दा इंडियन वायर » मनोरंजन » धारा 370 और धारा 35 ए के रद्द होने के बाद, बॉलीवुड निर्माताओं में शीर्षक दर्ज कराने की लगी दौड़
मनोरंजन

धारा 370 और धारा 35 ए के रद्द होने के बाद, बॉलीवुड निर्माताओं में शीर्षक दर्ज कराने की लगी दौड़

धारा 370 और धारा 35 ए के रद्द होने के बाद, बॉलीवुड निर्माताओं में शीर्षक दर्ज कराने की लगी दौड़

ऐसा लगता है कि फिल्म निर्माता राष्ट्र के वर्तमान परिदृश्य के आधार पर अपनी अगली फिल्म के शीर्षक को दर्ज कराने के लिए लंबे समय तक इंतजार नहीं करना चाहते हैं। गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को घोषणा की कि सरकार धारा 370 और धारा 35 ए को रद्द करेगी, जो जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देता था।

वर्तमान परिदृश्य में, जम्मू और कश्मीर अब विधानसभा के साथ एक केंद्र शासित प्रदेश होगा, न कि एक राज्य, जबकि, लद्दाख को विधानसभा के बिना एक केंद्र शासित प्रदेश बनाया जाएगा।

लेकिन, ऐसा लगता है, फिल्म निर्माता इस पर फिल्म बनाने के लिए पहले से ही तैयार हैं। शीर्षकों का युद्ध शुरू हो गया है क्योंकि शीर्षक दर्ज कराने के लिए कई निर्माता जो फिल्म निकायों के चक्कर लगा रहे हैं। खबरों के अनुसार, लगभग 50 शीर्षक पंजीकृत किए गए हैं जिसमे ‘आर्टिकल 370’ और ‘आर्टिकल 35 ए’ पहली पसंद है। संघों को 25-30 आवेदन मिले हैं। कुछ शीर्षक ‘कश्मीर हमारा है’, ‘कश्मीर में तिरंगा’, ‘धारा 370’ और ‘धारा 35 ए’ हैं। यहां तक कि कुछ बड़े प्रोडक्शन हाउस भी लीग में प्रवेश कर रहे हैं। वे परियोजना पर शोध शुरू करने और रसद को समझने से पहले जल्द से जल्द अनुमति लेना चाहते हैं।

‘उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक’, ‘आर्टिकल 15’ जैसी अन्य फिल्मो से रुचि जगी है। वे बॉक्स ऑफिस पर सफल रहे। पुलवामा हमलों, उरी हमलों और नोटबंदी जैसे मामलो के बाद भी, कई लोग संबंधित संगठनों के पास शीर्षक दर्ज कराने के लिए पहुंचे थे।

 

 

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!