Fri. Mar 1st, 2024
    नक्सल

    आज छत्तीसगढ़ में पहले चरण के 18 सीटों पर मतदान हो रहा है। ये 18 सीटें नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में है जहाँ सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किये हैं।

    सुरक्षित मतदान के लिए बीएसएफ, आईटीबीपी और सीआरपीएफ की 650 कंपनियों को चुनावी इलाकों में लगाया गया है इसके अलावा अन्य राज्यों की पुलिस के 65,000 जवान और छत्तीसगढ़ पुलिस की 200 कम्पनियाँ भी पूरी तरह से मुस्तैद हैं।

    दूरस्थ जनजातीय इलाकों और जंगलों में पोलिंग अफसरों को पहुंचाने के लिए वायुसेना औइर बीएसएफ के हेलीकॉप्टरों  जा रहा है।

    राज्य में 18 सीटों पर पहले चरण के मतदान में 31 लाख वोटर हिस्सा ले रहे जिनमे 16 लाख महिला वोटर हैं। नक्सल प्रभावित बस्तर और मुख्यमंत्री रमन सिंह के निर्वाचन क्षेत्र राजनंदगांव में भी आज ही मतदान है। 18 सीटों में से 12 सीटें एसटी आरक्षित सीटें हैं।

    10 विधानसभा सीटों दंतेवाड़ा, मोहला-मानपुर, अंतागढ़, भानुप्रतापपुर, कोंडागांव, नारायणपुर, बीजापुर, कोंटा, कांकेड़ और और केशकल में मतदान सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक चलेगा जबकि बाकी सीटों पर सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक वोट डाले जाएंगे।

    पिछले 10 दिनों में राजनंदगांव और बस्तर के क्षेत्रों में सुरक्षाबलों ने 300 आईईडी और अन्य विस्फोटक बरामद किया है। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में ड्रोन कैमरों से निगरानी की जा रही है। नक्सलियों ने राज्य में चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान किया है। पिछले हफ्ते नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर कई हमले किये थे।

    छत्तीसगढ़ में पिछले 15 सालों से रमन सिंह के नेतृत्व में भाजपा की सरकार है। इस बार कांग्रेस को अपने जीत की पूरी उम्मीद है जबकि बहुजन समाज पार्टी और अजीत जोगी की जनता कांग्रेस गठबंधन कर राज्य के चुनावों में उतरी है।

    राज्य में दुसरे चरण के लिए 20 नवम्बर को वोट डाले जाएंगे जबकि चुनाव परिणाम 11 दिसंबर को घोषित होगा।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *