दा इंडियन वायर » समाचार » देश में चीनी की घरेलू उपलब्धता और कीमत में स्थिरता बनाये रखने के लिए, केंद्र सरकार का चीनी निर्यात पर regulation
समाचार

देश में चीनी की घरेलू उपलब्धता और कीमत में स्थिरता बनाये रखने के लिए, केंद्र सरकार का चीनी निर्यात पर regulation

देश में चीनी की घरेलू उपलब्धता और कीमत में स्थिरता बनाये रखने के लिए, केंद्र सरकार का चीनी निर्यात पर regulation

केंद्र सरकार ने 1 जून 2022 से प्रभावी चीनी निर्यात पर regulation का फैसला किया है। Sugar Season, 2021-22 (अक्टूबर-सितंबर) के दौरान देश में चीनी की घरेलू उपलब्धता और कीमत में स्थिरता बनाये रखने के लिए यह कदम उठाया गया है। 

1 जून 2022 से 31 अक्टूबर 2022 से प्रभावी या अन्य आदेश के आने तक दोनों में से जो भी पहले हो उसके आधार पर Directorate General of Foreign Trade (DGFT) द्वारा जारी उक्त आदेश प्रभावी रहेगा। इस दौरान चीनी के निर्यात के लिए Department of Food & Public Distribution की विशेष अनुमति लेनी होगी। 

यह फैसला चीनी के रिकॉर्ड निर्यात को देखते हुए किया गया है। Sugar Season 2017-18 में लगभग 6.2 मीट्रिक टन, 2018-19 में 38 मीट्रिक टन और 2019-20 में 59.60 मीट्रिक टन चीनी का निर्यात हुआ था। Sugar Season 2021-22 में 90 मीट्रिक टन चीनी के निर्यात contracts पर हस्ताक्षर किये गए थे जिसमें चीनी मिलों से लगभग 82 मीट्रिक टन चीनी निर्यात की गई और लगभग 78 मीट्रिक टन चीनी निर्यात की गई।

इस फैसले से यह सुनिश्चित हो जायेगा कि चीनी सीजन के अंत (30 सितंबर 2022) में चीनी का क्लोजिंग स्टॉक 60-65 मीट्रिक टन पर बना रहे ताकि घरेलू इस्तेमाल के लिये यह स्टॉक दो-तीन महीने चल जाए। उन महीनों में चीनी की स्वदेशी मांग लगभग 24 मीट्रिक टन रहती है। 

गन्ने की पेराई कर्नाटक में अक्टूबर के अंतिम सप्ताह, महाराष्ट्र में अक्टूबर से नवंबर के अंतिम सप्ताह और उत्तरप्रदेश में नवंबर में शुरू हो जाती है। आमतौर पर नवंबर माह तक चीनी की आपूर्ति पिछले वर्ष के स्टॉक से की जाती है।

सरकार चीनी उत्पादन, खपत, निर्यात तथा पूरे देश के थोक और खुदरा बाजार में चीनी की कीमतों के रुझान सहित चीनी सेक्टर के हालात पर कड़ी नजर रख रही है। मौजूदा वर्ष में दुनिया में भारत चीनी का सबसे बड़ा उत्पादक और दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक देश है। 

चीनी के रिकॉर्ड उत्पादन के बावजूद पिछले Sugar Season 2020-21 के लिए 99.5 प्रतिशत गन्ने का सरकार ने बकाया चुका दिया गया है। इसके अलावा मौजूदा Sugar Season 2021-22 में लगभग 85 प्रतिशत गन्ने का सरकार ने बकाया किसानों को जारी कर दिया गया है।

भारत में चीनी की थोक कीमत 3150 रुपये से 3500 रुपये प्रति कुंतल पर कायम है। इसी तरह देश के विभिन्न भागों में चीनी की खुदरा कीमत भी 36 रुपये से 44 रुपये प्रति किलो के बीच बनी हुई है।

About the author

Shashi Kumar

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]