रविवार, दिसम्बर 8, 2019

देबिना बनर्जी: भारतीयों में अपनी चीज़ो को नीचे दिखाने और विदेशी कंटेंट सराहने की आदत है

Must Read

अमेरिकी राजनयिकों पर चीन ने उठाया जवाबी कदम

अमेरिका द्वारा चीनी राजनयिकों पर लगाए गए प्रतिबंध के मद्देनजर चीन ने जवाबी कदम उठाते हुए अमेरिकी राजनयिकों पर...

जीएसटी परामर्श दिवस पर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने सुझाव मांगे

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के लिए रिटर्न फाइलिंग प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए...

हॉकी : भारतीय महिला जूनियर टीम ने न्यूजीलैंड को 4-1 से हराया

भारतीय महिला जूनियर हॉकी टीम ने यहां जारी तीन देशों के हॉकी टूर्नामेंट में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते...
साक्षी बंसल
पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

‘विष’ अभिनेत्री देबिना बनर्जी ने सुर्खियां बटोरी जब वह सोशल मीडिया पर अपने बिकिनी अवतार में नज़र आई। वह काफी समय बाद एक खलनायिका की भूमिका से छोटे परदे पर लौटी हैं। पिंकविला से बातचीत में, देबिना ने एक खलनायिका की भूमिका निभाने, सुपरनैचुरल शो को आलोचना मिलने समेत कई मुद्दों पर बात की।

टीवी पर कई अभिनेत्रियां खलनायिका की भूमिका नहीं निभाती हैं। आपको इसे करने के लिए क्या प्रोत्साहित किया?

debina bonerjee

मुझे लगता है कि अभिनेता की केवल एक छवि होनी चाहिए, वो है एक अच्छा अभिनेता होने की। अगर कल कोई मुझे कास्ट करता है, तो यह मेरे अभिनय के लिए है। मेरे पास सिर्फ अच्छा दिखने की तुलना में बहुत अधिक गुंजाइश है। फिल्मों में, नायक और खलनायक के बीच सीमांकन नहीं होता है, लेकिन एक बार सीमांकन हुआ था। इन दिनों, हर किरदार ग्रे है और मानवीय भावनाओं को दर्शाता है। यहां तक कि विलन के पास भी ऐसे व्यवहार करने के अपने स्वयं के कारण हैं। यदि आप केवल समझ जाए तो मुझे लगता है कि ओटीटी प्लेटफार्मों और टीवी के बीच का अंतर मिट जाएगा। टीवी में, लोग केवल बहू का किरदार निभाना चाहते हैं, केवल अगर हर कोई सभी पात्रों को स्वीकार कर सकता है, चाहे वह सफेद, ग्रे या काला हो; उस तरह की मानसिकता के साथ, मैंने इस किरदार को चुना है और मैं इसका आनंद ले रही हूँ।

आज टेलीविज़न सुपरनैचुरल शो से ग्रस्त है। क्या आपको लगता है कि एक माध्यम के रूप में टीवी और इसपर काम करने वाले लोगो को बदलने की आवश्यकता है?
debina
मुझे लगता है कि जरुरत है, बल्कि ऐसा हुआ है। क्योंकि अगर नहीं, तो यह गायब हो जाएगा। एक माध्यम के रूप में टेलीविजन [परिवर्तन] नहीं कर सकता है, यह केवल उन लोगों के साथ बदलेगा जो इस पर काम कर रहे हैं। भारत अब डिजिटल हो रहा है, लेकिन टेलीविजन एक प्रमुख हिस्सा बना हुआ है। इसलिए, जो दर्शक ओटीटी प्लेटफॉर्म के संपर्क में नहीं हैं, वे मनोरंजन के लिए टीवी की ओर रुख करते हैं। कभी-कभी, लोग कहते हैं कि यह प्रतिगामी है, यह मूर्ख है, लेकिन मुझे लगता है कि प्रत्येक शो का अपना दायरा होता है क्योंकि एक बच्चे के रूप में मैं परिकथाएं सुनती थी और इसके अलावा सिंड्रेला और स्लीपिंग ब्यूटी जो भारतीय परिकथाएं नहीं हैं; हमारी कथाएँ नागिनों और विषकन्याओं के बारे में रही हैं। तो, उन्हें क्यों नहीं लाये? हम इसे छोड़ नहीं सकते। यहां के लोगों में हर उस चीज को छोड़ने की मानसिकता है जो भारतीय है। क्यों उसे मौका नहीं दे?
टीवी लम्बे समय से प्रतिगामी रहा है और अब काफी समय से, हमने देखा है कि कैसे बहुत सारे सुपरनैचुरल ड्रामा को ट्रोल किया जाता है। आपकी इसपर क्या राय है?
deb
मुझे लगता है कि भारतीयों में अपनी चीजों को नीचा दिखाने की प्रवृत्ति है। वे कभी अपनी इकाई का भी सम्मान नहीं करते हैं। केवल जब अमर्त्य सेन जाकर नोबेल पुरस्कार पाते हैं, तो हम कहते हैं कि वह एक भारतीय हैं। योग की बात करें तो, जब अमेरिकी योग के बारे में बात कर रहे हैं, तो हम इसे बहुत बड़ी चीज मानते हैं। मुझे लगता है कि हमें दूसरों की तुलना में अपने परीकथाओं पर अधिक विश्वास रखने की आवश्यकता है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

अमेरिकी राजनयिकों पर चीन ने उठाया जवाबी कदम

अमेरिका द्वारा चीनी राजनयिकों पर लगाए गए प्रतिबंध के मद्देनजर चीन ने जवाबी कदम उठाते हुए अमेरिकी राजनयिकों पर...

जीएसटी परामर्श दिवस पर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने सुझाव मांगे

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के लिए रिटर्न फाइलिंग प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए सुझाव आमंत्रित किए हैं। केंद्र...

हॉकी : भारतीय महिला जूनियर टीम ने न्यूजीलैंड को 4-1 से हराया

भारतीय महिला जूनियर हॉकी टीम ने यहां जारी तीन देशों के हॉकी टूर्नामेंट में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए शनिवार को न्यूजीलैंड को...

दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए इंग्लैंड की टेस्ट टीम में लौटे जेम्स एंडरसन और मार्क वुड

इसी महीने होने वाले दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए जेम्स एंडरसन इंग्लैंड की टेस्ट टीम में वापसी हुई है। एंडरसन एशेज सीरीज के पहले...

मायावती ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलकर महिला सुरक्षा पर कड़े कदम उठाने की अपील

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद उत्तर प्रदेश के विपक्षी दलों ने सड़क पर उतर कर सरकार के खिलाफ मोर्चेबंदी की। सपा, कांग्रेस...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -