोहम्मद ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया था जिसमे 40 जवान शहीद हुए थे।

26 फरवरी को भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में चरमपंथियों के ठिकानों पर बमबारी की थी। इसके अगले दिन पाकिस्तानी वायुसेना ने जम्मू कश्मीर में भारतीय सेना के ठिकानों पर हमला किया था। दोनों देशों की वायुसेना के बीच काफी झड़प हुई और इसमें भारत के पायलट अभिनन्दन वर्तमान को पाकिस्तान ने हिरासत में ले लिया था।

इमरान खान और नरेंद्र मोदी के बीच इसके बाद कोई बातचीत नहीं हुई है। पाकिस्तानी समकक्षी ने भारतीय समकक्षी को पत्र लिखा था और कहा कि पाकिस्तान दोनों देशों के बीच सभी मुद्दों के समाधान के लिए बातचीत करना चाहता है। भारत ने हाल ही ऐलान किया कि प्रधानमंत्री मोदी किर्ग़िज़स्तान के लिए पाकिस्तानी वायुमार्ग का इस्तेमाल नहीं करेंगे। इसके बजाये वह ईरान और ओमान के लम्बे रास्ते से गुजरेंगे।

साल 2017 में भारत और पाकिस्तान एससीओ के पूर्ण सदस्य बन गए थे। इसकी स्थापना साल 2001 में हुई थी और इसके सदस्य देशों चीन, किर्ग़िज़स्तान, कज़ाकिस्तान, रूस, ताजीकिस्तान और उज़्बेकिस्तान ने इसकी स्थापना की थी।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

एक विलेन 2: दिशा पटानी के बाद, तारा सुतारिया फिल्म से जुड़ी, जॉन अब्राहम और आदित्य रॉय कपूर भी होंगे फिल्म का हिस्सा

यह पहले बताया गया था कि जॉन अब्राहम 2014 की फिल्म, एक विलेन की अगली कड़ी बनाने के लिए बातचीत कर रहे थे। जनवरी...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए। 2 दिन में 16.03 करोड़...

महाराष्ट्र सरकार को कोई खतरा नहीं – कांग्रेस

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बुधवार शाम को अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। राकांपा नेताओं ने कहा कि 26 मार्च को होने...

पीएम मोदी, राहुल गांधी ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके 78 वें जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा,...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -