धोनी की मजबूत फिटनेस का कारण है रामजी-ग्रेगोरी

एमएस धोनी

नई दिल्ली, 21 मई (आईएएनएस)| भारतीय क्रिकेट टीम बुधवार को जब विश्व कप के लिए रवाना होगी तो उस टीम में महेंद्र सिंह धोनी सबसे उम्रदराज खिलाड़ी होंगे, लेकिन साथ ही धोनी बिनी किसी संशय के टीम के सबसे फिट खिलाड़ी भी हैं। 2017 में धोनी ने हार्दिक पांड्या को 100 मीटर की रेस में हरा दिया था और इसका यूट्यूब वीडियो अभी भी काफी देखा जाता है।

धोनी 37 साल के हैं लेकिन पूरी तरह से फिट हैं।

विराट कोहली की कप्तानी वाली इस टीम ने फिटनेस पर काफी ध्यान दिया है। खुद कोहली भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी फिटनेस के लिए जाने जाते हैं। उनके अलावा बाकी के खिलाड़ियों ने भी फिटनेस को तरजीह दी है। यो-यो टेस्ट टीम में चयन का नया पैमाना बना है।

धोनी की फिटनेस के पीछे दो लोगों को अहम हाथ रहा है। इन दो लोगों में शामिल हैं भारत के पूर्व ट्रेनर रामजी श्रीनिवासन और ग्रेगोरी एलन किंग के नाम शामिल हैं।

इस संबंध से जुड़े एक सूत्र ने आईएएनएस से कहा कि धोनी स्वाभिक तौर पर फिटे हैं लेकिन वह जब फिटनेस चार्ट और वार्कराउट रुटीन की बात आती है तो वह इन दोनों से सलाह लेते हैं।

उन्होंने कहा, “धोनी स्वाभाविक तौर पर फिट हैं। जो ऊर्जा उन्होंने बीते वर्षो में दिखाई है और उनका जो फिटनेस स्तर रहा है वो भी तब जब भारतीय टीम के बाकी खिलाड़ी इस तरफ ज्यादा ध्यान नहीं देते थे, यह बताता है कि फिट रहने और पेशेवर खिलाड़ी की जरूरतों को लेकर उनका ज्ञान कितना है।”

उन्होंने कहा, “इससे अलावा, जब उन्हें किसी तरह के मार्गदर्शन की जरूरत पड़ती है तो वह रामजी और ग्रोगरी के पास जाते हैं और यह दोनों धोनी के लिए वो चार्ट बनाते हैं जो धोनी के लिए सर्वश्रेष्ठ होता है। वह चीजों को सरल रखना पसंद करते हैं। बाकी के भारतीय खिलाड़ियों की तरह वह क्लीन एंड जर्क, पावरलिफ्टिंग नहीं करते। वह मजबूत करने वाली एक्सरसाइज करते हैं और मुक्केबाजी स्कील्स भी करते हैं। वह आमतौर पर उस तरह का काम करते हैं जो उन्हें मैच में काम देगा।”

इस मामले में जब रामजी से बात करनी चाही तो उन्होंने कोई भी प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here