गुरूवार, नवम्बर 14, 2019

धन/पैसा पर निबंध

Must Read

उत्तर प्रदेश परिवहन बसों में अब कार्ड से मिलेगा टिकट

लखनऊ, 14 नवम्बर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की रोडवेज बसों में यात्रियों की सुविधा के लिए बहुत जल्द कैश के...

बिहार : पूर्व मुख्यमंत्री लालू के बेटे की कार ऑटो से टकराई

वाराणसी, 14 नवंबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में गुरुवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालूप्रसाद यादव के बेटे...

अमेठी के जिलाधिकारी प्रशांत शर्मा पर गिरी गाज

लखनऊ, 14 नवम्बर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के अमेठी में मृतक ईंट व्यवसायी के परिजनों से अभद्रता के मामले में...
विकास सिंह
विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

पैसा एक ऐसा साधन है जिसको प्रयोग करके हम सामान अथवा सुविधाएं खरीदते हैं। पैसे से हमारे जीवन की साधारण जरूरतों के साथ होई अनावश्यक जरूरतें भी पूरी होती है।

ज्यादा धन वाले व्यक्ति को अक्सर समाज में ज्यादा तवज्जो मिलती है। हालांकि पैसे से हम ख़ुशी और प्यार नहीं खरीद सकते हैं लेकिन ज़िन्दगी को खुशहाल रखने में पैसे की एक अहम् भूमिका होती है।

धन पर निबंध, Essay on Money in hindi (100 शब्द)

धना हमारे जीवन की सबसे मूलभूत ज़रुरत है जिससे हम अपनी दूसरी ज़रूरतों को पूरा कर सकते हैं। पैसे के बिना हम अपनी दैनिक और बुनियादी ज़रूरतों को पूरा नहीं कर सकते हैं। हांलकि हमारे जीवन में पैसा प्रेम और स्नेह की जगह नहीं ले सकता लेकिन प्रेम और स्नेह भी पैसे की जगह नहीं ले सकते हैं। पैसे से हम अपनी ज़िन्दगी को बेहतर रूप में बिता सकते हैं।

सामान्यतः हमें एक समृद्ध जीवन के लिए पैसे के साथ साथ अपने परिवार और स्नेह प्रेम की भी ज़रुरत होती है लेकिन अक्सर देखा जाता है की जब पैसे की कमी होती है तो ज़िन्दगी में अधिक तनाव होता है। हमें हमारे जीवन के बुनियादी काम जैसे खाना-पीना, घर, कपडे आदि सभी कामों को करने के लिए आज पैसे की ज़रुरत है। इसके साथ ही और कई ज़रूरतें होती हैं जहां हम पैसे का प्रयोग करके उन ज़रूरतों को पूरा कर सकते हैं और अपनी ज़िन्दगी को आसान बना सकते हैं।

धन पर निबंध, Essay on Money in hindi (150 शब्द)

money essay in hindi

पैसा या धन हमारे जीवन की एक ऐसी बुनियादी ज़रुरत है जोकि पूरी नहीं हो तो हम एक समृद्ध या संतुष्ट जीवन नहीं जी सकते हैं। हमारे जीवन में हमें एक सुई को खरीदने से लेकर घर को खरीदने तक में पैसा चाहिए होता है। हमारे जन्म से लेकर हमारी मृत्यु तक हमें हमारी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए पैसा प्रयोग करना होता है। प्राचीन समय में बार्टर तकनीक हुआ करती थी जिसके अंतर्गत हम एक सामान के बदले दूसरा सामान ले लिया करते थे लेकिन हाल ही में हमें कोई भी चीज़ खरीदने के लिए पैसे की ज़रुरत होती है।

दिन प्रतिदिन हमारी ज़िन्दगी में पैसे का महत्त्व बढ़ता जा रहा है। हमें वर्तमान में अच्छी और बेहतर चीज़ें खरीदने के लिए अधिक पैसे चाहिए और साथ ही महंगाई लगातार बढती जा रही है। वर्तमान में अधिकतर क्षेत्रों में पैसे की मांग बढ़ी है जिनमे उत्पाद, वित्त और सार्वजनिक वित्त आदि शामिल हैं। धन से ही हमारे देश में वेतन, महंगाई आदि का निर्णय हो पाटा है अतः हम कह सकते हैं की दूसरी बुनियादी ज़रूरतों की तरह धन भी मनुष्य की एक बुनियादी ज़रुरत है।

पैसा पर निबंध, Essay on Money in hindi (200 शब्द)

आज के ज़माने में जहां सभी लोग स्वार्थी हो गए हैं और ज्यादा से ज्यादा पैसा जुटाने में लगे हैं, ऐसे में किसी व्यक्ति के पास अधिक पैसा होना ज़रूरी है। यदि एक व्यक्ति के पास पैसा होता है तो वह अपनी दूसरी सभी बुनियादी ज़रूरतों को पूरा कर सकता है जोकि उसे जिंदा रखने में मदद करती हैं। पैसे से इंसान खाना खरीद सकता है, वह पहनने के लिए कपडे खरीद सकता है और रहने के लिए घर खरीद सकता है। हमारे समाज में जिस व्यक्ति के पास अधिक पैसा होता है उस व्यक्ति को दुसरे लोगों की तुलना में अधिक आदर और तवज्जो दी जाती है लेकिन एक गरीब व्यक्ति को इतना महत्वपूर्ण नहीं समझा जाता है।

पैसे से एक व्यक्ति की छवि को चार चाँद लग जाते हैं और उसे समाज में अधिक इज्जत मिलने लग जाती है। इस समाज में सभी लोग ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाकर अमर बन्ने की ख्वाहिश रखते हैं लकिन ऐसे सपने बहुत कम लोगों के साकार होते है और कुछ ही लोग बहुत अमीर बन पाते है।

अतः हमारे जीवन में पैसे का बहुत महत्त्व है और ज़िन्दगी के हर मोड़ पर हमें पैसे की ज़रुरत होती है। एक व्यक्ति पैसे से अपनी सभी आवश्यक ज़रूरतों और अनावश्यक ज़रूरतों को पूरा कर सकता है। हालांकि बहुत पैसा कमाने और अमीर बन्ने के लिए हमें बहुत म्हणत करनी पड़ती है और अपनी मानसिकता में बदलाव लाने होते है। ज्यादा पैसा होने से हम ज्यादा चीज़ें उपभोग कर पाते हैं और हमारी कोई भी ज़रुरत अधूरी नहीं रहती है।

पैसा पर निबंध, Essay on Money in hindi (250 शब्द)

money2

हमारे जीवन में धन बहुत महत्वपूर्ण होता है हालांकि इससे हम अपनी कुछ ज़रूरतें जैसे प्रेम। स्नेह आदि की ज़रूरतों को पूरा नहीं कर सकते हैं। पैसे से एक इंसान की केवल बाहरी ज़रूरतें पूरा हो सकती हैं लेकिन आंतरिक ज़रूरतें इससे पूरी नहीं होती हैं। इसी वजह से कहा जाता है की हम पैसे से ख़ुशी को नहीं खरीद सकते हैं।

लेकिन इसका यह मतलब नहीं है की पैसा ज़रूरी नहीं होता है। यह हमें जीवन भर अपनी ज़रूरतें पूरा करने की सुविधा देता है और हम पैसे से अपने बड़े-बड़े सपने भी पूरे कर सकते हैं। कुछ लोगों को महँगी चीज़ें रखने का शौक होता है जोकि केवल पैसा होने पर पूरा किया जा सकता है। हाल ही में हमारी बुनियादी ज़रुरत की चीज़ें भी इतनी महँगी हो गयी हैं की यदि हम पैसा न कमाएं तो इस दुनिया में हमारा जीना भी मुश्किल हो जाता है।

पैसे से हम दुनिया में कुछ भी खरीद सकते हैं और इसको देखते हुए हमें यह ध्यान में रखना चाहिए की हमें  पैसा बर्बाद नहीं करना चाहिए क्योंकि जिसे हम बर्बाद कर सकते हैं उससे किसी और व्यक्ति की ज़रूरतें पूरी की जा सकती हैं। इसके साथ ही हमें पैसे और प्यार-प्रेम की तुलना नहीं करनी चाहिए क्योंकि ये दोनों में आपस में कोई समानता नहीं है और हमें इन दोनों की अलग अलग जगह ज़रुरत होती है। एक समृद्ध जीवन जीने के लिए हमें इन दोनों चीज़ों की ज़रुरत होती है।

हम आम जीवन का उदाहरण लेते है। आज के प्रतिस्पर्धी जमाने में यदि हमें कीच बनना है तो हमें अच्छी शिक्षा चाहिए होगी और बेहतर शिक्षा के लिए हमें पैसे की ज़रुरत होती है। इसके बाद हमें हमारे परिवार को भी पोषित करने के लिए पर्याप्त पैसे की ज़रुरत होगी। अतः ज़िन्दगी में धन का महत्व बहुत है।

धन पर निबंध, Essay on Money in hindi (300 शब्द)

हमें एक संतुष्ट और समृद्ध जीवन जीने के लिए धन की बहुत ज़रुरत होती है। यह हमें हमारे जीवन की सभी ज़रूरतें पूरा करने के लायक बनाता है। यदि एक व्यक्ति के पास पैसा होता है तो वह अपनी दूसरी सभी बुनियादी ज़रूरतों को पूरा कर सकता है जोकि उसे जिंदा रखने में मदद करती हैं। पैसे से इंसान खाना खरीद सकता है, वह पहनने के लिए कपडे खरीद सकता है और रहने के लिए घर खरीद सकता है। हमारे समाज में जिस व्यक्ति के पास अधिक पैसा होता है उस व्यक्ति को दुसरे लोगों की तुलना में अधिक आदर और तवज्जो दी जाती है लेकिन एक गरीब व्यक्ति को इतना महत्वपूर्ण नहीं समझा जाता है।

दिन प्रतिदिन हमारी ज़िन्दगी में पैसे का महत्त्व बढ़ता जा रहा है। हमें वर्तमान में अच्छी और बेहतर चीज़ें खरीदने के लिए अधिक पैसे चाहिए और साथ ही महंगाई लगातार बढती जा रही है। वर्तमान में अधिकतर क्षेत्रों में पैसे की मांग बढ़ी है जिनमे उत्पाद, वित्त और सार्वजनिक वित्त आदि शामिल हैं। धन से ही हमारे देश में वेतन, महंगाई आदि का निर्णय हो पाटा है अतः हम कह सकते हैं की दूसरी बुनियादी ज़रूरतों की तरह धन भी मनुष्य की एक बुनियादी ज़रुरत है।

कुछें भारत में बहुत ज्यादा गरीबी थी लकिन हाल ही में गरीबी दूर करने के लिए सरकार ने विभिन्न योजनाएं शुरू की है ताकि गरीब लोगों के पास भी अपना पेट भरने के लिए पैसा हो और उनके जीने का स्तर सुधर सके और उनका भी खुशहाल जीवन हो सके। अब हमारे देश में अमीर और गरीब लोगों को कई क्षेत्रों में समानता मिल रही है जिससे हमारे देश की प्रगति में बढ़ोतरी देखी जा रही है। इस दुनिया में कई लोग मानते हैं की ज्यादा पैसा शैतान की उत्पत्ति करता है लेकिन ऐसा नहीं है यदि हमें पैसा का सदुपयोग करना आता है तो आप इससे नई ऊचाइयों तक पहुँच सकते हैं।

यह माना जाता है की पैसे से हमारी सभी ज़रूरतें पूरी नहीं हो सकती हैं जैसे पैसे से हम ख़ुशी नहीं खरीद सकते हैं लेकिन कुछ परिस्थितियों में यह हमें ख़ुशी देने में सक्षम होता है। जैसे इस समाज में अधिक पैसे वाले व्यक्ति को अधिक तवज्जो और आदर दिया जाता है। अतः आज के ज़माने में पैसे का बहुत महत्व है बशर्ते आपको सदुपयोग आना चाहिए और आप अत्यधिक सफल हो सकते है।

पैसा पर निबंध, Essay on Money in hindi (400 शब्द)

अक्सर कहा जाता है की पैसे से हम अपनी ज़िन्दगी में ख़ुशी, स्वास्थ नहीं खरीद सकते हैं लेकिन यह भी गलत नहीं है की पैसे से हम दवाइयां या हमें ख़ुशी देने वाली और संतुष्ट करने वाली चीज़ें खरीद सकते हैं जिससे हम अवश्य स्वस्थ और संतुष्ट हो सकते हैं। अतः पैसा हमें एक बेहतर जीवन देने और हमारे समाज में एक ऊंचा ओहदा दिलाने में मदद करता है और ये चीज़ें हमारे जीवन में महत्वपूर्ण होती हैं।

धन हमारे जीवन की सबसे मूलभूत ज़रुरत है जिससे हम अपनी दूसरी ज़रूरतों को पूरा कर सकते हैं। पैसे के बिना हम अपनी दैनिक और बुनियादी ज़रूरतों को पूरा नहीं कर सकते हैं। हांलकि हमारे जीवन में पैसा प्रेम और स्नेह की जगह नहीं ले सकता लेकिन प्रेम और स्नेह भी पैसे की जगह नहीं ले सकते हैं। पैसे से हम अपनी ज़िन्दगी को बेहतर रूप में बिता सकते हैं।  हमें हमारे जीवन के बुनियादी काम जैसे खाना-पीना, घर, कपडे आदि सभी कामों को करने के लिए आज पैसे की ज़रुरत है। इसके साथ ही और कई ज़रूरतें होती हैं जहां हम पैसे का प्रयोग करके उन ज़रूरतों को पूरा कर सकते हैं और अपनी ज़िन्दगी को आसान बना सकते हैं।

यदि किसी व्यक्ति के पास पैसा है तो वह कुछ भी खरीद सकता है जिसे गरीब व्यक्ति केवल सपनों में देखता है। बिना पैसे के हमारा जीवन अधूरा अधूरा लगता है और हमारी अधिकतर ज़रूरतें अधूरी रहती हैं। आज के स्वार्थी ज़माने में हमें दुसरे से बेहतर होने के लिए ज्यादा पैसा रखना ज़रूरी है अन्यथा हम इस दुनिया में पिछड़ा महसूस करेंगे। सामान्यतः हमें एक समृद्ध जीवन के लिए पैसे के साथ साथ अपने परिवार और स्नेह प्रेम की भी ज़रुरत होती है लेकिन अक्सर देखा जाता है की जब पैसे की कमी होती है तो ज़िन्दगी में अधिक तनाव होता है।

आज समाज में लोग अधिक से अधिक पैसा कमाने में लगे हैं और अधिक पैसे के लिए वे कुछ अनैतिक कार्य भी करने लगे हैं जैसे रिश्वत लेना, चोरी डकैती, मारना आदि जोकि अनैतिक कार्य होते हैं और मनुष्यता के खिलाफ होते हैं। जो लोग आलसी होते हैं वे मेहनत नहीं करना चाहते और पैसा करने के लिए ऐसे अनैतिक कार्य करने में पड़ जाते हैं और इन्हें सही समझते हैं लेकिन ऐसा करना बिलकुल सही नहीं है और हमें ऐसे कार्य करने से बचना चाहिए।

कुछ अनैतिक लोग काले धन के रूप में पैसे कमाते हैं और दुसरे देशों के बैंक खातों में रखते हैं जोकि गैर कानूनी होता है और सरकार ने अब इस पर ठोस क़ानून बना दिए हैं और कुछ लोग पकडे भी जा रहे हैं। इसी समस्या से निजात पाने के लिए सरकार ने कुछ समय पहले विमुद्रीकरण किया था। इसके विषम हम देखें की जो व्यक्ति अच्छे काम और मेहनत करके पैसे जमाता है उसे समाज मैं दुसरे व्यक्ति से ज्यादा आदर मिलता है और वह इसका हक़दार भी होता है।

यह लेख आपको कैसा लगा?

नीचे रेटिंग देकर हमें बताइये, ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके

औसत रेटिंग / 5. कुल रेटिंग :

यदि यह लेख आपको पसंद आया,

सोशल मीडिया पर हमारे साथ जुड़ें

हमें खेद है की यह लेख आपको पसंद नहीं आया,

हमें इसे और बेहतर बनाने के लिए आपके सुझाव चाहिए

इस लेख से सम्बंधित यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

उत्तर प्रदेश परिवहन बसों में अब कार्ड से मिलेगा टिकट

लखनऊ, 14 नवम्बर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की रोडवेज बसों में यात्रियों की सुविधा के लिए बहुत जल्द कैश के...

बिहार : पूर्व मुख्यमंत्री लालू के बेटे की कार ऑटो से टकराई

वाराणसी, 14 नवंबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में गुरुवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालूप्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप की कार ऑटो...

अमेठी के जिलाधिकारी प्रशांत शर्मा पर गिरी गाज

लखनऊ, 14 नवम्बर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के अमेठी में मृतक ईंट व्यवसायी के परिजनों से अभद्रता के मामले में यहां के जिलाधिकारी प्रशांत शर्मा...

बिहार : गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का पटना में निधन, नीतीश ने जताया शोक (लीड-1)

पटना, 14 नवंबर (आईएएनएस)। महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का गुरुवार को बिहार की राजधानी पटना में निधन हो गया। वह 77 साल के...

गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का पटना में निधन

पटना, 14 नवंबर (आईएएनएस)। महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का गुरुवार को बिहार की राजधानी पटना में निधन हो गया है। वे 77 साल...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -