Mon. May 27th, 2024
    एमएस धोनी

    स्टंप के पीछे से कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की विश्व स्तरीय स्पिन जोड़ी का मार्गदर्शन करने वाले महेंद्र सिंह धोनी अच्छी तरह से प्रलेखित हैं। और यह भी स्पष्ट है कि वह इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान चेन्नई सुपर किंग्स में अपने गेंदबाजों का मार्गदर्शन भी इसी प्रकार कर रहे है। लेकिन टीम की बैठकों और एक खेल से पहले की योजना बनाने वाले समय को धोनी कभी नही छोड़ते है।

    सुरेश रैना ने एक इंटरव्यू में कहा कि धोनी की सबसे बड़ी ताकत उनकी वर्तमान में बने रहने की क्षमता है और इस मौके को ताक पर रख कर यह देखना है कि टी -20 क्रिकेट जैसे तेज-तर्रार प्रारूप में भी यह कैसे खेल को पछाड़ रहे है।

    धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम का मुख्य हिस्सा रहने वाले सुरेश रैना से करीबी धोनी को कोई और नही जानता है। इसलिए उन्होने धोनी की तुलना विराट कोहली, रोहित शर्मा करने से मना किया है और उनका मानना है कि धोनी की रणनीतिक कौशलताएं उन्हे इन सभी खिलाड़ियो से एक कदम ऊपर रखती है।

    रैना ने कहा, ” हर कप्तान अलग होता है और वह अपनी कौशलताओ का हिस्सा गेम में दिखाता है। उन्होने कहा, धोनी अपनी प्रभावशाली खेल रणनीतियों के अनुरूप हैं और उन्होंने वर्षों में कई जीत हासिल की हैं।”

    रैना को आईपीएल में मिस्टर आईपीएल कहा जाता है। और यह उन्होने फिरोजशाह कोटला में कल रात दिखाया कि उन्हे इस नाम से क्यो पुकारा जाता है, जब उन्होने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ 16 गेंदो में 30 रन की पारी खेली थी औऱ दिल्ली को मैच से बाहर कर दिया था।

    आईपीएल में 5000 रन अपने नाम करने वाले रैना पहला बल्लेबाज है। और रैना ने अभी तक हर आईपीएल सीजन खेला है। लेकिन इस मिडल-ऑर्डर बल्लेबाज के पास इस बार भी जिम्मेदारी है कि वह अपनी टीम को चौथे खिताब की राह तक लेकर जाए।

    रैना ने कहा है कि चेन्नई की टीम के लिए एक सुनहरा सफर रहा है और जब हमने दो साल के प्रतिबंध के बाद पिछले संस्करण में खिताब पर दोबारा कब्जा किया था तो वह बहुत अच्छा पल था। चेन्नई की टीम आईपीएल के इतिहास में अकेले ऐसी टीम है जिसने लगातार दो साल 2010 और 2011 में खिताब पर कब्जा किया है।

    उन्होने कहा, ” हम अभी दृढ़ संकल्प पर उच्च हैं। हमारे कंधो पर इस समय एक बड़ी जिम्मेदारी है। मुझको टीम के साथ जुडे़ एक दशक से भी ज्यादा का समय हो गया है। मुझे जो टीम से सीखने को मिला है वह धैर्य और दबाव है जो की मुश्किल परिस्थितियों के दौरान इसे एक साथ रखने की क्षमता देता है।”

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *